Sat. Feb 4th, 2023
    अरविंद केजरीवाल मंत्री

    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कल दिल्ली विधानसभा के तीन दिवसीय विशेष सत्र में संबोधित करते हुए केंद्र सरकार और उपराज्यपाल अनिल बैजल पर तोंप दागी।

    विधानसभा का सत्र समाप्त होने के बाद सोमवार शाम, अपने मंत्री मंडल के सहयोगी सतेन्द्र जैन, मनीष सिदोदिया, गोपाल राय के साथ सीएम केजरीवाल उपराज्यपाल से मिलने राजभवन पहुंचे।

    अरविन्द केजरीवाल, उपराज्यपाल से मुलाकात कर अपनी तीन मांगे मनवाना चाहते थे, लेकिन उपराज्यपाल ने मिलने के बाद भी समस्या का समाधान न निकलने पर, सीएम समेत तीन मंत्री राजभवन में ही हैं।

    इसके बाद, मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, गोपला राय और सतेन्द्र जैन, राज भवन में धरने पर बैठ गए हैं। इसबीच दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सतेन्द्र जैन ने अनशन पर बैठने की घोषण की हैं।

    आप सरकार की मुख्य मांगे:

    1. आयएएस अधिकारीयों की हड़ताल को खत्म किया जाए

    दिल्ली में पिछले चार महीनों से राज्य कैडर के सभी आयएएस अधिकारी आंशिक रूप से धरने पर हैं, जिससे सरकार के कामकाज पर असर हो रहा हैं।

    दिल्ली सरकार चाहती हैं, आयएएस अधिकारीयों के हड़ताल के विषय में एलजी अनिल बैजल हस्तक्षेप करें, जिससे हड़ताल वापिस लिए जाए और कामकाज सामान्यरूप से हो सकें।

    अगर आयएएस अधिकारी हड़ताल वापिस लेने पर राजी नहीं होते हो उनपर जरुरी क़ानूनी कार्रवाई की जाए।

    1. राशनवाली फाइल क्लियर की जाए

    आपको बतादे, आयएएस अधिकारी हड़ताल की वजह से दिल्ली सरकार की राशन से जुडी महत्वकांक्षी योजना का कामकाज रुक चूका हैं।

    दिल्ली सरकार गरीब और जरुरतमंदो के घर पर राशन पहुँचाना चाहती हैं, लेकिन एलजी और आयएएस अधिकारीयों की हड़ताल की वजह से योजना आगे नहीं बढ़ पा रही हैं।

    1. मोहल्ला क्लिनिक, सरकारी स्कूलों में पुताई व अन्य रुके हुए काम हैं, उन्हें जल्दी शुरू करवाया जाए।


    मुख्यमंत्री केजरीवाल और अन्य मंत्रीयों के धरने पर बैठने के बाद, दिल्ली पुलिस द्वारा उप-राज्यपाल के आधिकारिक निवास राजभवन की सुरक्षा में इजाफा किया गया हैं। आज आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद अन्जय सिंह और अन्य विधायक सीएम केजरीवाल के सर्थन में राजभवन के बाहर जमा हुए थे। एलजी ऑफिस द्वारा जारी बयान के अनुसार, धरना बिना किसी वजह के दिया जा रहा हैं।
    राजभवन को जानेवाले रस्ते पर पुलिस के तरफ से बैरिकेड लगा दिए गए हैं। राजभवन से कुछ ही दूर दूर स्थित मुख्यमंत्री आवास के बहार आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता इकट्ठा हुए हैं।

    By प्रशांत पंद्री

    प्रशांत, पुणे विश्वविद्यालय में बीबीए(कंप्यूटर एप्लीकेशन्स) के तृतीय वर्ष के छात्र हैं। वे अन्तर्राष्ट्रीय राजनीती, रक्षा और प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज में रूचि रखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *