दा इंडियन वायर » मनोरंजन » “मीटू अभियान” का श्रेय मिलने पर बोली तनुश्री दत्ता: मेरे ऊपर कुछ भी निर्भर नहीं होना चाहिए
मनोरंजन

“मीटू अभियान” का श्रेय मिलने पर बोली तनुश्री दत्ता: मेरे ऊपर कुछ भी निर्भर नहीं होना चाहिए

तनुश्री दत्ता जिन्हे भारत में “मीटू अभियान” शुरू करने के लिए श्रेय दिया जाता है, अब वे वापस अमेरिका लौट रही हैं। उन्होंने दस साल पुरानी बात निकाल कर अभिनेता नाना पाटेकर पर योन उत्पीड़न का इलज़ाम लगाया था। उन्होंने कहा था कि फिल्म ‘हॉर्न ओके प्लीज‘ की शूटिंग के वक़्त नाना ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया था। और उनके इलज़ाम लगाने के बाद, कई महिलाओं ने सामने आकर नामी-गिरामी लोगों की असलियत सबके सामने दिखाने की हिम्मत जुटाई है। मगर दत्ता का कहना है कि ये अभियान उनपर निर्भर नहीं होना चाहिए।

न्यूज़ एजेंसी IANS से बात करते हुए उन्होंने बताया-“मेरे ऊपर कुछ भी निर्भर नहीं होना चाहिए क्योंकि जब एक इंसान की पहल पर ही सब निर्भर होता है तो वे बंध जाते हैं और अपने समय में स्वतंत्र रूप से नहीं पनपते हैं। मीडिया एक आम इंसान की जैविक यात्रा को हीरोइन बना रही है। मैं कर्ता नहीं हूँ बस एक नाली और बर्तन हूँ जिसके द्वारा समाज में कोई बदलाव और जागरूकता आएगी। एक तरीके में कहा जाये तो मुझे बदला लेना था उस घटना का जिसके कारण मैं अपने करियर में कई साल पीछे रह गयी।”

मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने अपनी अमेरिका में चल रही ज़िन्दगी के बारे में भी बताया-“मैं अब वहाँ रहती हूँ। मैं वैसे भी वापस जाने ही वाली थी। ये गलती से ज्यादा लम्बी छुट्टियाँ बन गयी और मैं फिर से वापस आ जाऊँगी। मैं अपने परिवार और बाकी हर चीज़ को बहुत याद करुँगी।”

तनुश्री दत्ता एक पूर्व ब्यूटी क्वीन हैं। उन्होंने ‘आशिक़ बनाया आपने’, ‘चॉकलेट:डीप डार्क सीक्रेट्स’, ‘स्पीड’, ‘ढोल’, ‘गुड बॉय बैड बॉय’ और ‘सास बहु और सेंसेक्स’ जैसी और भी फिल्मों में काम किया है। उन्हें आखिरी बार 2010 में आई फिल्म ‘अपार्टमेंट’ में देखा गया था।

About the author

साक्षी बंसल

पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!