सफेद मूसली कैसे खाएं? खाने की विधि, खाने का तरीका, फायदे

सफेद मूसली एक प्रकार की औषधि है। सफेद मूसली को आयुर्वेद की दुनिया में चमत्कार माना जाता है। इसे इस्तेमाल करनें से पहले आप यह जान लें कि सफेद मूसली खाने की विधि क्या है?

सफेद मूसली एक प्रकार का पौधा है, जिसके भीतर सफेद छोटे फूल मौजूद होते हैं। यह बहुत सी बिमारियों के इलाज में कारगार साबित हुआ है। इसके अलावा इसे दुसरे पदार्थों के साथ मिलाकर भी औषधि तैयार की जाती है।

मुख्य रूप से सफेद मूसली का प्रयोग सेक्स सम्बन्धी रोगों के लिए किया जाता है। मर्दों में शुक्राणुओं की कमी होनें पर इसका प्रयोग किया जाता है।

सफेद मूसली पौधा
सफेद मूसली पौधा

इसके अलावा सफेद मूसली आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को भी मजबूत करती है, जिससे बाहरी रोगों से आपकी रक्षा होती है।

मूसली मर्दों में टेस्टोस्टेरोन नामक हार्मोन की मात्रा भी बढ़ाता है। इससे एड्रेनल नामक ग्रंथि अच्छे से कार्य करती है, जो शरीर के कई कार्यों के लिए जिम्मेदार होती है।

सफेद मूसली में पोषक तत्व (nutrients in safed musli in hindi)

सफेद मूसली पौधे की जड़ें कई प्रकार के पोषक तत्व से बनी होती हैं। उसमें से कुछ निम्न हैं:

  1. कार्बोहायड्रेट
  2. प्रोटीन
  3. सैपोनिन
  4. अल्कालॉयड
  5. फाइबर
  6. कैल्शियम
  7. पोटैशियम
  8. मैग्नीशियम

इसके अलावा मूसली की जड़ों में ग्लूकोस, सुक्रोज आदि भी पाए जाते हैं।

सफेद मूसली शरीर में विभिन्न क्रियाओं के सुचारू रूप से चलने को भी सुनिश्चित करता है। यह खून के बहने का भी संचालन करता है। इसके अलावा थकान के समय इसे लेने से थकान दूर होती है।

सफेद मूसली कैसे खाएं (how to eat safed musli in hindi)

सफेद मूसली की जड़ों को पीसकर उसका पाउडर बनाया जाता है। इसके बाद इसे विभिन्न तरीकों से बेचा जाता है।

सफेद मूसली खाने का तरीका कुछ भी हो सकता है। आप इसे सीधे पाउडर के रूप में ले सकते हैं, या फिर आप सफेद मूसली के कैप्सूल ले सकते हैं।

सफेद मूसली पाउडर खाने का तरीका
सफेद मूसली पाउडर

सफेद मूसली खाने का तरीका:

  • यदि आप सेक्स सम्बन्धी समस्याओं के लिए मूसली का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो आप रोजाना सुबह और शाम में एक-एक सफेद मूसली का कैप्सूल दूध के साथ ले सकते हैं।
  • इसके अलावा यदि आप पाउडर के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं, तो एक बार में आप 3 से 5 ग्राम मूसली का सेवन करें।

सफेद मूसली खाने के तरीके

विभिन्न लोगों के लिए सफेद मूसली खाने के तरीके अलग-अलग होते हैं:

विभिन्न लोगों के लिए सफेद मूसली खाने का तरीका निम्न है:
छोटे बच्चे  एक बार में 1 ग्राम से कम
बच्चे (13 -19 साल) 1.5 से 2 ग्राम
जवान (19 से 60 साल) 3 से 6 ग्राम
बुजुर्ग (60 साल से ज्यादा) 2 से 3 ग्राम
गर्भावस्था में 1 से 2 ग्राम
दूध पिलाने वाली माँ 1 से 2 ग्राम
अधिकतम खुराक 12 ग्राम (3-4 बार में)
कब लें: खाना खाने के 2 घंटे बाद

यदि सफेद मूसली लेते समय आपको भूख लगनी बंद हो जाती है, तो खुराक को उसे हिसाब से कम कर लें।

जैसा हमनें बताया कि सफेद मूसली को खाने का तरीका विभिन्न लोगों के लिए अलग है। कई लोग इसे जड़ी-बूटी के रूप में खाना पसंद करते हैं। कई लोग इसे मिठाई के रूप में खाते हैं, जिसे मूसली पाक भी कहते हैं।

कुछ लोग इसकी जड़ का रस निकालकर भी पीते हैं।

हमनें सफेद मूसली खाने की विधि तो जान ली। अब जानते हैं, कि लोग इसका सेवन इतना क्यों करते हैं? मूसली के फायदे क्या हैं?

सफेद मूसली के फायदे (safed musli benefits in hindi)

  • सफेद मूसली का सेवन करें थकान और कमजोरी में

सफेद मूसली आपकी थकान और कमजोरी दूर करती है।

मूसली को शक्कर के साथ लेने से शरीर में ताकत आती है और कमजोरी दूर भागती है।

इसके लिए रोजाना दिन में दो बार सफेद मूसली को शक्कर के साथ बराबर मात्रा में लें।

  • सफेद मूसली का प्रयोग वजन बढ़ाने में

सफ़ेद मूसली कमजोर शरीर को पोषकता प्रदान करती है और आपका वजन बढ़ाने में मदद करती है।

यदि आप वजन बढाने की कोशिश कर रहे हैं तो मूसली के पाउडर को दूध के साथ लें।

बहुत से लोगों में मूसली को पचाने की समस्या होती है। ऐसे में आप मूसली खाने का तरीका बदल सकते हैं। आप मूसली के पाउडर की जगह मूसली का रस पी सकते हैं।

इसके अलावा मूसली के प्रभाव को कम करने के लिए आप इसके साथ शहद मिलाकर भी ले सकते हैं।

  • सफेद मूसली के फायदे सेक्स-सम्बन्धी रोग में

अश्वगंधा की तरह ही सफेद मूसली भी आपकी सेक्स ड्राइव को बढ़ाकर आपकी निजी जिन्दगी को बेहतर बनाती है।

यह आपके गुप्तांगों में खून की मात्रा को बढ़ाती है, जिससे आप लम्बे समय तक उत्तेजित रह सकते हैं।

सफेद मूसली मर्दों में टेस्टोस्टेरोन की मात्रा को काफी हद तक बढ़ा देता है। यह हार्मोन बहुत से कार्यों में जरूरी होता है।

बेहतर परिणाम के लिए आप इसे अकरकरा के साथ लें।

  • सफेद मूसली डायबिटीज में

सफेद मूसली एक बेहतरीन औषधि है। इसमें डायबिटीज से लड़ने की क्षमता होती है। यदि एक दुबले-पतले व्यक्ति को डायबिटीज है, तो मूसली उसका इलाज करने में सक्षम होती है, लेकिन मोटे व्यक्ति में यह थोड़ा मुश्किल होता है।

यदि आपका वजन कम है, और आपको डायबिटीज है, तो आपको आधा चम्मच मूसली दूध से साथ रोजाना लेना चाहिए।

सफेद मूसली को दूध के साथ लेने से आपका रक्त चाप भी नियंत्रित होगा।

  • सफेद मूसली से माँ का दुध बढ़ता है

सफेद मूसली गर्भावस्था में लेने से महिला के प्राकृतिक दूध की मात्रा में बढ़त होती है।

इसके लिए इसे कुछ विशेष पदार्थों जैसे, गन्ना, जीरा आदि के साथ ही लेना चाहिए।

यहाँ एक बात का ध्यान रखें कि यदि आप गर्भ से हैं, तो आपको मूसली लेने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श करना होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि गर्भावस्था में आप पहले से ही कई दवाइयां लेते हैं, जिससे मूसली आपको नुकसान कर सकती है।

  • सफेद मूसली जोड़ों के दर्द में

सफ़ेद मूसली को अक्सर लोग शरीर में दर्द के लिए लेते आये हैं। इसका सेवन दर्द में, विशेषकर जोड़ों के दर्द में, बहुत लाभदायक होता है।

यदि आपको लगातार जोड़ों में दर्द है, तो आपको आर्थराइटिस हो सकता है। इसके लिए एक प्राकृतिक इलाज सफ़ेद मूसली है।

आपको बस रोजाना दूध के साथ आधा चम्मच सफेद मूसली लेना है।

  • सफेद मूसली शुक्राणु बढ़ाने में

शरीर में शुक्राणु की कमी से कई अन्य रोग हो सकते हैं। इसके अलावा इस स्थिति में पुरुष अपना आत्म-विश्वास खोने लगता है। ऐसे में वह कई इलाज खोजता है।

ऐसे स्थिति के लिए काफी समय से लोग सफेद मूसली का इस्तेमाल करते आये हैं।

सफ़ेद मूसली आपके शुक्राणु की मात्रा बढ़ाता है, इनकी गति तेज करता है और शुक्राणु को स्वस्थ बनाता है।

सफ़ेद मुसली खाने से जुड़े सवाल-जवाब

1. क्या सफेद मूसली को बॉडी बनाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है?
उत्तर: आप सफेद मूसली को जरूर बॉडी बनाने के लिए खा सकते हैं। यह आपकी मांसपेसियों को पढ़ाने में मदद करती है और आपके टिश्यू को मजबूत बनाती है।

2. सफेद मूसली का पाउडर या सफेद मूसली का कैप्सूल? कौनसा बेहतर है?
उत्तर: परिणाम के हिसाब से दोनों ही चीजें बेहतर हैं। इसके लिए आप ध्यान रखें कि आप अच्छी गुणवत्ता की दुकान से इसे खरीदें।

हालाँकि चिकित्सकों द्वारा सफेद मूसली के पाउडर को ज्यादा दिया जाता है।

3. क्या सफेद मूसली को अश्वगंधा के साथ लिया जा सकता है?
उत्तर: जैसा हमनें ऊपर बताया कि ये दोनों औषधियां सेक्स सम्बन्धी समस्याओं के लिए इस्तेमाल की जाती हैं।

आप अश्वगंधा और सफेद मूसली को खाने की विधि चिकित्सक से पूछ सकते हैं।

4. सफेद मूसली को खाने का सबसे अच्छा तरीका क्या है?
उत्तर: जैसा हमनें बताया कि सफ़ेद मूसली खाने के काफी तरीके हैं।

आप सफेद मूसली के पाउडर को दूध में मिलाकर ले सकते हैं।

इसके अलावा आप इसे शहद के साथ मिलाकर भी ले सकते हैं।

आप सफेद मूसली के कैप्सूल को भी दूध या पानी के साथ ले सकते हैं।

कहने का मतलब है कि सफेद मूसली को खाने के बहुत से तरीके हैं। यह आप पर निर्भर करता है कि आप क्या चुनते हैं?

48 टिप्पणी

  1. मेरा नाम बाल कृष्ण मिश्रा लखीमपुर खीरी उत्तर प्रदेश उम्र 34 मेरा वजन 50 किलो है मै वजन बडाना चाहता हू मेरी हाईट 5,9 इंच है

  2. main do saal se safed musli le raha hoon. ek vaidh ne safed musli ko doodh ke saath khaane ki salah dii thi. uske baad se main le rha hon. safed musli se kabhi kabhi sir mein drd ho jata hai jab main jyada le leta hoon to. nahin to iske bohot fayde hain. ye shrir ko majbot bana deti hai aur aanke bhi majboot ho jati hain. par safed musli ko pure hi kharednein. koi company ki na kharredein. patanjli ki bhi aa rahi hai aajkal vo bhi theek hai.

    • आप सफ़ेद मुस्ली को इन्टरनेट पर से भी मांगा सकते हिं एवं बाज़ार से भी ला सकते हैं दोनों जगह मूल्य में अन्तर आ सकता है।

    • सफ़ेद मूसली हमें अमेज़न पर लगभग 700 रूपए में 100 ग्राम मिलती है। आप यह अपने पास के स्टोर्स में भी चेक कर सकते हैं शायद वहां पर इसका मूल्य अलग हो।

  3. Sir main 20 year ka hun Mera sarir itna patla hai ki pant kamar per rukta hi nahin main bahut preshan hun mujhe esi koi dawa batao jisse Main fit ho jaun please sir main bahut pareshan hun mujhamain bajan 40kg hai only mai bajan bhadana chahta hun sir main u.p ke mathura district se hun

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here