दा इंडियन वायर » मनोरंजन » ‘गुड न्यूज़’ और ‘तख़्त’ पर करीना कपूर खान: विचार यही है कि दर्शको का मनोरंजन करते रहो मगर ज्यादा कंटेंट आधारित फिल्मों के साथ
मनोरंजन

‘गुड न्यूज़’ और ‘तख़्त’ पर करीना कपूर खान: विचार यही है कि दर्शको का मनोरंजन करते रहो मगर ज्यादा कंटेंट आधारित फिल्मों के साथ

करीना कपूर खान जो लैकमे फैशन वीक में शोस्टॉपर बनी थी उनका मानना है कि उनसे ज्यादा बड़ी फैशन आइकॉन उनकी बहन-करिश्मा कपूर हैं। उन्होंने आगे कहा कि उन्हें ड्रेस-अप होना अच्छा नहीं लगता।

अपनी डेब्यू फिल्म ‘रिफ्यूजी’ में हलके मेकअप में दिखने से करण जौहर की ‘कभी ख़ुशी कभी गम’ में सुपर स्टाइलिश पू के किरदार में दिखने तक, उन्होंने साबित किया कि जहाँ अलग अलग लुक में दिखने की बारी आती है तो वे निडर रही हैं। उनके मुताबिक, “निर्भीकता सफल होने का हिस्सा है। दरअसल, मैं शुरूआती चरण में ही अलग अलग तरह की चीज़ें करने की कोशिश कर रही थी। यहाँ तक कि मैंने ये कहूँगी कि मैं 19 की उम्र में ही काफी एक्सपेरिमेंटल थी।”

“रिफ्यूजी एक एक्सपेरिमेंटल लांच था। वे कोई ग्लैमरस लड़की का किरदार नहीं था। मगर फिर, मैं यही कहूँगी कि अगर कोई डर या एक्सपेरिमेंट नहीं होता तो कोई मजा भी नहीं होता। एक निडर अभिनेत्री होना अच्छा है मगर थोड़ा डर होना भी जरूरी है ताकी तुम्हारा प्रदर्शन स्तर हमेशा ऊँचा रहे।”

पुनर्खोज एक ऐसी चीज़ है जो करीना के लिए बहुत मायने रखती है। उन्होंने कहा-“अगर में एक व्यक्ति के रूप में पुनर्निवेश नहीं कर सकती तो मैं एक बेहतर अभिनेत्री नहीं बन सकती। मुझे लगता है कि अगर मैं इंडस्ट्री में इतने दशको तक और अभी भी हूँ तो इसका कारण है पुनर्खोज। उन्होंने मुझे और मेरे विचार को दस साल पहले के मुकाबले काफी बेहतर बनाया है। इसमें कभी कभी ज्यादा काम ना करना, घूमने जाना, बॉलीवुड से थोड़ा अलग रहना शामिल है।”

अभिनेत्री जिन्होंने बीते साल ‘वीरे दी वेडिंग’ जैसी फिल्म करके बॉलीवुड में एक नए विषय की पहल की थी, वे खुश हैं कि विषय और स्क्रिप्ट में नयापन लाया जा रहा है।

उनके मुताबिक, “वीरे दी वेडिंग एक खुलासा था। हमने हमेशा पुरुषो की दोस्ती पर बात की है मगर हमने कभी नहीं देखा कि महिला बंधन कैसा होता है। तो मुझे लगता है कि इस फिल्म ने कंटेंट के माध्यम से इसे आगे बढ़ाया है।”

फिर आगे उन्होंने अपनी आगामी फिल्म ‘गुड न्यूज़’ की बात की जो सरोगेसी के आधार पर बन रही है। उन्होंने कहा-“ये एक ऐसा विषय है जो ज्यादा लोग नहीं छुएंगे मगर ज़ाहिर है, ये कमर्शियल स्पेस में है। ये बहुत ज्यादा मजाकिया है। मगर हमें वो गतिकी दिमाग में रखना होगा। विचार यही है कि दर्शको का मनोरंजन करते रहो मगर ज्यादा कंटेंट आधारित फिल्मों के साथ।”

इसके बाद वे करण जौहर की पीरियड-ड्रामा फिल्म ‘तख़्त‘ में भी दिखाई देंगी। फिल्म पर उन्होंने कहा-“पूरा माहौल और स्थापना काफी अलग होगी। इसके अलावा, मैंने काफी सालों से करण के साथ काम नहीं किया है। वे एक निर्देशक के रूप में और ताकतवर हो गए हैं और आज मैं भी बिलकुल अलग अभिनेत्री हूँ। तो ये काफी दिलचस्प होगा।”

About the author

साक्षी बंसल

पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!