बुधवार, जनवरी 22, 2020

सीरिया में तुर्की आक्रमकता के दूसरे दिन मृतकों की संख्या में इजाफा

Must Read

मायावती ने स्वीकर की गृहमंत्री शाह की चुनौती, कहा बसपा कहीं भी सीएए पर बहस को तैयार

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व एनआरसी को लेकर गृहमंत्री अमित...

टोक्यो ओलंपिक : पाल सिंह संधू को महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू से पदक की उम्मीद

भारोत्तोलन में भारत के पहले द्रोणाचार्य अवार्डी विजेता पाल सिंह संधू को उम्मीद है कि अनुभवी महिला वेटलिफ्टर साइखोम...

इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च का अनुमान, वित्त वर्ष 2021 में जीडीपी वृद्धि दर 5.5 फीसदी

इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च ने बुधवार को कहा कि उसे उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2021 में सकल घरेलू...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

सीरिया के उत्तरी पूर्वी इलाके में तुर्की की सेना के आक्रमण से करीब 16 कुर्दिश लड़ाको की मौत हो गयी है। तुर्की की सेना ने जमीनी आक्रमण को अंजाम दिया था जिसकी वैश्विक समुदाय में काफी आलोचनाये हो रही है। अधिकारिक आंकड़े सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने मुहैया किये थे।

न्यूयोर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक कुर्दिश के नेतृत्व में सीरियन डेमोक्रेटिव फोर्सेज के सदस्यों की तेल अब्याद और रास अल ऐन इलाको में मौत हो गयी थी। इस छह हमलावरों की पहचान नहीं की जा सकी है। तुर्की के आक्रमक हमले को शुरू करने से पहले अमेरिका ने इन इलाको से सैनिको को वापस बुला लिया था।

समूह ने बताया कि “एसडीएफ के 33 सदस्य बुरी तरह जख्मी हुए हैं।” तुर्की ने उत्तरी पूर्वी सीरिया में हमले की शुरुआत बुधवार को की थी और रविवार को डोनाल्ड ट्रम्प ने सीरिया की सरजमीं से अमेरिकी सैनिको को वापस बुलाने का निर्णय लिया था।

ओद्नाल्ड ट्रम्प ने तुर्की के अभियान को एक बुरा विचार बताया था और सह्तावनी दी कि अगर तुर्की ने कुछ भी हद से बाहर किया तो उसे आर्थिक सजा का सामना करना होगा। एनाडोलू न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक, रातके अँधेरे में तेल अब्याद में केनन से फायर की गयी थी।

थल सेना ने शहर को पार किया और गुरूवार को सुबह शहर के सभी सड़के सुनसान पड़ी थी। अपने अभियान का बचाव करते हुए तुर्की ने बुधवार को कहा कि “इस अभियान का मकसद हमारी सीमाओं पर सुरक्षा को सुनिश्चित करना है और अपनी अवाम की रक्षा करना है। उन्होंने कुर्दिश चरमपंथियों और इस्लामिक स्टेट के चरमपंथियों को खतरा बताया है।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

मायावती ने स्वीकर की गृहमंत्री शाह की चुनौती, कहा बसपा कहीं भी सीएए पर बहस को तैयार

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व एनआरसी को लेकर गृहमंत्री अमित...

टोक्यो ओलंपिक : पाल सिंह संधू को महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू से पदक की उम्मीद

भारोत्तोलन में भारत के पहले द्रोणाचार्य अवार्डी विजेता पाल सिंह संधू को उम्मीद है कि अनुभवी महिला वेटलिफ्टर साइखोम मीराबाई चानू आगामी टोक्यो ओलंपिक...

इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च का अनुमान, वित्त वर्ष 2021 में जीडीपी वृद्धि दर 5.5 फीसदी

इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च ने बुधवार को कहा कि उसे उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2021 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर...

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 : आचार संहिता उल्लंघन की 228 एफआईआर दर्ज, आप के खिलाफ फिर 13 मामले

दिल्ली में 8 फरवरी को विधानसभा चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से कराने में जुटे राज्य चुनाव मुख्यालय ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है। चुनाव...

जम्मू-कश्मीर : संभावित आतंकी हमलों के मद्देनजर गणतंत्र दिवस से पहले हाईअलर्ट

जम्मू-कश्मीर में गणतंत्र दिवस से पहले संभावित आतंकी हमलों की खुफिया सूचना के बाद से हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया है। सूत्रों ने कहा कि...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -