अंडे खाने के फायदे, अंडे बनाने के तरीके

0
अंडा खाने के फायदे
अंडा
bitcoin trading

अंडे को लेकर लोगों में एक असमंजस बना हुआ है कि अंडा शाकाहारी होता है या मांसाहारी? यदि हम अंडे के इस असमंजस से निकलकर इसके फायदों पर ध्यान दें तो हम इसे अवश्य खाना चाहेंगे।

इस लेख में हम अंडों से जुड़े हुए कुछ अत्यंत महत्वपूर्ण फायदों के बारे में आपको बताएंगे।

आइये देखते हैं कि अंडे हमारे स्वास्थ्य के लिए किस प्रकार फ़ायदेमंद हैं। इस विषय पर चर्चा करने से पहले हम देखेगें कि अंडे किन किन तरीक़ों से पकाए जा सकते हैं और उसमें कौन कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं।

अंडे में मौजूद पोषक तत्व

  1. प्रोटीन 12.6 ग्राम
  2. राइबोफ्लेविन 0.5 मिलीग्राम
  3. फ़ैट अथवा वसा 10.6 ग्राम
  4. कलेस्टरॉल 373 मिलीग्राम
  5. ऊर्जा 647 किलो कैलोरी
  6. कार्बोहाइड्रेट 1.12 ग्राम
  7. विटामिन ए 19%
  8. विटामिन डी 15%
  9. थायमीन 6%
  10. नियासिन 0.064 मिलीग्राम
  11. फोलेट 11%
  12. विटामिन बी-5 अथवा पैन्थोथेनिक ऐसिड 1.4 मिलीग्राम
  13. विटामिन बी-6 0.121 मिलीग्राम
  14. विटामिन डी 15%
  15. विटामिन ई 1.03 मिलीग्राम
  16. फॉस्फोरस 172 मिलीग्राम
  17. कैल्सीयम 50 मिलीग्राम
  18. ज़िंक 1.0 मिलीग्राम
  19. आयरन 1.2 मिलीग्राम
  20. वॉटर अथवा पानी 75 ग्राम
  21. पोटैशियम 126 मिलीग्राम
  22. मैग्नीशियम 10 मिलीग्राम
  23. सोडियम 124 मिलीग्राम

इस प्रकार हम देख सकते हैं कि अंडे में स्वास्थ्यवर्धक अनेक पोषक तत्व पाए जाते हैं। आइए अब देखते हैं कि अंडे को किन किन तरीक़ों से बनाया जा सकता है।

अंडा बनाने के तरीके

  • अंडा उबाल कर

अंडे को उबालकर खाया जा सकता है। लगभग हर व्यक्ति को अंडे को बनाने की यह विधि पता है। अंडे को पानी में कुछ देर के लिए उबाला जाता है।

जिन लोगों को थोड़ी सी कच्ची जर्दी पसंद है उन्हें 5-6 मिनट तक अंडे को उबालना चाहिए।

जिन लोगों को फुल बॉयल अंडा पसंद है उन्हें 15 मिनट तक अंडे को उबालना चाहिए।

  • अंडा फ़्राई करके

अंडे को थोड़े से तेल में फ़्राई करके भी खाया जाता है।

एक पैन में थोड़ा सा तेल ले लें। अब मध्यम आँच पर पैन को रखें और इसमें तोड़कर अंडे को डालें।

यदि आपको हाफ़ फ़्राई अंडा खाना है तो अंडे को 2-3 तक फ़्राई करें। यदि आपको फ़ुल फ़्राई अंडा खाना है तो अंडे को 7-8 मिनट तक फ़्राई करें।

  • अंडे की ऑमलेट बनाकर

उबले अंडे के बाद अंडे का ऑमलेट बनाकर खाना सबसे ज़्यादा मशहूर तरीक़ा है।

अंडे का ऑमलेट बनाने के लिए एक कटोरे में अंडे को फोड़कर डालें। इसे अच्छे से मथ कर मिलाएँ।

एक पैन में थोड़ा सा तेल लें और उसमें अंडे को डालें। थोड़ी देर जब तक कि अंडा थोड़ा सा ब्राउन नहीं हो जाता उसे पकने दें। इसके बाद आप उसे ब्रेड के साथ खा सकते हैं।

  • अंडा पोच्ड विधि

जो लोग बिना तेल और बिना उबला अंडा खाना चाहते हैं, वो लोग पोच्ड विधि से अंडा बना सकते हैं।

एक पैन में थोड़ा सा पानी लें और उसे लगभग 71-82 डिग्री सेंटीग्रेड तक गर्म होने दें। इसके बाद इसमें अंडे को फोड़कर डालें। 2-3  मिनट तक अंडे को पानी में रहने दें और फिर उसे निकाल लें। आप पोच्ड अंडे को ब्रेड के साथ भी खा सकते हैं।

  • अंडा स्क्रैम्बल करके

स्क्रैम्बलर्ड विधि में अंडे को दूध और मक्खन के साथ बनाकर उसे रोटी के साथ खाया जाता है।

अंडे को एक कटोरी में तोड़कर थोड़ा सा फेट लें। अब इसमें दूध और मक्खन डालें। तीनों चीज़ों को आपस में अच्छे से मिला लें। अब एक पैन में ऑलिव ऑयल डालें।

तेल के थोड़ा सा गरम हो जाने पर इसमें अंडा डालें और उसे धीमी आँच पर पकाएं। क़रीब 5-7 मिनट तक पकाने के बाद उसे रोटी में रोल करें। आप चाहें तो रोटी के साथ गाजर और पालक भी खा सकते हैं।

  • अंडे की भुर्जी विधि

अंडे को एक कटोरी में फोड़कर निकालें। इसमें थोड़ी सी कटी हुई प्याज, हरी धनिया, हरी मिर्च और नमक मिलाएँ। इन सभी चीज़ों को अच्छे से फेंट लें।

एक पैन में थोड़ा सा तेल लें। तेल के गर्म हो जाने पर इसमें ये पूरा मैटेरियल डाल कर इसे धीमी आँच पर अच्छे से पकाएं। जब अंडा थोड़ा सा भूरा या ब्राउन दिखने लगें तो उसे एक प्लेट में निकाल लें और इसे रोटी के साथ खाएं।

  • अंडे की करी

अंडे की करी बनाने के लिए अंडे को उबाल कर छील लें। अब इसे आलू व मसालों के साथ एक कढ़ाई में डालकर पकाएं। अंडे की करी को अंडे की सब्ज़ी भी कहा जाता है।

अंडे खाने के फायदे

1. अंडा तनाव को दूर करता है

अंडे में विटामिन बी-6 और विटामिन बी-12 प्रचुर मात्रा में पाये जाते हैं। ये दोनों विटामिन्स तनाव को दूर करने में सहायक होते हैं।

अंडे को मूड स्टेबिलाइजर के नाम से भी जाना जाता है। अंडे में प्रोटीन, अमीनो ऐसिड और सिस्टीन नामक तत्व पाए जाते हैं। यदि किसी को मूड स्विंग हो रहा हो तो अंडा खाने से उसे काफ़ी लाभ होता है।

अंडा तनाव, अवसाद व चिड़चिड़ाहट को कम करता है। एक तरह से यह हमारे मस्तिष्क को अच्छा महसूस कराता है।

2. अंडा कैन्सर की संभावनाओं को कम करता है

अंडे को उबालकर या फ़्राई करके खाने से इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्वों का प्रभाव थोड़ा सा कम हो जाता है लेकिन फिर भी अंडा कैन्सर की संभावनाओं को कम करता है।

अलबर्टा यूनिवर्सिटी में हुए एक शोध में यह बात पाई गई कि अंडा एंटीऑक्सीडेंट गुणों से परिपूर्ण होता है। ये गुण कैन्सर के खतरों को कम करते हैं।

इसी प्रकार द जनरल में प्रकाशित एक शोध में ये बात पाई गई कि अंडा कैन्सर की संभावनाओं को 24 प्रतिशत तक कम कर देता है।

जो लोग नियमित रूप से अंडा खाते हैं उन्हें कोलोन कैन्सर, ब्रेस्ट कैन्सर व फेफड़ों के कैन्सर की संभावनाओं से राहत मिलती है।

अंडे की जर्दी में ट्रिप्टोफ़ैन और टाईरोसिन नामक अमीनो ऐसिड पाए जाते हैं। ये अमीनो ऐसिड एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होते हैं।

ये शरीर में कोशिकाओं के चेक प्वाइंट्स को फ़ेल नहीं होने देते हैं। इस तरह कोशिकाएं एक निश्चित चक्र में ही विभाजित होती हैं जिससे कि कैन्सर नहीं बनने पाता।

3. अंडा वज़न घटाने में मदद करता है

कुछ लोग कहते हैं कि अंडा खाने से वज़न बढ़ता है जोकि पूरी तरह सही नहीं है। यदि निश्चित और नियमित रूप से अंडा खाया जाए तो वज़न बढ़ने के बजाए घटता है।

अंडे में प्रोटीन की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। ये प्रोटीन पाचन क्रिया को सुदृढ़ करता है। ये पाचन क्रिया को थोड़ा सा धीमा कर देता है जिससे कि भोजन सही प्रकार से पचता है। इस तरह हमें बार बार भूख का अनुभव नहीं होता है।

यदि आप अपना वज़न कम करना चाहते हैं तो आपको अंडे का सफ़ेद वाला भाग अपने आहार में नियमित रूप से शामिल करना चाहिए। अंडे की जर्दी से वज़न बढ़ता है लेकिन अंडे का सफ़ेद वाला भाग वज़न को घटाने में सहायता करता है।

एक शोध में यह बात सामने आयी है कि अंडे में पाया जाने वाला प्रोटीन भूख को अन्य प्रोटीनों की तुलना में अधिक दबा देता है। इस तरह अंडा खाने से भूख कम होती है जिससे कि हम अनेक प्रकार के जंक फ़ूड या तेलयुक्त पदार्थों को खाने से बचते हैं।

4. अंडे के फायदे गर्भवती महिलाओं के लिए

अंडे में पाया जाने वाला प्रोटीन कोशिकाओं की मरम्मत करने व नई कोशिकाओं का निर्माण करने में सहायक होता है। गर्भवती महिलाओं द्वारा अंडे का सेवन करने से बच्चे के विकास के लिए नई कोशिकाएं बनती है।

यदि गर्भवती महिलाओं को नियमित रूप से अंडा दिया जाए तो उनका बच्चा स्वस्थ पैदा होता है।

अंडे में कोलिन नामक एक तत्व पाया जाता है। यह तत्व भ्रूण के मस्तिष्क के विकास के लिए लाभदायक होता है।

नियमित रूप से अंडे का सेवन करने से गर्भवती महिलाओं को प्रीमैच्योर डिलीवरी या समय से पहले प्रसव की संभावनाओं से राहत मिलती है।

अंडा एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है जिससे कि गर्भवती महिलाओं को मूड स्विंग की समस्या से राहत मिलती है। गर्भावस्था के दौरान दूध व अंडे का नियमित रूप से सेवन करना चाहिए।

एक बात का ध्यान रखना चाहिए कि गर्भावस्था के दौरान हाफ बॉयल या हाफ़ फ़्राइड अर्थात आधे पके हुए अंडों के सेवन से बचना चाहिए। गर्भावस्था के दौरान पूर्ण रूप से उबला और फ़्राई हुआ अंडा ही खाना चाहिए।

5. बालों के लिए अंडे के फायदे

स्वस्थ वालों के लिए अंडा अत्यंत लाभदायक होता है। यदि आप के बाल अत्यंत फ़्रीजी और बेजान हैं तो आपको अंडे से बना हुआ हेयर मास्क लगाना चाहिए।

अंडे में पाया जाने वाला प्रोटीन बालों को झड़ने से रोकता है और उनके विकास की दर को बढ़ाता है।

अंडा बेजान और रूखे बालों को कंडिशनर करने का कार्य करता है। यह बालों को क्यूटिकल देता है जिससे कि बाल सिल्की और शाइनी नज़र आते हैं।

यदि आपके बाल अत्यंत ड्राई हो रहे हैं तो अपने बालों में अंडा लगाएं। 25-30 मिनट तक इसे अपने बालों पर लगा रहने दें और इसके बाद आप अपने बालों को ठंडे पानी से धो लें।

यदि आप अंडे की महक को बर्दाश्त नहीं कर सकते तो आपको अंडे की ज़र्दी बालों पर नहीं लगानी चाहिए।

अंडे की महक से बचने के लिए अंडे का सफ़ेद वाला अपने बालों पर लगाएं। आप चाहें तो अंडे में ज़ैतून का तेल भी मिला सकते हैं।

अपने बालों की वृद्धि को तेज़ी से बढ़ाने के लिए आप अंडे में विटामिन E का तेल भी मिला सकते हैं।

6. अंडा हड्डियों को मजबूत करे

अंडे में प्रचुर मात्रा में कैल्सीयम, फॉस्फोरस, विटामिन D व पोटैशियम पाए जाते हैं। ये सभी तत्व हमारी हड्डियों को मज़बूत बनाने में सहायक होते हैं।

अंडे में पाया जाने वाला विटामिन D सूखा रोग या रिकेट्स से शरीर की रक्षा करता है। अंडे में पाया जाने वाला कैल्सीयम और फॉस्फोरस हड्डियों को कमज़ोर होकर टूटने या टेढ़ा मेढ़ा होने से बचाता है।

इस प्रकार हमारे शरीर की संरचना भी सुदृढ़ व मज़बूत होती है।

7. नई कोशिकाओं के निर्माण के लिए

नई कोशिकाओं के निर्माण और पुरानी कोशिकाओं की मरम्मत के लिए अंडा अत्यंत लाभदायक होता है।

अंडे में एल्ब्यूमिन नामक प्रोटीन पाया जाता है। यह भोजन से प्रोटीनों के अवशोषण की दर को बढ़ा देता है। इस तरह शरीर में प्रोटीन का स्तर नियमित होता है।

यदि आप अपने शरीर में तेज़ी से मांसपेशियों का निर्माण करना चाहते हैं तो आपको पूर्णरूप से पके हुए अंडों का सेवन करना चाहिए।

मांसपेशियों के निर्माण के लिए हाफ बॉयल या हाफ फ़्राइड अंडों का सेवन नहीं करना चाहिए।हाफ बॉयल या हाफ फ़्राइड अंडों में सालमोनेला नामक बैक्टीरिया पाया जाता है। यह बैक्टीरिया कोशिकाओं को नुक़सान पहुँचा सकता है।

8. अंडा दिमाग को तेज करे

अंडे में प्रचुर मात्रा में ओमेगा 3 फ़ैटी ऐसिड, विटामिन D और विटामिन B12 नामक पोषक तत्व पाए जाते हैं। ये सभी पोषक तत्व हमारे मस्तिष्क के लिए अत्यंत फ़ायदेमंद होते हैं।

नियमित रूप से अंडे का सेवन करने से मेमोरी पॉवर बढ़ती है। मेमोरी पॉवर के बढ़ जाने से किसी भी चीज़ को याद करने की हमारी क्षमता भी बढ़ जाती है। हम बार बार भूलने की बीमारी से छुटकारा पा जाते हैं।

9. अंडे के फायदे त्वचा के लिए

अंडे से बना हुआ फ़ेस मास्क त्वचा के लिए अत्यंत लाभदायक होता है। यह त्वचा पर दाग़, धब्बों, मुहाँसों और दानों की समस्या से राहत देता है।

अंडे का सफ़ेद वाला भाग त्वचा पर लगाने से मुंहासों की समस्या से राहत मिलती है। यह रोम छिद्रों को खोलने में मदद करता है जिससे कि अंदर बैठी हुई सारी गंदगी बाहर निकल जाती है।

जब त्वचा के रोम छिद्र बंद होते हैं तो त्वचा के अंदर बैठी गंदगी बाहर नहीं निकल पाती है और वह अंदर ही जमने लगती है। इस तरह त्वचा पर मुँहासे हो जाते हैं। अंडे की सफ़ेदी से इस समस्या से निजात पाई जा सकती है।

इस प्रकार हम देख सकते हैं कि अंडा हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना महत्वपूर्ण होता है। ये अंडा ना सिर्फ़ लाभकारी होता है बल्कि यह खाने में भी बहुत स्वादिष्ट होता है। इस तरह आप अपने स्वास्थ्य की ज़रूरतें एक स्वादिष्ट दवा के ज़रिए पूरा कर सकते हैं।

इस लेख से जुड़े अपने सवाल और सुझाव को आप नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here