Sat. May 18th, 2024
    myanmar journalist

    म्यांमार, 7 मई (आईएएनएस)| म्यांमार में जेल में बंद समाचार एजेंसी रायटर्स के दो पत्रकारों – वा लोन और क्याव सू ओ को राष्ट्रपति द्वारा माफी देने के बाद मंगलवार को रिहा कर दिया गया।

    बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, म्यांमार के नववर्ष के आस-पास राष्ट्रपति कैदियों की सजा माफ करते हैं। इसी के तहत हजारों अन्य कैदियों के साथ ही दोनों पत्रकारों को भी रिहाई मिल गई।

    यांगून के बाहरी इलाके में बनी जेल से रिहा होने के बाद वा लोन ने बीबीसी से कहा कि वे पत्रकारिता करने से कभी पीछे नहीं हटेंगे।

    लोन और सू ओ को ऑफिशियल सीक्रेट्स एक्ट का उल्लंघन करने का दोषी पाया गया था और पिछले साल सितंबर में उन्हें सात साल जेल की सजा सुनाई गई थी।

    उन्हें यह सजा तब दी गई थी जब इन्होंने साल 2017 में सरकारी सुरक्षा बलों द्वारा एक सैन्य अभियान के दौरान 10 रोहिंग्या मुस्लिमों को मारे जाने की रिपोर्टिग की थी।

    उन्हें जेल में डाले जाने की विश्व भर में निंदा की गई थी और इसे म्यांमार में प्रेस की आजादी पर हमला बताया गया था।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *