C++ और जावा के बीच अंतर क्या है?

Difference between C++ and Java in hindi

c++ और जावा में अंतर (difference between c++ and java in hindi)

C++ जावा
1. C++ यह एक प्लेटफार्म डिपेंडेंट लैंग्वेज हैं। 1. जावा एक प्लेटफार्म इंडिपेंडेंट लैंग्वेज हैं।
2. C++ डायनामिक एवं आटोमेटिक कंपाइलेशन को अनुमति नहीं देता हैं। 2. जावा डायनामिक एंड आटोमेटिक कंपाइलेशन को सपोर्ट करता हैं।
3. C++, C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का ही आधुनिक संस्करण हैं, जिसमें ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग कॉन्सेप्ट्स का इस्तेमाल किया गया हो। 3. जावा प्रोग्रामिंग C और C++ के सिंटेक्स और मुलभुत सिद्धांतों से काफी प्रभावित हैं।
4. C++ को WOCA कॉन्सेप्ट् पर बनाया गया था, WOCA का अर्थ हैं राईट वन्स कम्पाइल एव्रीवेयर. 4. जावा को WORA कॉन्सेप्ट् पर बनाया गया था, WOCA का अर्थ हैं राईट वन्स रन एनीवेयर।
5. C++ में गार्बेज कलेक्शन, प्रोग्रामर की जिम्मेदारी होती हैं। 5. जावा में आटोमेटिक गार्बेज कलेक्शन की सुविधा दी गयी हैं।
6. C++, इवेंट ड्रिवेन प्रोग्रामिंग को सपोर्ट नहीं करती। 6. जावा में आप इवेंट ड्रिवेन प्रोग्रामिंग का इस्तेमाल कर प्रोग्राम लिख सकते हैं।
7. C++ में वेब एप्लेट की सुविधा नहीं हैं। 7. जावा में वेब एप्लेट की सुविधा हैं।
8. मल्टीथ्रेडिंग और सिंक्रोनायजेशन जैसी कॉन्सेप्ट्स C++ में सपोर्ट नहीं करती। 8. मल्टीथ्रेडिंग और सिंक्रोनायजेशन जैसी कॉन्सेप्ट्स का जावा में सपोर्ट करती हैं।
9.नेटिव लैंग्वेज इंटरफ़ेस प्रोग्रामिंग के लिए C++ में सपोर्ट नहीं हैं। 9.जावा नेटिव लैंग्वेज इंटरफ़ेस प्रोग्रामिंग को सपोर्ट करता हैं।
10. C++ रन टाइम पर ऑब्जेक्ट्स नहीं तयार करता हैं। 10.जावा प्रोग्रामिंग में new न्यू इस कीवर्ड की मदत से रन टाइम में ऑब्जेक्ट्स तयार किए जा सकते हैं।
11. प्रिमिटिव टाइप्स के लिए C++ में क्लासेज का प्रावधान नहीं हैं। 11.प्रिमिटिव डाटा टाइप्स के लिए जावा में रेपर क्लास का प्रावधान हैं।
12. C++ पॉइंटर्स को सपोर्ट करता हैं। 12. जावा में पॉइंटर्स के लिए कोई सुविधा नहीं है।
13. C++ में आप मल्टीपल इनहेरिटेंस का इस्तेमाल कर सकते हैं। 13. मल्टीपल इनहेरिटेंस, जावा में सपोर्ट नहीं करता।

 

इस लेख से सम्बंधित यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here