एयरटेल के बुरे दिन जारी, सितंबर माह में एयरटेल ने खोये 23 लाख ग्राहक

भारती एयरटेल
एयरटेल

जियो के साथ देश के टेलीकॉम क्षेत्र में कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना कर रही एयरटेल के लिए दिन बिलकुल भी अच्छे नहीं चल रहे हैं। व्यापार में हो रहे घाटे के साथ ही अब एयरटेल से उसके ग्राहकों ने भी दूसरी बना शुरू कर दिया है।

सेल्यूलर ऑपरेटर असोशिएशन ऑफ इंडिया (COAI) ने अपनी रिपोर्ट में आँकड़े जारी करते हुए बताया है कि एयरटेल ने बीते सितंबर माह भर में करीब 23 लाख उपभोक्ताओं को खो दिया है।

COAI ने बताया है कि देश में निजी क्षेत्र के टेलीकॉम ऑपरेटरों के पास संयुक्त रूप से 1.017 अरब उपभोक्ताओं का बेस है। जबकि सितंबर माह में इन निजी टेलीकॉम ऑपरेटरों ने संयुक्त रूप से 90.5 लाख उपभोक्ताओं को खो दिया है।

इसी के साथ अभी भी भारती एयरटेल के पास 34.35 करोड़ ग्राहक हैं। जबकि 2 साल पहले ही भारत के टेलीकॉम क्षेत्र में प्रवेश करने वाली जियो के पास अभी 23.92 करोड़ ग्राहक है। इसी के साथ ग्राहकों की संख्या में एयरटेल पहले जबकि जियो दूसरे नंबर पर है।

यह भी पढ़ें: एयरटेल ने भारतीय मोबाइल कॉंग्रेस में एयरटेल 5जी को किया पेश

हालाँकि हाल ही में हुए वोडाफोन और आइडिया के विलय के बाद संयुक्त रूप से बनी आइडिया-वोड़ाफोन लिमिटेड के पास सबसे अधिक उपभोक्ता हैं। मालूम हो कि यह संयुक्त उपक्रम इस वक़्त देश के टेलीकॉम सेक्टर के 42.74 प्रतिशत हिस्से पर कब्जा किए हुए है। इसी के साथ वोड़ाफोन-आइडिया के पास कुल 43.4 करोड़ उपभोक्ता हैं।

COAI की इस रिपोर्ट में बीएसएनएल, एमटीएनएल, टाटा व रिलायंस कम्युनिकेशन को नहीं शामिल किया गया है।

सितंबर 2016 में भारतीय टेलीकॉम बाज़ार जियो के आने के बाद मची उठापटक में जियो ने तब से अब तक मुड़ कर नहीं देखा है। इसी के साथ अन्य सभी टेलीकॉम कंपनियों को इन दो सालों में भारी नुकसान हुआ है। इसी नुकसान के चलते आइडिया और वोड़ाफोन को आपस में विलय करना पड़ गया है।

यह भी पढ़ें: जानें टेलिकॉम जगत में जिओ की सफलता पर क्या बोले मुकेश अंबानी

हालाँकि इन सब के बीच देश अब 5जी सुविधा का इंतज़ार कर रही है। ऐसे में जियो समेत अन्य सभी टेलीकॉम कंपनियाँ 5जी को लेकर अपनी तैयारियों को और भी पुख्ता करने में लगी हुईं है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here