दा इंडियन वायर » अर्थशास्त्र » श्रमिक संघ : परिभाषा, प्रकार, कार्य, भारत में श्रमिक के क़ानून एवं विभिन्न श्रमिक संघ
अर्थशास्त्र

श्रमिक संघ : परिभाषा, प्रकार, कार्य, भारत में श्रमिक के क़ानून एवं विभिन्न श्रमिक संघ

मजदूर संघ

श्रमिक संघ क्या है? (trade union in hindi)

श्रमिक संघ जिसे लेबर यूनियन (labor union) या ट्रेड यूनियन (trade union) भी कहा जाता है ये ऐसे संघ होते हैं जो श्रमिकों के हितों के लिए कंपनियों एवं नियोक्ताओं से लड़ते हैं। अर्थात यदि किसी श्रमिक का कंपनी द्वारा शोषण किया जाता है तो ये संघ आगे आते हैं एवं उस कंपनी के खिलाफ कार्यवाही करते हैं।

श्रमिक संघ की परिभाषा (definition of trade union in hindi)

श्रमिक संघ ऐसा संगठन होता है जो सभी श्रमिकों के हितों का प्रतिनिधित्व करता है। मज़दूर संघ मज़दूरों को मज़दूरी, घंटे, फ़ायदों और अन्य कामकाजी परिस्थितियों से निपटने के लिए एकजुट करने में मदद करता है।

श्रमिक संघों के मुख्य कार्य (function of trade union in hindi)

मजदूर संघ के कार्य

एक श्रमिक संघ के मुख्य कार्य निम्न है :

  1. अपने सदस्यों के वेतन में सुधार करना।
  2. काम करने की स्थिति और इसके सदस्यों के काम करने के तरीकों में सुधार करना।
  3. इसके सदस्यों के प्रशिक्षण और पेशेवर विकास का समर्थन करना।
  4. यह सुनिश्चित करना कि नियोक्ता द्वारा लिया गया हर निर्णय श्रमिकों के हित में हो एवं उनका शोषण न किया जाये।

श्रमिक संघ के प्रकार (types of trade union in hindi)

श्रमिक संघों के मुख्यतः चार प्रकार होते हैं :

  1. सामान्य संघ
  2. औद्योगिक संघ
  3. शिल्प संघ
  4. सफेदपोश श्रमिक संघ

1. सामान्य संघ :

ये संघ कुशल और अकुशल श्रमिकों के लिए होते हैं जो विभिन्न उद्योगों (जैसे सफाई कर्मचारी, लिपिक कर्मचारी, परिवहन कर्मचारी) में विभिन्न कार्य करते हैं।

2. औद्योगिक संघ :

ये संघ एक ही उद्योग के विभिन्न श्रमिकों के लिए हैं (उदाहरण के लिए, नेशनल यूनियन ऑफ माइनर्स (N.U.M), जो पदानुक्रम में सभी स्तरों पर श्रमिकों के हितों की रक्षा करता है)।

3. शिल्प संघ

ये संघ ऐसे कुशल श्रमिकों के लिए होते हैं, जो अलग-अलग उद्योगों में समान कार्य करते हैं (जैसे संगीतकार)।

4. सफेदपोश श्रमिक संघ :

ये ‘व्हाइट-कॉलर’ (या पेशेवर) श्रमिकों के लिए हैं जो विभिन्न उद्योगों (जैसे शिक्षक, वैज्ञानिक) में समान कार्य करते हैं।

भारत में कुछ श्रमिक संघों के उदाहरण (trade unions in india in hindi)

  1. AICCTU – ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियंस (भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) लिबरेशन)
  2. AITUC – अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन कांग्रेस (भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी)
  3. AIUTUC  – ऑल इंडिया यूनाइटेड ट्रेड यूनियन सेंटर (सोशलिस्ट यूनिटी सेंटर ऑफ इंडिया (कम्युनिस्ट))
  4. BMS – भारतीय मजदूर संघ (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ)
  5. CITU  – भारतीय व्यापार संघ का केंद्र (भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी))
  6. HMS – हिंद मजदूर सभा (असम्बद्ध)
  7. INTUC – इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस (भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस)
  8. LPF  – लेबर प्रोग्रेसिव फेडरेशन (द्रविड़ मुनेत्र कड़गम)
  9. NFITU – भारतीय व्यापार संघों का राष्ट्रीय मोर्चा (अप्रभावित )
  10. SEWA – स्व रोजगार महिला संघ (असम्बद्ध)
  11. TUCC – ट्रेड यूनियन समन्वय केंद्र [स्वतंत्र]
  12. UTUC – यूनाइटेड ट्रेड यूनियन कांग्रेस (क्रांतिकारी सोशलिस्ट पार्टी)

इस लेख से सम्बंधित यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

About the author

विकास सिंह

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]