Tue. Apr 16th, 2024
    Rahul-Gandhi

    रिपोर्ट्स के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी आगामी लोक सभा चुनाव महाराष्ट्र के नांदेड़ से लड़ सकते हैं। हालांकि ये स्पष्ट नहीं है कि गाँधी कई सीटों पर लड़ेंगे या अपनी उत्तर प्रदेश की अमेठी सीट को छोड़ देंगे। रिपोर्ट्स में ये भी कहा गया है कि मध्य प्रदेश की एक और सीट पर विचार किया जा रहा है।

    कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया को बताया-“राहुल गाँधी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष हैं। वे सफलतापूर्वक किसी भी लोक सभा क्षेत्र से चुनाव लड़ सकते हैं। अगर वे नांदेड़ से चुनाव लड़ने का फैसला करते हैं तो उनका बहुत स्वागत है।”

    नांदेड़ को कांग्रेस का गढ़ माना जाता है इसलिए इस पर चुनाव लड़ने की संभावना है। पार्टी ने यहां हुए 20 लोकसभा चुनावों और उप-चुनावों में से 16 में जीत हासिल की है। 2014 में, चव्हाण ने वहाँ से चुनाव जीता था।

    यदि गांधी नांदेड़ से चुनाव लड़ते हैं, तो चव्हाण को इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव में समायोजित किया जा सकता है, जैसा कि पहले एक पार्टी की बैठक में उनके समर्थकों द्वारा आग्रह किया गया था।

    2011 की जनगणना के अनुसार, नांदेड़ जिले में लगभग 19 प्रतिशत आबादी अनुसूचित जाति (एससी) की है, लगभग 14 प्रतिशत मुस्लिम और 10 प्रतिशत बौद्ध हैं।

    तो आइये जानते हैं नांदेड़ ही क्यों?

    उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन बनने से, गाँधी के लिए कम संभावनाएं रह गयी हैं। उनके पास केवल अमेठी है मगर उसे जीत कर भी वे आस पास के क्षेत्रों में अपना प्रभाव नहीं बना पाएँगे। और वही दूसरी तरफ, अगर वे नांदेड़ से चुनाव लड़ते हैं तो उनका प्रभाव लातूर, यवतमाल-वाशिम, परभणी और हिंगोली में भी बढ़ जाएगा।

    इस बढ़ते प्रभाव से कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन मराठवाड़ा क्षेत्र में ज्यादा सीटें जीत पाएंगे और ये उन्हें सितम्बर-अक्टूबर में होने वाले विधानसभा चुनाव में भी मदद करेगा।

    निर्वाचन क्षेत्र कर्नाटक और तेलंगाना की सीमाओं को भी प्रभावित करता है, जहां वह 2014 से अपनी टैली में सुधार की उम्मीद कर रहा है।

    महाराष्ट्र इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

    महाराष्ट्र दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा लोक सभा सीटें रखता है जो है 48। अगर वहाँ ठीक-ठाक सीटें जीत भी ली तो इससे या तो भाजपा की अगुवाई वाली एनडीए की या कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए की केंद्र में सरकार बनाने की संभावना है।

    पिछले लोक सभा चुनावों में, वोट शेयर के मामले में, भाजपा को 27.56%, शिवसेना को 20.82%, कांग्रेस को 18.29% और एनसीपी को 16.12% वोट मिले थे।

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *