रॉबर्ट वाड्रा कांग्रेस के लिए लोकसभा चुनावों में करेंगे प्रचार, अरुण जेटली नें कसा तंज

रोबर्ट वाड्रा के ऊपर सवाल पूछने पर बोली प्रियंका गाँधी वाड्रा: ये सब चलता ही रहेगा, मैं अपना काम कर रही हूँ

कांग्रेस नेता प्रियंका गाँधी वाड्रा के पति रॉबर्ट वाड्रा नें आज मीडिया से कहा कि आने वाले चुनावों के प्रचार-प्रसार के लिए वे कांग्रेस का प्रचार करेंगे।

रॉबर्ट वाड्रा से जब पूछा गया था कि वे अमेठी या रायबरेली चुनाव का प्रचार करने के लिए जायेंगे, तो उन्होनें कहा कि वे जरूर जायेंगे।

रॉबर्ट वाड्रा नें आगे कहा कि जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी अमेठी के लिए नामांकन भरेंगे और सोनिया गाँधी रायबरेली के लिए नामांकन भरेंगे, तब वे उनके साथ उनके लोकसभा क्षेत्र में जायेंगे।

रॉबर्ट वाड्रा के इस बयान के बाद बीजेपी की ओर से अरुण जेटली नें बयान देते हुए कहा है कि यदि रॉबर्ट वाड्रा चुनाव प्रचार करते हैं, तो पता नहीं वे कांग्रेस का भला करेंगे या फिर बीजेपी का।

सात चरणों में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए वोट 11 अप्रैल से 19 मई के बीच डाले जायेंगे। 23 मई को वोटों की गिनती संपन्न होगी।

जाहिर है रॉबर्ट वाड्रा को अक्सर राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी वाड्रा के साथ चुनावी यात्राओं पर देखा जाता है। हाल के समय में खबर यह भी थी कि रॉबर्ट वाड्रा खुद राजनीती में आ सकते हैं।

रॉबर्ट वाड्रा ने संकेत दिए थे कि यदि उनके ऊपर लगे आरोप साफ़ हो जाते हैं, तो वे राजनीति में कदम रख सकते हैं।

जाहिर है वर्तमान में रॉबर्ट वाड्रा पर जमीन के भ्रष्टाचार से सम्बंधित मामला चल रहा है। रॉबर्ट वाड्रा पर आरोप है कि जब कांग्रेस पार्टी की सरकार थी, तब उन्होनें राजस्थान के बीकानेर में जमीन के एक टुकड़े को काफी कम कीमत पर खरीदना और कुछ ही समय में उस जमीन को कई गुना ज्यादा कीमत पर बेच दिया था।

रॉबर्ट वाड्रा पर पिछले कुछ सालों से यह मामला चल रहा है, लेकिन इसपर कोई फैसला अभी तक नहीं आया है।

हाल के समय में प्रवर्तन निदेशालय नें रॉबर्ट वाड्रा को कई बार पूछताछ के लिए बुलाया था। इस दौरान रॉबर्ट वाड्रा नें कहा था कि चुनावों से पहले नरेन्द्र मोदी सरकार इस मुद्दे को पकड़कर उनके परिवार को परेशां करना चाहती है।

प्रियंका गाँधी नें इस मामले में कहा था कि यह सब तो चलता रहेगा, लेकिन सरकार को जनता के मुद्दों का जवाब देना चाहिए।

हाल ही में राहुल गाँधी से भी रॉबर्ट वाड्रा को लेकर जब सवाल पूछा गया था तो उन्होनें कहा कि सरकार जिसकी जांच करना चाहे, वह कर सकती है, लेकिन उन्होनें कहा, सरकार को राफेल सौदे की भी जांच करनी चाहिए।

जाहिर है राहुल गाँधी नें लगातार राफेल को लेकर नरेन्द्र मोदी सरकार पर आरोप लगाये हैं कि इस डील के जरिये नरेन्द्र मोदी नें अपने मित्र अनिल अंबानी को 30,000 करोड़ रुपए का फायदा पहुँचाया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here