Sat. Dec 10th, 2022
    कंगना रनौत ने साधा आलिया भट्ट और आमिर खान पर निशाना, कहा: ये लोग इतने तुच्छ कैसे बन जाते हैं?

    कंगना रनौत ने कई बार कहा है कि अक्सर बॉलीवुड स्टार्स उन्हें पीठ दिखा देते हैं और खुल कर उनका समर्थन नहीं करते। बॉलीवुड की क्वीन ने हाल ही में दिए इंटरव्यू में बताया कि कई बॉलीवुड स्टार्स बेशर्मो की तरह उन्हें कॉल कर उनकी फिल्मों का प्रचार करने के लिए कहते हैं मगर कभी उनके एहसान की भरपाई नहीं करते।

    एक एंटरटेनमेंट पोर्टल को दिए इंटरव्यू में, कंगना ने बताया कि बॉलीवुड अक्सर उन्हें नज़रंदाज़ कर देता है, खासकर उनकी फिल्मों के रिलीज़ पर।

    उनके मुताबिक, “2014 (क्वीन) में, मुझे नहीं लगता सारी वाहवाही मेरे लिए थी, वो फैंटम के लिए थी जो उभर रहा था और वे विकास और अनुराग कश्यप के लोगों के लिए स्क्रीनिंग पर स्क्रीनिंग रख रहा था। मुझे पूरी तरह से नज़रंदाज़ किया गया था। ‘तनु वेड्स मनु’ के बाद भी, मैंने कई सारे ट्रायल्स किये, मगर वे सब आते ही नहीं थे। मगर जब बात उनकी आती है, तो वे बेशर्मों की तरह मुझे कॉल करते हैं, मैं तो कभी कभी शूट कैंसिल करके भी चली जाती थी। मगर अब मैंने छोड़ दिया है क्योंकि ये सब बहुत ज्यादा हो रहा है।”

    कंगना ने आगे आलिया भट्ट को भी घेरते हुआ कहा कि ‘राजी’ के वक़्त, आलिया ने उन्हें फिल्म का ट्रेलर भेजा था मगर कंगना के फिल्म रिलीज़ के वक़्त वे गायब थी।

    उन्होंने कहा-“ये लड़कियाँ मुझे ट्रेलर भेजती हैं जैसे आलिया ने मुझे ‘राज़ी’ का ट्रेलर भेज कर कहा था कि कृपया इसे देख लेना। मेरे लिए, वे करण जौहर या आलिया भट्ट की फिल्म नहीं थी, मेरे लिए वे सहमत खान की फिल्म थी जिन्होंने देश के लिए अपना सब कुछ दे दिया। ये लोग इतने तुच्छ कैसे बन जाते हैं? ये एक अजीब प्रकार का रैकेट है। मुझे नहीं पता उन्हें किससे खतरा है।”

    उन्होंने आगे आमिर खान पर भी कटाक्ष करते हुए कहा कि उन्होंने अम्बानी के घर जाकर ‘दंगल’ और ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ की स्क्रीनिंग देखी थी मगर उनके फिल्म ट्रायल के लिए कोई नहीं आया।

    उनके मुताबिक, “जब आमिर ने मुझे ‘दंगल’ और ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ के लिए बुलाया था, मैं सीधा अम्बानी के घर गयी थी। दंगल मेरे लिए महिला सशक्तिकरण की फिल्म थी। मगर उनके पास मेरे किसी भी फिल्म ट्रायल के लिए वक़्त नहीं है। मेरी दो-तीन फिल्में आ रही हैं, मगर मैं उन लोगों से मेरी फिल्मों के बारे में लिखने की कोई उम्मीद नहीं करती हूँ।”

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *