इलायची खाने के फायदे, उपयोग

इलायची के फायदे
इलायची

लगभग हर किचन में इलायची (cardamom) पाई जाती है। यदि कोई यह कहे कि उसे नहीं मालूम कि इलायची क्या होती है तो इस बात पर यक़ीन करना नामुमकिन महसूस होता है।

हर कोई इलाइची के विषय में जानता है लेकिन क्या हर कोई यह जानता है कि इलायची कितनी फ़ायदेमंद होती है? शायद नहीं!

इलाइची खाने के फायदे (benefits of cardamom in hindi)

इस लेख में हम आपको छोटी इलाइची के फायदों के विषय में बताएंगे।

1. अस्थमा की समस्या का इलाज करती है इलाइची

म्यूकस मेम्ब्रेन संबंधी समस्याओं को छोटी इलाइची भलीभाँति ठीक करती है। इसका मतलब यह है कि यदि आपको श्वसन तंत्र संबंधी समस्याएं हैं तो ऐसे में छोटी इलाइची आपको काफ़ी लाभ पहुँचा सकती है।

जिन लोगों को साँस लेने में दिक़्क़त, गले में दर्द और फेफड़ों में जकड़न हो उन्हें छोटी इलाइची का सेवन करना चाहिए। छोटी इलायची साँस लेने की प्रक्रिया को आसान बना देती है क्योंकि यह फेफड़ों में रक्त के संचालन को सुदृढ़ करती है।

2. हिचकी से देती है तुरंत आराम

जब भी हमें हिचकी आती है तो हम कहते हैं कि कोई हमें याद कर रहा है। कहने को तो हम यह कहावत कह देते हैं लेकिन असल में हिचकी कितना तक़लीफ देती है यह हिचकी वाले बंदे को ही पता चलता है।

हिचकी आने का सबसे बड़ा कारण ओसेफेगस या ग्रासनाल में नमी या चिकनाई की कमी होता है। यही कारण है कि ओसेफेगस की मांसपेशियां सिकुड़ने लगती हैं और फलस्वरूप हमें हिचकी आने लगती है।

हिचकी आने की समस्या से निजात पाने के लिए छोटी इलाइची के पाउडर का इस्तेमाल किया जा सकता है।

छोटी इलाइची के पाउडर को गरम पानी में मिलाएँ और 15 मिनट तक के लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे छान लें और इसका सेवन करें।

3. होठों के लिए फ़ायदेमंद है इलायची

मुलायम व गुलाबी होंठ हर किसी को अच्छे लगते हैं लेकिन अक्सर बदलते मौसम के कारण हमारे होंठ फट जाते हैं और काले होने लगते हैं। इस समस्या से निजात पाने के लिए हम छोटी इलायची के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

अपने होठों पर छोटी इलाइची का तेल लगाएं और पूरी रात भर के लिए छोड़ दें। नियमित रूप से ऐसा करने पर होंठ गुलाबी और मुलायम हो जाते हैं तथा उनके फटने की समस्या भी ख़त्म हो जाती है।

छोटी इलाइची का तेल होठों के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है। यही कारण है कि छोटी इलाइची के तेल को अनेक प्रकार के कॉस्मेटिक्स में मिलाया जाता है।

4. पाचन क्रिया को सुदृढ़ करती है इलायची

भारत में अधिकतर मसालेदार पकवानों का चलन है। इलायची लगभग सभी प्रकार के भारतीय व्यंजनों में डाली जाती है लेकिन क्या इलाइची का प्रयोग सिर्फ़ भोजन में स्वाद लाने के लिए किया जाता है?

नहीं, ऐसा नहीं है बल्कि इलायची हमारे पाचन के लिए अत्यंत लाभदायक होती है। यही कारण है कि मसालों में इलायची का भरपूर प्रयोग  किया जाता है।

एक भारतीय शोध के अनुसार इस बात का दावा किया गया है कि इलायची ना सिर्फ़ भोजन में स्वाद लगती है बल्कि पाचन क्रिया को सुदृढ़ करती है।

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इलायची में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो पाचन संबंधी अंगों को सही से कार्य करने के लिए प्रेरित करते हैं।

5. डायबिटीज़ के इलाज में छोटी इलायची का प्रयोग होता है

यदि आप प्राकृतिक रूप से डायबिटीज़ का इलाज करना चाहते हैं तो ऐसे में छोटी इलाइची आपका काफ़ी साथ दे सकती है।

छोटी इलाइची में मैंगनीज़ नामक तत्व पाया जाता है जो ना सिर्फ़ डायबिटीज़ में आराम देता है बल्कि यदि आपको डायबिटीज़ नहीं है तो इसके चांसेस भी कम करता है।

6. भूख को कंट्रोल करता है

समय समय पर भूख लगना अच्छी बात है और ढंग से खाना खाना और भी अच्छी बात है लेकिन अक्सर हमें बेवक्त भूख लगती है जिसमें कि हमें कुछ मसालेदार और तला भुना खाने की क्रेविंग होती है।

ये ऐसी चीज़ है जो कि शरीर में अतिरिक्त वसा बढ़ाती है और इसी कारण शरीर रोगों से ग्रस्त हो जाता है। इस चीज़ से छुटकारा पाने के लिए छोटी इलाइची का प्रयोग किया जा सकता है।

सिर्फ़ इतना ही नहीं है बल्कि जिन लोगों को सही से भूख न लगने की समस्या है उनके लिए भी छोटी इलाइची काफ़ी फ़ायदेमंद है। पोलैंड में हुए एक शोध में इस बात का दावा किया गया है कि छोटी इलाइची भूख से संबंधित समस्याओं का भरपूर इलाज करती है।

7. डिप्रेशन या तनाव के विरुद्ध कार्य करती है इलाइची

ये वास्तव में एक चौंकाने वाला ख़ुलासा है लेकिन सच है कि छोटी इलाइची तनाव से छुटकारा दिलाने में सहायक होती है।

हेल्थ रिपोर्ट के अनुसार जो लोग तनाव से ग्रस्त है उन्हें छोटी इलाइची का सेवन करना चाहिए। छोटी इलाइची के पाउडर को पानी में उबाल लें और प्रतिदिन इसका सेवन करें। यह तनाव की समस्या का निवारण करती है।

8. ब्लड क्लॉटिंग की संभावनाओं को रोकती है

ब्लड क्लॉटिंग एक गंभीर समस्या है जिससे कि व्यक्ति की मृत्यु तक हो सकती है। शरीर में ब्लड क्लॉटिंग न ही हो तो बेहतर है। यदि आप भी यही चाहते हैं तो ऐसे में आपको छोटी इलाइची का सेवन करना चाहिए।

सेंट्रल फ़ूड टेक्नोलॉजिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट इन इंडिया में हुए एक शोध में इस बात का दावा किया गया है कि छोटी इलाइची में कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो रक्त में क्लॉटिंग नहीं होने देते हैं।

9. त्वचा के लिए

त्वचा के लिए छोटी इलाइची फ़ायदेमंद है। यदि आपको स्क़िन एलर्जी हो रही हो तो ऐसे में छोटी इलाइची का पाउडर और शहद का मिश्रण आपको इससे छुटकारा दिला सकता है।

इसी तरह अगर आपकी त्वचा डल हो रही हो अर्थात त्वचा का निखार खो गया हो तो ऐसे में छोटी इलाइची का प्रयोग आपको फ़ायदा दे सकता है।

आप चाहें तो ऐसे कॉस्मेटिक्स का प्रयोग कर सकते हैं जिसमें छोटी इलाइची मिश्रित हो। यदि आप कॉस्मेटिक्स का प्रयोग नहीं करना चाहते हैं तो आप छोटी इलाइची पाउडर और शहद का मिश्रण भी लगा सकते हैं।

10. ओरल हेल्थ के लिए प्रयोग करें छोटी इलाइची

छोटी इलाइची का प्रयोग माउथ फ्रेशनर के रूप में किया जाता है। छोटी इलाइची मुँह में पाए जाने वाले हानिकारक बैक्टीरिया को ख़त्म करने में सहायक होती है।

इसके अलावा जिन लोगों को साँस की बदबू की समस्या है उन्हें भी छोटी इलाइची चबाना चाहिए।

आपने मसालों में छोटी इलायची का प्रयोग अवश्य किया होगा लेकिन हम आशा करते हैं कि इस लेख के माध्यम से आपको पता चल गया होगा कि छोटी इलायची के और क्या क्या उपयोग हो सकते हैं!

अपने सवालों और सुझावों को कमेंट् पेटिका में दर्शाना न भूलें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here