Tue. Apr 16th, 2024
    ICC U19 Cricket World Cup

    शनिवार को देर रात जब भारत नींद के आगोश में समा रहा था, उधर भारतीय क्रिकेट के कई होनहार भविष्य अपने सपनों को साकार कर रहे थे। साथ ही देश को यह संदेश दे रहे थे कि भारतीय क्रिकेट का भविष्य सुनहरे हाँथो में है।

    जी हाँ, शनिवार की रात जैसे-जैसे जवान हो रही थी, टीवी से चिपके हर भारतीयों की दुआऐं दुगनी और उम्मीदें चार गुनी हो रही थी। क्योंकि भारत की U19 क्रिकेट टीम ICC U19 क्रिकेट वर्ल्ड कप 2022 में इंग्लैंड के सामने फाइनल में टक्कर ले रही थी।

    दुआओं का असर ये हुआ कि भारत ने इंग्लैंड को 4 विकेट से धमाकेदार पटखनी दी और रिकॉर्ड पाँचवी बार ICC U19 Cricket World Cup  उठाया। इस से पहले 2000 में मोहम्मद कैफ़, 2008 में विराट कोहली, 2012 में उन्मुक्त चंद और 2018 में पृथ्वी शॉ की कप्तानी में इस ख़िताब को जीता है।

    मैच का संक्षिप्त विवरण:-

    इंग्लैंड की टीम के कप्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फ़ैसला किया। भारतीय गेंदबाजों ने अंग्रेज कप्तान के इस फैसले को शुरुआत में ही गलत साबित कर दिया और एक के बाद एक झटके देने के बाद एक समय इंग्लैंड के 6 विकेट मात्र 61 रन पर झटक लिए।

    इसके बाद इंग्लैंड के तरफ़ से इकलौता संघर्ष करते हुए जेम्स रेव ने 95 रनों की शानदार पारी खेली और टीम को 189 रनों के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। भारत के तरफ़ से राज बावा ने 5 विकेट जबकि रवि कुमार ने 4 विकेट लिए।

    इसके जवाब में 190 रनों के लक्ष्य का पीछा करने के उतरी भारत की टीम को जल्दी ही शुरुआती झटका लगा और पारी की तीसरी गेंद पर ही ओपनर अंगक्रिश रघुवंशी बिना खाता खोले आउट हो गए।

    दूसरे ओपनर हरनूर सिंह का साथ देने आए उपकप्तान शेख रशीद (50 रन) ने भारत की पारी को संभाला। दोनों के बीच 49 रन की साझेदारी के बाद हरनूर सिंह 18वे ओवर में आउट हो गए।

    उपकप्तान रशीद का साथ देने उतरे कप्तान यश ढुल ने अच्छा साथ निभाया। दोनों के बीच हुई 46 रन की साझेदारी ने भारत का काम आसान कर दिया था। तभी अर्ध शतक पूरा करने के बाद रशीद  का विकेट गिरा और उसके थोड़ी देर बाद कप्तान यश ढुल भी 17 बनाकर चलते बने और अब भारत का स्कोर 97/4 था।

    मैच अब किसी भी तरफ़ जाता है दिख रहा था कि राज बावा (35 रन) और निशांत सिंधु (नाबाद 50) ने एक अच्छी साझेदारी कर भारत की जीत लगभग पक्की कर दी। हालाँकि राज बावा के आउट होने के बाद उतरे कौशल तांबे (1 रन) भी जल्दी चलते बने।
    फिर बचा-खुचा काम निशांत सिंधु के साथ मिलकर विकेट कीपर बल्लेबाज  दिनेश बाना ने 5 गेंदों पर 2 छक्के जड़कर भारत को जीत के दहलीज के पार पहुँचा दिया। इस तरह से इंग्लैंड को 6 विकेट से करारी शिकस्त देने के बाद भारत की टीम ने रिकॉर्ड 5वीं बार इस ट्रॉफी को उठाया।

    पूरी दुनिया ने की तारीफ़:

    जबसे U19 टीम ने एक बार फिर चैंपियन होने का तमगा हासिल किया है, सोशल मीडिया पर दुनिया भर के दिग्गजों ने इसकी सराहना की है।

    क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से एक तस्वीर साझा करते हुए भारत को जीत की बधाई दी। वहीं दक्षिण-अफ्रीका के सीनियर टीम के महत्वपूर्ण हिस्सा स्पिनर तबरेज़ शम्सी ने भारत के इस रिकॉर्ड को वास्तविकता से परे (unreal) बताया।
    BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भी ट्वीट करके टीम के प्रदर्शन को सराहा और पूरे दल को बधाई दी।

    BCCI ने घोषित किया बड़ा इनाम:

    BCCI के सचिव जय शाह ने टीम के प्रदर्शन से खुश होकर जमकर तारीफ़ की। साथ ही दल के हर खिलाड़ी को 40 लाख और प्रत्येक सपोर्ट स्टाफ़ को 25 लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की।

    क्या मायने रखती है यह जीत:

    भारत एक विशाल जनसंख्या वाला देश है। ऐसे में देश को सीनियर लेवल पर प्रतिनिधित्व करने का सपना लेकर निकले इन युवाओं के प्रदर्शन को जमकर सराहा जाना चाहिए। इनके मेहनत के पीछे इनके परिवार का त्याग और इनकी लगन को एक पहचान मिली है।

    अभी आईपीएल का मेगा ऑक्शन भी होने वाला है, ऐसे में उम्मीद की जा सकती है कि इन युवा प्रतिभाओं पर तमाम फ्रेंचाइजियों की भी नज़र होगी। आईपीएल जैसे लीग का हिस्सा बनने के बाद बीते वर्षो में कई ऐसे नाम उभरकर आये हैं जो ना सिर्फ भारतीय क्रिकेट में जगह बना पाए हैं बल्कि अपने परिवार और अपने कैरियर को एक नई दिशा दी है।

    ऐसे में तमाम उतार चढ़ाव और कोविड के मामलों से जूझती हुई टीम इंडिया ने वर्ल्ड कप जीतकर पूरे देश को एक प्रेरणा दी है। इन युवा खिलाड़ियों के जज़्बे की जितनी तारीफ की जाए वह कम होगा।

    By Saurav Sangam

    | For me, Writing is a Passion more than the Profession! | | Crazy Traveler; It Gives me a chance to interact New People, New Ideas, New Culture, New Experience and New Memories! ||सैर कर दुनिया की ग़ाफ़िल ज़िंदगानी फिर कहाँ; | ||ज़िंदगी गर कुछ रही तो ये जवानी फिर कहाँ !||

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *