दा इंडियन वायर » खानपान » रोजाना सुबह हल्दी पानी पीने के फायदे
खानपान

रोजाना सुबह हल्दी पानी पीने के फायदे

अधिकतर लोग सुबह खाली पेट गर्म पानी पीने के फायदे जानते हैं। गर्म पानी हमारे शरीर की अंदर से सफाई करता है। यह हमारे पाचन तंत्र से दूषित पदार्थ बाहर निकालता है और हमारी त्वचा को साफ करता है।

लेकिन क्या आप जानते हैं, यदि इस गर्म पानी में थोड़ी सी हल्दी मिला ली जाए तो यह और भी ज्यादा लाभदायक हो सकता है। जी हां, आपके खाने का स्वाद व रंग बढ़ाने वाली हल्दी को यदि सुबह-सुबह खाली पेट गरम पानी में मिलाकर पिया जाए तो आपकी उम्र और भी लंबी हो सकती है। इस आर्टिकल के जरिये हम जानेंगे कि रोज हल्दी वाला गरम पानी के सेवन से आपके शरीर को क्या फायदे हैं?

1. प्रतिरक्षा शक्ति को बढावा 

प्रतिरक्षा शक्ति वह शक्ति है जिसके द्ववारा हमारा शरीर रोगो से लडने मे सक्षम होता है। हमारे शरीर में प्रतिरक्षा शक्ति जितनी अधिक होगी हम उतनें ही अधिक स्वस्थ रह सकतें है। हल्दी मे लाइपोपोलीसेकाराइड नामक कैमिकल पाया जाता है जो हमारे शरीर की प्रतिरक्षा शक्ति को बढाता है और सर्दी जुकाम ,फ्लू ,और अन्य संक्रमण से हमारी रक्षा करता है। सर्दियों में रोजाना हल्दी का गर्म पानी सुबह -सुबह पीने से सर्दियों मे फैलने वाले कीटाणुओं तथा जीवाणुओं से भी हम बचे रह सकते हैं।

2. पाचन दुरुस्त

कई शोधों से यह बात साबित हुई है कि नियमित रूप से हल्दी वाले गर्म पानी का सेवन करने से पित्त ज्यादा बनता है जिससे आपका आहार आसानी से हजम हो जाता है और आहार के अच्छे से हजम होने से आप पेट संबंधी बीमारियों से बचे रहते हैं। इसीलिए अगर आप पाचन को दुरुस्त रखना चाहते हैं, तो आज से ही अपनी दिनचर्या में हल्दी वाले पानी को शामिल करें।

3. शरीर मे शुगर की मात्रा का नियंत्रण 

नियमित हल्दी वाला पानी पीने से शरीर में ग्लूकोज की मात्रा ठीक रहती है। इससे मधुमेह नियंत्रित रहता है और इस का खतरा भी टलता है। हल्दी डायबिटीज मे ली जाने वाली दवाओं का प्रभाव बढाती है। हल्दी का प्रयोग मधुमेह के इलाज मे इसुलिन को कम करने के लिए किया जाता है। हल्दी के द्वारा टाइप 2 मधुमेह का खतरा टल सकता है।

4. वजन कम करने में सहायक

हल्दी का पानी शरीर में फैट का संचय (जमा) होने से हमारी रक्षा करता है। हल्दी में मौजूद करक्यूमिन नामक कैमिकल एडिपोज ऊतक मे जमा होने वाली चर्बी (फैट) को रोकता है ।हल्दी वाला पानी शरीर के दूषित पदार्थ बाहर निकालने तथा मेटाबोलिज्म बढ़ाने में मदद करता है। इससे मोटापा घटाने में मदद मिलती है।

5. सूजन कम करने में सहायक

हल्दी का पानी शरीर की सूजन दूर करने में बहुत सहायक है जिससे ऊतको के जुड़ने से होने वाली समस्या से हमारे शरीर की रक्षा होती है ।हल्दी का पानी जोड़ों के दर्द तथा घटिया से शरीर की रक्षा करता है। तो गठिया से परेशान लोगों के लिए हल्दी के पानी के साथ दिनचर्या की शुरुवात करना एक अच्छा विकल्प है।

6. दिमाग़ की कोशिकाओं की रक्षा 

हल्दी अल्जाइमर जैसी बिमारियों के पैदा होने वाले कारणों को रोकती है। वैज्ञानिकों के शोध के मुताबिक हल्दी में करक्यूमिन नामक केमिकल पाया जाता है जो बीटा एमीलोइड मिलो नामक प्रोटीन पदार्थ जो कि कोशिकाओं तथा ऊतको को नष्ट करता है उसे रोककर अल्जाइमर जैसी बीमारी के लक्षणो को कम करता है।

7. स्वस्थ त्वचा

हल्दी वाला पानी पीने से खून साफ होता है जिससे मुहासे और स्किन इंफेक्शन जैसी समस्या से बचाव होता है। हल्दी पानी से त्वचा को गोरा करने और चमक बढ़ाने में भी मदद मिलती है। यदि आप त्वचा सम्बंधित समस्या से मुक्ति पाना चाहते है तो हल्दी वाला पानी इसका सर्वश्रेष्ठ विकल्प है। यह त्वचा को झुर्रियों से भी मुक्त रखता है।

8. कैंसर के खतरे को टालने मे सहायक

हल्दी के पानी के नियमित सेवन से कैंसर की कोशिकाओं के बढने का खतरा कम हो जाता है। हल्दी के द्वारा रेडिएशन के संपर्क में आने से होने वाले ट्यूमर से बचा जा सकता है। हल्दी एक ताकतवर एन्टीआक्सीडेंट है जो कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं से डट कर मुकाबला करती है। हल्दी प्रोटेस्ट कैंसर के रोकने में मदद करने के साथ साथ मौजूद प्रोटेस्ट कैंसर को बढऩे से भी रोकती है।

9. दिल की सुरक्षा 

हल्दी शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करती है, जिससे एन्थोस्केलोरोसिस नामक बीमारी से हमारी रक्षा होती है। एन्थोस्केलोरोसिस बीमारी मे धमनियों मे हानिकारक परत बन जाती है जो दिल के दौरे की सम्भावना को बढावा देती है। इसके अलावा हल्दी से रक्त की धमनियों मे जमाव भी हट जाता है।

10. खांसी-जुकाम से आराम

हल्दी में मौजूद जरूरी एंटी-ओक्सिडेंट की वजह से यह खांसी के इलाज में लाभदायक होता है। इसके अलावा जैसे कि हमनें ऊपर बताया, हल्दी पानी शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है। इससे जुकाम जैसी बीमारियाँ दूर रहती हैं।

उपयोग कैसे किया जाए?

1/4 से 1/2 चम्मच तक हल्दी पाउडर को एक गिलास हल्के गर्म पानी में मिलाकर पीना पूरे दिन के लिए काफी है। आप हल्दी को शहद और नींबू वाले पानी में भी मिलाकर पी सकते हैं।

यदि संभव हो तो आप एक चुटकी काली मिर्च को भी हल्दी के पानी में मिला सकते है। काली मिर्च की गरम तासीर होने के कारण हल्दी के पानी में करक्यूमिन नामक कैमिकल की मात्रा हजार गुनी बढ़ जाती है।

यदि आपको कच्ची हल्दी का स्वाद पसंद नहीं है तो बाजार में अच्छी गुणवत्ता के बहुत से कैप्सूल मौजूद है।

हल्दी वाले पानी का सुबह बिना कुछ खाए सेवन करने से हमारा शरीर सूजन तथा बैक्टीरिया के खतरे से बचा रह सकता है। हल्दी का पानी शरीर से यू.वी. किरणें बाहर निकालने मे सहायक होता है। यदि हल्दी के पानी का सेवन सही समय व मात्रा मे किया जाए तो यह हमारे जीवन के लिए संजीवनी बन सकती है।

सावधानी बरतें

यद्दपि हल्दी को सेवन हेतु सुरक्षित माना जाता है लेकिन जब तक इसे एक निश्चित मात्रा में लिया जाए। गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन कम करना चाहिए क्योंकि इससे गर्भपात का खतरा बढ़ता है। और आपको यदि पाचन संबंधी बीमारी जैसे गैस्ट्रोइसफैजल (गैस) है तो डॉक्टर से परामर्श लेकर ही इसका सेवन करें।

मसालेदार प्रकृति होने के कारण, हल्दी का लंबे समय तक सेवन आपके पेट को भी खराब कर सकता है। एक शोध के मुताबिक ज्यादा हल्दी के सेवन से दस्त होने का खतरा बढ़ जाता है। हल्दी से किमोथेरेपी पर असर पड़ सकता है इसलिए किमोथेरेपी के दौरान हल्दी के उपयोग से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!