Thu. Jun 13th, 2024
    2022 में दुनिया भर में 73 मिलियन युवा बेरोजगार होंगे, 2021 से 20 लाख कम, परन्तु चुनौतियां अभी भी काफ़ी : ILO

    संयुक्त राष्ट्र द्वारा गुरुवार को जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, 2022 में दुनिया भर में 73 मिलियन युवा बेरोज़गार होंगे, जो पिछले वर्ष की तुलना में 20 लाख कम है। अंतरराष्ट्रीय श्रम संघ (International Labour Organization) ने उल्लेख किया कि यह संख्या अभी भी 2019 के पूर्व-महामारी स्तर से छह मिलियन अधिक है।

    अंतरराष्ट्रीय श्रम संघ ने एक शोध में कहा कि 2019 और 2020 के बीच, 15 से 24 वर्ष की आयु के लोगों को बाकी श्रम बाजार की तुलना में रोजगार में काफी बड़ा प्रतिशत नुकसान उठाना पड़ा।

    कोविड और युवा नौकरी बाज़ार:

    300-पृष्ठ की रिपोर्ट– नामक– “युवा 2022 के लिए वैश्विक रोजगार रुझान,” के अनुसार  महामारी ने बाज़ार की कठिनाइयों को बड़ा दिया, जिसका आम तौर पर युवा सामना करते हैं।

    कोविड -19 लॉकडाउन के दौरान नौकरी खोजने में कठिनाई के कारण और महामारी के कारण व्यवसाय बंद होने के कारण कई लोग श्रम बल से बाहर हो गए, या पूरी तरह से इसमें प्रवेश करने में विफल रहे।

    “कोविड -19 संकट ने युवा लोगों की जरूरतों को पूरा करने के तरीके में कई कमियों का खुलासा किया है, विशेष रूप से अधिक कमजोर वर्ग से आने वाले युवा  जैसे  स्कूल छोड़ने वाले, कम अनुभव वाले नए स्नातक और जो निष्क्रिय नहीं रहते हैं। साथ ही पहली बार नौकरी ढूंढने वाले लोगों को काफी मुसीबत झेलनी पड़ी ,” नीति के लिए ILO के उप महानिदेशक मार्था न्यूटन ने कहा।

    “युवा लोगों को जिस चीज की सबसे ज्यादा जरूरत है वह है अच्छी तरह से काम करने वाला श्रम बाजार साथ ही उन लोगों के लिए जो पहले से ही श्रम बाजार में भाग हैं। इसके अलावा लोगों के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और प्रशिक्षण के अवसर जो अभी तक इसमें प्रवेश नहीं कर पाए हैं।”

    लिंग अंतर:

    रिपोर्ट में बताया गया  40.3 प्रतिशत युवा पुरुषों की तुलना में 2022 में 27.4 प्रतिशत युवा महिलाओं के काम पर होने का अनुमान लगाया गया था। ILO ने कहा कि इस लिंग अंतर ने “पिछले दो दशकों में बंद होने के बहुत कम संकेत दिखाए हैं”।

    निम्न-मध्यम आय वाले देशों में यह अंतर 17.3 प्रतिशत अंक है और उच्च आय वाले राज्यों में सबसे कम 2.3 अंक है।

    2020 में, सबसे हालिया वर्ष जिसके लिए एक वैश्विक अनुमान उपलब्ध है, रोजगार, शिक्षा या प्रशिक्षण में युवाओं की हिस्सेदारी बढ़कर 23.3 प्रतिशत हो गई, जो 2019 से 1.5 प्रतिशत अंक ऊपर है और कम से कम  जो 15 वर्षों में नहीं देखा गया, उस स्तर तक पहुंच गया।

    कहाँ पर कितनी बेरोज़गारी?:

    2022 में, वैश्विक स्तर पर 14.9% युवा बेरोजगारी दर का अनुमान है। अनुसंधान में क्षेत्रों के बीच युवा बेरोजगारी में असमानताओं का उल्लेख किया गया था।

    यूरोप और मध्य एशिया में यह दर 16.4% होने की उम्मीद है, लेकिन भविष्यवाणी के अनुसार “यूक्रेन में युद्ध के वास्तविक और संभावित झटके परिणामों को बदलने की अत्यधिक संभावना है।”

    यह दर एशिया और प्रशांत में 14.9 प्रतिशत, लैटिन अमेरिका में 20.5 प्रतिशत और उत्तरी अमेरिका में 8.3 प्रतिशत होने का अनुमान है, जो वैश्विक औसत से मेल खाती है।

    अफ्रीका महाद्वीप में 12.7% बेरोजगारी का आंकड़ा है, जो “इस तथ्य को छुपाता है कि कई युवाओं ने श्रम बाजार से पूरी तरह से हटने का विकल्प चुना है।”

    हालांकि, युवा बेरोजगारी की सबसे बड़ी और सबसे तेजी से बढ़ती दर अरब राज्यों में पाई जाती है, जहां पुरुषों के लिए यह 24.8 प्रतिशत और महिलाओं के लिए 42.5 प्रतिशत है।

    हरी और नीली अर्थव्यवस्था से बदल सकती है तस्वीर: 

    शोध ने ये बात देखि गयी कि युवा लोग तथाकथित हरी और नीली अर्थव्यवस्थाओं के विकास से लाभ प्राप्त करने के लिए अच्छी तरह से तैनात है जो पर्यावरण और टिकाऊ महासागर संसाधनों पर केंद्रित हैं।

    रिपोर्ट के अनुसार, हरे और नीले निवेश ( Green & Blue Investments), विशेष रूप से स्वच्छ और नवीकरणीय ऊर्जा, टिकाऊ कृषि, पुनर्चक्रण और अपशिष्ट प्रबंधन में, 2030 तक युवाओं के लिए 8.4 मिलियन अधिक रोजगार का सृजन हो सकता है।

    विश्लेषण के अनुसार, यदि 2030 तक सर्वव्यापी इंटरनेट ( Digital Economy) पहुंच प्राप्त कर ली जाती है, तो वैश्विक स्तर पर 24 मिलियन नई नौकरियों की वृद्धि हो सकती है, जिनमें से 6.4 मिलियन युवा लोगों की होंगी।

    विश्लेषण के अनुसार, 2030 तक, देखभाल क्षेत्र ( care economy) में निवेश से युवाओं के लिए 17.9 मिलियन अतिरिक्त रोजगार सृजित होने का अनुमान है।

     

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *