सातवाँ वेतन आयोग: आखिर क्यों मिलेगी केंद्र सरकार के कर्मचारियों को वेतन में वृद्धि?

सातवा वेतन आयोग वेतन वृद्धि

उड़ती उड़ती खबरें ये आ रहीं हैं कि 7वे वेतन आयोग को लेकर कोई खुश खबरी आ सकती है। ऐसा मुमकिन हो सकता है कि केंद्र सरकार के कर्मचारियों का वेतन बढ़ा दिया जाये। आखिर ऐसा क्यों मुमकिन है आइये देखते हैं –

सकारात्मक सन्देश

पिछले महीने विदेशी निवेश में बहुत उभार आया है जो कि एक शुभ सन्देश है। इस शुभ सन्देश के चलते सरकार की जेबें बहुत जल्द भर सकती हैं।

कुछ समय से आयत, निर्यात से ज्यादा हो रहा था जिसके परिणाम स्वरुप विदेशी निवेश में बहुत कमी आ रही थी। मगर इसमें वृद्धि होने के कारण अब केंद्र सरकारी कर्मचारियों के वेतन में भी वृद्धि हो सकती है।

रुपये और क्रूड

सरकार रुपये की ताकत बढ़ने को लेकर बहुत सकारात्मक है जो आगे सरकार को काफी कामों में मदद करेगा। आयात को बढ़ाने के चक्कर में सरकार रूपये की कीमत डॉलर के मुकाबले बढ़ा दी थी जिससे रूपया कमज़ोर हो गया था मगर अब विदेशी निवेश आने के बाद उन्हें यकीन है कि रुपये की ताकत बढ़ जाएगी।

दुसरी और क्रूड आयल का रेट भी गिर गया है जिसकी वजह से सरकार की बहुत बचत होगी। सरकार इन पैसो को बाकि जगह खर्च कर सकती है और हो सकता है इन पैसो का खर्च कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने में हो जाये।

वित्त्य परिस्थितिया

देश की वित्य परिस्थिति फ़िलहाल सही रास्ते पे है। पहले इसमें उतर चढ़ाव के कारन, वेतन वृद्धि का मुद्दा थम गया था मगर अब ऊपर दिए इन कारणों को देखकर लग रहा है कि बदलाव हो सकता है।

नया फिटमेंट फैक्टर

7वे वेतन आयोग ने कहा है है कि, 2.57 टाइम्स के फिटमेंट फैक्टर के साथ वेतन वृद्धि 18,000 रुपए हो सकती है। जबकि कर्मचारियों ने 3.68 टाइम्स के फिटमेंट फैक्टर के साथ 26,000 की मांग की है। जबकि उन्हें 2.85 टाइम्स फिटमेंट फैक्टर मिलने की ही उम्मीद है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here