Wed. May 29th, 2024
    सौरव गांगुली

    पूर्व भारतीय कप्तान गुरुवार को अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज एमएस धोनी के समर्थन में आए और उन्होने कहा कि उन्हे विश्व कप के बाद भी अपने खेल को जारी रखना चाहिए, उन्होने कहा अगर किसी के पास प्रतिभा है ” तो उम्र कोई कारक नही है।”

    गांगुली ने आगे कहा, ” जैसे की विश्व कप के अब कुछ ही महीने बाकि है ऐसे में लोगो ने शोपीस इवेंट से पहले ही यह सोच लिया है कि यह धोनी की आखिरी अंतराराष्ट्रीय आउटिंग होगी। गांगुली ने कहा, ” धोनी को विश्व कप के बाद खेलना चाहिए। अगर भारत विश्व कप जीतता है और धोनी लगातार अच्छा प्रदर्शन करते है तो उन्हे सन्यांस लेने कि क्या जरूरत है। उम्र कोई कारक नही होती अगर तुम्हारे पास प्रतिभा है।”

    गांगुली ने आगे कहा की इस समय भारत का तेज गेंदबाजी अतिक्रमण बहुत शानदार है और जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी की जोड़ी विश्वकप में एक अहम भूमिका निभा सकती है।

    गांगुली ने कहा, ” भारत का तेज गेंदबाजी अतिक्रमण शानदार है। चाहे वो बुमराह और शमी हो भारत के तेज गेंदबाज लगातार प्रदर्शन करते आए है। पेसर इंग्लैंड में टीम के लिए एक अहम भूमिका निभा सकते है।”

    उमेश यादव चौथे तेज गेंदबाज के रूप में

    गांगुली के अनुसार, भुवनेश्वर के बाद उमेश यादव को चौथे गेंदबाज के रुप में विश्व कप की टीम में रखा जाना चाहिए। शिखर धवन जो इस समय अच्छे फॉर्मं में नही चल रहे है, लेकिन गांगुली ने उनका समर्थन करते हुए कहा है कि रोहित शर्मा के साथ उन्हे ही टॉप आर्डर में बल्लेबाजी करनी चाहिए।

    गांगुली ने कहा, ” ओपनिंग मिश्रण को नही तोड़ा जाना चाहिए। रोहित शर्मा और शिखर धवन एक आदर्श जोड़ीदार है जो भारत को तेज शुरुआत दे सकते है। लेकिन केएल राहुल भी यहा है, उन्होने कहा, ” शिखर और रोहित को ओपन करना चाहिए। इनके अलावा जिस तीसरे खिलाड़ी को ओपन के लिए रखा जाना चाहिए वह राहुल है। गांगुली ने यह भी कहा कि भारत के कप्तान विराट को नंबर तीन पर ही बल्लेबाजी करना जारी रखना चाहिए। जिसके बाद अंबाती रायुडू, धोनी और केदार जाधव को आना चाहिए।

    उन्होने आगे कहा, ” विराट, विराट है। वह इस समय गेम के टॉप में है।”

    दादा ने कहा विजयशंकर को रविंद्र जडेजा से आगे रखना चाहिए

    विजय शंकर का पुनरुत्थान चयनकर्ताओं के लिए सिरदर्द साबित होगा, गांगुली ने कहा, रवींद्र जडेजा को तमिलनाडु के ऑलराउंडर की कीमत पर विश्व कप टीम में चयन के लिए नहीं माना जाना चाहिए।

    उन्होने कहा, ” रविंद्र जडेजा को विश्व कप की टीम में नही रखा जाना चाहिए। विजय शंकर ने नागपुर में शानदार गेंदबाजी की। मुझे लगता है कि विजय विश्व की टीम के प्रबल हकदार है।”

    गांगुली ने यह भी बताया कि विश्वकप जो 30 मई से इंग्लैंड और वेल्स में खेला जाएगा। उसमे भारतीय टीम को पसंदीदा माना जा रहा है।

    गांगुली का यह भी मानना था कि यह बहुत जल्दी होगी की हम विश्व कप के लिए अपनी प्लेइंग-11 बताए लेकिन उन्होने 15 खिलाड़ियो की अपनी टीम चुनी।

     रोहित शर्मा, शिखर धवन, केएल राहुल, विराट कोहली (कप्तान), अंबाती रायुडू, महेंद्र सिंह धोनी, केदार यादव, हार्दिक पांड्या, विजय शंकर, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार उमेश यादव।

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *