दा इंडियन वायर » भाषा » स्त्रीलिंग किसे कहते हैं? स्त्रीलिंग शब्द
भाषा

स्त्रीलिंग किसे कहते हैं? स्त्रीलिंग शब्द

स्त्रीलिंग की परिभाषा

वह संज्ञा शब्द जो हमें स्त्री जाति का बोध कराते हैं, वे शब्द स्त्रीलिंग संज्ञा शब्द कहलाते हैं। जैसे:

  • सजीव : माता, लड़की, भेद, गाय, भैंस, बकरी, लोमड़ी, बंदरिया, मछली, बुढिया, शेरनी, नारी, रानी, राजकुमारी, बहन आदि।
  • निर्जीव : धोती, टोपी, सड़क, सजा, भीड़, छत, किताब, ईंट, ईर्ष्या, मंजिल, परत, झोंपड़ी, गंगा, नदी, शाखा, कुर्सी आदि।

स्त्रीलिंग शब्द के उदाहरण:

  • ख, ट, वट, हट, आणि आदि वर्णों से ख़त्म होने वाले शब्द :

जैसे: भूख, कोख, कडवाहट, सजावट, जेठानी आदि।

  • भाषा, बोलियों तथा लिपियों के नाम :

जैसे: हिन्दी, अंग्रेजी, संस्कृत, उर्दू, फ़ारसी, मराठी, देवनागरी आदि।

  • तारीखों एवं तिथियों के नाम :

जैसे: पूर्णिमा, अमावस्या, चतुर्थी, ग्यारस, प्रथमा, पहली, दूसरी आदि।

  • स्त्रीलिंग रहने वाली संज्ञाएँ :

जैसे : मछली, तितली, मक्खी आदि।

  • प्राणीवाचक संज्ञा :

जैसे: संतान, सौतन, धाय आदि।

  • समूहवाचक संज्ञा :

जैसे: सेना, टोली, भीड़, सभा, कक्षा आदि।

  • आहारों के नाम :

रोटी, सब्जी, कचोरी, पूरी, इडली आदि।

  • आभूषणों एवं वस्त्रों के नाम :

जैसे: धोती, टोपी, बिंदी, सलवार, साडी, कमीज़, अंगूठी, पेंट, चूड़ी आदि।

  • पुस्तकों के नाम :

जैसे: महाभारत, रामायण, गीता, कुरान, बाइबिल, रामचरितमानस आदि।

  • नदियों के नाम :

जैसे: नर्मदा, गोदावरी, सतलुज, गंगा, यमुना, ब्रहमपुत्र आदि।

  • अनुस्वारांत, ईकारांत, उकारांत, तकारांत, सकारांत आदि संज्ञाएँ

जैसे: टोपी, चिट्ठी, उदासी, सरसों, प्यास, छत, नदी, रात, मामी, भाभी आदि।

  • राशियों के नाम :

जैसे: कुम्भ, मीन, कन्या, तुला, कर्क आदि।

  • मसालों के नाम :

जैसे: लौंग, इलायची, हल्दी, मिर्च, दालचीनी, सौंफ आदि।

कुछ स्त्रीलिंग शब्दों का वाक्य में प्रयोग :

  • घटा : काली घटा का घमंड घटा।
  • खटास: हमारे रिश्तों में थोड़ी खटास है।
  • अंगडाई : हमें सुबह उठते ही एक अंगडाई लेनी चाहिए।
  • आदत : मुझे धूम्रपान की आदत सी हो गयी है।
  • आंच : हमारे घर में आंच लग गयी थी।
  • एकता : अगर हमारे आपस में एकता नहीं होगी तो हम कमज़ोर पड़ जायेंगे।
  • खटिया : एक कमरे में दो खटिया पड़ी थी।
  • छत : तुम्हारी छत पर कोई खडा है।
  • टक्कर : हम दोनों की गाड़ियों कि आपस में टक्कर हो गयी।
  • तलाश : एक साल से हम उसकी तलाश कर रहे हैं।
  • थकान: आजकल मुझे बहुत जल्दी थकान हो जाती है।
  • जलवायु : एक साल में यहाँ कि जलवायु बिल्कुल बदल गयी है।
  • तकदीर : अपनी तकदीर से ज्यादा हमें कुछ नहीं मिलता।
  • जांच : मैं अभी उसी की जांच कर रहा था।
  • घोषणा : जाओ ओर जाकर युद्ध की घोषणा कर दो।
  • चुड़ैल : जब मैं रात में उठा तो एक चुड़ैल जा रही थी।
  • जंग : अब हम दोनों के बीच एक जंग होकर रहेगी।
  • कलम : मेरी कलम कल ही टूट गयी थी।
  • ठेस : उस व्यक्ति ने मुझे बहुत ठेस पहुंचाई है।
  • बन्दूक : यह बन्दूक बहुत तेज़ आवाज़ करती है।
  • भीख : हमें कभी भीख नहीं मांगनी चाहिए।

इस लेख से सम्बंधित यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

About the author

विकास सिंह

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!