दा इंडियन वायर » टैकनोलजी » 4G की बदौलत, 2018 में भारत के डाटा ट्रैफिक में हुई 109 प्रतिशत की बढ़ोतरी : रिपोर्ट
टैकनोलजी दूरसंचार व्यापार

4G की बदौलत, 2018 में भारत के डाटा ट्रैफिक में हुई 109 प्रतिशत की बढ़ोतरी : रिपोर्ट

4G डाटा का उपयोग

हाल ही में नोकिआ मोबाइल ब्रॉडबैंड सर्विस द्वारा एक रिपोर्ट पेश की गयी जिसमे बताया गया की वर्ष 2018 में पिछले वर्ष की तुलना में इन्टरनेट का उपभोग 109 प्रतिशत से बढ़ गया। इसके साथ ही यह भी बताया गया की इसका मुख्य कारण भारत में 4G इन्टरनेट की उपलब्धता की बढ़ोतरी है।

रिपोर्ट का विवरण :

नोकिया का वार्षिक मोबाइल ब्रॉडबैंड इंडिया ट्रैफिक (MBiT) इंडेक्स द्वारा पेश की गयी इस रिपोर्ट के मुताबिक़ वर्ष 2018 में इन्टरनेट का उपभोग भारत में बहुत तेजी से बढ़ा है। इसमें कुल 109 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इस रिपोर्ट में बताया गया है की इसका कारण टेलिकॉम बाज़ार में बढ़ी प्रतिस्पर्धा है जिससे इन्टरनेट प्लान के रेट कम हो गए और ग्राहकों के पास बहुत से विकल्प हो गए।

जिओ ने बाज़ार में प्रतिस्पर्धा बढाने में अहम् योगदान दिया है। यह सबसे कम रेट पर सुविधाएं दे रहा है जिससे दुसरे प्रदाता भी लगातार अपनी सुविधाओं में सुधर कर रहे हैं और इसके चलते ग्राहकों को कम मूल्य में अधिक सुविधाएं और विकल्प मिल रहे हैं।

3G डाटा के उपभोग में भारी गिरावट :

पेश की गई रिपोर्ट में बयान दिया गया है की हालांकि 4G इन्टरनेट के उपभोग में बढ़ोतरी देखि गयी है लेकिन इसके साथ ही 3G इन्टरनेट के उपभोक्तओं की संख्या में अनुओआतिक कमी देखी गयी है। स्टडी में बताया गया है की वर्ष 2018 के अंत तक भारत में 4G सब्सक्राइबर्स की संख्या 3G उपभोक्ताओं की तुलना में 5 गुना हो गयी थी। इससे पता चलता है की 4G यूजर्स की वृद्धि के कारण 3G यूजर्स की संख्या में कमी देखने को मिली है।

इन कारणों से बढ़ा 4G डाटा ट्रैफिक :

रिपोर्ट में बताय गया है की 4G सब्सक्राइबर्स की संख्या में करीब 137 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी। रिपोर्ट में इसके निम्न कारण बताये गए। रिपोर्ट में बताया गया की विडियो स्ट्रीमिंग एप की बढती पॉपुलैरिटी इन्टरनेट के उपभोग बढ़ने का मुख्य कारण है। इसके साथ ही वर्ष 2018 में टिकटोक जैसे विडियो शेयरिंग प्लेटफार्म का भी प्रयोग बढ़ा जिससे इन्टरनेट के उपभोग में बढ़ोतरी हुई।

इसके साथ ही 4G इन्टरनेट का दूरदराज इलाकों में विस्तार हुआ जिससे इसके उपभोक्ता बढे हैं।

About the author

विकास सिंह

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Advertisement