कॉफी विद करण विवाद: सुनील गावस्कर ने हार्दिक पांड्या, केएल राहुल को घर भेजने के बीसीसीआई के फैसले का समर्थन किया

सुनील गावस्कर

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने बीसीसीआई के फैसले की सराहना की जिसमें बीसीसीआई ने केएल राहुल और हार्दिक पांड्या पर प्रतिबंध लगाया है और उन्हे ऑस्ट्रेलिया से सीधे स्वदेश वापस बुलाया है। बीसीसीआई द्वारा इन दोनो पर कॉफी विद करण पर महिलाओ के लिए अनुचित टिप्पणियो के लिए प्रतिबंध लगाया गया है। 82 सालो में ऐसा दूसरी बार हुआ है जब खिलाड़ियो को बीच दौरे से स्वदेश वापस बुलाया गया है।

शो में उनकी टिप्पणियों ने इस बात पर गर्म बहस छेड़ दी है कि क्या किसी भारतीय क्रिकेटर को इस तरह के शो में जाने की अनुमति दी जानी चाहिए। इससे भारतीय क्रिकेट और उसके ड्रेसिंग रूम का माहौल भी खराब हो गया है।

पहले वनडे मैच की समाप्ति के बाद सोनी सिक्स से बात करते हुए, गावस्कर ने इस मुद्दे पर विचार किया और बोर्ड के फैसले के साथ खड़े रहे। इस जोड़ी को न केवल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बल्कि न्यूजीलैंड के खिलाफ निम्नलिखित श्रृंखला के खिलाफ भी प्रतिबंध लगाया गया है।

गावस्कर ने कहा, ” यदि आप ऐसे काम करते है और अपनी टीम को विवाद में लाते है तो आपको टीम में रहने का कोई हक नही है। जांच तब स्थापित होगी जब आगे की कार्रवाई, यदि आवश्यक हो, तो उसे लेना होगा। उन्हें वापस आने के लिए कहा गया है और मेरा मानना ​​है कि यह सही कदम है क्योंकि आप टीम के साथ यात्रा करने वाले या एक ही कमरे में रहने वाले खिलाड़ियों को निलंबित नहीं कर सकते। उन्हे दूर रखा जाना चाहिए।”

उसी के साथ, भारतीय टीम को 3 वनडे मैचो की सीरीज के पहले मैच में हार का सामना करना पड़ा है। झाई रिचर्डसन और जेसन बेहरेनडॉफ ने पहले मैच में भारतीय टीम के छह विकेट चटकाए थे। जिसके बाद भारतीय टीम 289 रनो के लक्ष्य का पीछा करने में सफल नही हो पाई। इसी के साथ तीनो मैचो की सीरीज का पहला मैच जीतकर ऑस्ट्रेलियाई टीम ने सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here