Tue. Feb 27th, 2024
    श्रीलंका में सेना का सन्देश

    श्रीलंका में ईस्टर आतंकी हमले के बाद मुस्लिमों को निशाना बनाया जा रहा है और इससे हिंसक गतिविधियों ने इजाफा हो रहा है। सेना ने जनता से सोशल मीडिया पर सकारात्मक संदेशों को भेजे जैसे अन्य लोगो को बताये कि आतंकियों की हाथो की कठपुतली न बने और हमारे देशभक्त मुस्लिमों के साथ खड़े रहे।

    श्रीलंका की सेना ने ऐसे 20 संदेशों की सूची तैयार की है ताकि मुस्लिम विरोधी भावनाओं को  कम किया जा सके और अफवाहों को मात दी जा सके। सोमवार को मस्जिदों और मुस्लिमों की दुकानों पर हमला किया गया था और इसके बाद पूरे देश में कर्फ्यू लगा दिया गया था। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सेना को आंसू गैस के घोलने दागने पड़े थे।

    इसके बाद सोशल मीडिया और मैसेजिंग एप पर कुछ समय के लिए प्रतिबन्ध लगा दिया था क्योंकि फेसबुक के जरिये देश के कई हिस्सों में हिंसा भड़क रही थी।

    सेना के द्वारा जारी की गयी संदेशों की सूचि

    1. आतंकियों का एजेंडा सिंहलियों को मुस्लिमों पर हमला करने के लिए मज़बूर करना है।
    2. आतंकी अब बम देने के लिए सक्षम नहीं है क्योंकि सेना ने इस पर काबू कर लिया है।
    3. एक समुदाय को दुसरे समुदाय से भिड़वाने के लिए आतंकी अपनी मनमानी कर रहे हैं।
    4. आतंकियों का बाजा बनने से बेहतर होशियार बने।
    5. आतंकियों को परास्त करने का एकमात्र तरीका है, यह दिखाए कि आप हमारे समुदाय को तबाह नहीं कर सकते हैं।
    6. ज़हरान को कट्टनकुड़ी में स्थित सभी मुस्लिम कॉलेजो ने न कह दिया था और पूर्व में स्थित सभी मुस्लिम संगठनों ने उसे खारिज कर दिया था। इसलिए वह आईएस के पास चला गया और उनकी विचारधार उससे काफी मेल खायी थी।
    7.  यह एक चीज प्रदर्शित करता है कि श्रीलंका के मुस्लिम भाइयो और बहनो ने उससे मुंह मोड़ लिया था इसलिए उसे मध्य पूर्व की मदद के लिए जाना पड़ा था।
    8. क्यों आप ऐसा करते हैं, उनकी लोगो पर पत्थर फेंकते हैं, उन पर लाठियां उठाते हैं और हमला करते हैं जिन्होंने की आईएस की विचारधार को खारिज कर दिया था। क्या आप आतंकियों की मदद नहीं कर रहे हैं।
    9. होशियार बनिए।
    10. आतंकियों का पंजा मत बनिए। वे हमें विभाजित नहीं कर सकते हैं लेकिन समुदाय में फुट डालकर हमें विभाजित कर सकते हैं।
    11. उन्हें बौद्ध और ईसाई धर्म की भावनाओं को दिखाओं।
    12. अपने देशभक्त मुस्लिमों के साथ खड़े रहिये।
    13. किसी भी समूह द्वारा हमले या हमले की योजना को रोकिये।
    14. मुटुर में मुस्लिमों ने 54 सिंहली परिवारों को लिट्टे से बचाया था।
    15. हमारी सेना के इतर मुस्लिम भी आतंकवाद से लड़ रहे हैं।
    16. इस एकजुटता को राजनीतिज्ञों और आतंकवादियों द्वारा तोड़ने की अनुमति मत दीजिये।
    17.  हिंसा हमेशा हिंसा को ही उत्पन्न करती है।
    18. सिंहलियों की भावना यह है कि हम एकजुट होकर खड़े होंगे और आतंकवाद से अपने राष्ट्र की रक्षा करेंगे।
    19. सभी समुदाय इसे एकजुट होकर करे।
    20. समुदाय के सभी लोग इस वक्त अपने मुस्लिम भाइयो के साथ खड़े होकर आतंकवाद को शिकस्त दे सकते हो। आईएस हमें विभाजित नहीं कर सकता है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *