Thu. Jul 25th, 2024
    गृह मंत्रालय ने आलोक वर्मा को एक दिन के लिए काम में शामिल होने के लिए कहा

    दो हफ्ते पहले, अपदस्थ सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा ने कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग को खुद को सेवानिवृत मानने के लिए कहा था और अब निदेशक के रूप में सेवानिवृत्ति की तारीख से एक दिन पहले, गृह मंत्रालय चाहता है कि उन्हें नए कार्यालय में शामिल किया जाए।

    बुधवार को वर्मा को भेजे गए पत्र में, एमएचए ने कहा-“आपको तुरंत महानिदेशक, अग्निशमन सेवा, नागरिक सुरक्षा और होमगार्ड के पद से जुड़ने के लिए निर्देशित किया जाता है।”

    गृह मंत्रालय ने वर्मा के उस अनुरोध का जवाब दिया है जिसमे उन्होंने 11 जनवरी से खुद को सेवानिवृत मानने के लिए कहा था जब उच्च-शक्ति चयन समिति ने उन्हें सीबीआई पद से 10 जनवरी को हटा दिया था।

    चूँकि वे सरकारी सेवा से 31 जुलाई 2017 को ही सेवानिवृत उम्र पर पहुँच गए थे और महानिदेशक, अग्निशमन सेवा, नागरिक सुरक्षा और होमगार्ड के पद के लिए सेवानिवृत की उम्र पार कर ली थी, इसलिए वे उस दिन से सेवानिवृत होना चाहते थे जिस दिन से उन्हें सीबीआई से हटाया गया था।

    उन्होंने कहा-“मैं सरकार की सीबीआई निदेशक के तौर पर सेवा केवल 31 जनवरी, 2019 तक ही कर रहा था क्योंकि वे एक निश्चित कार्यकाल भूमिका है।”

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *