Tue. Mar 5th, 2024
    #महिला दिवस क्यों मनाना: सोनम कपूर का पोस्ट कर देगा आपको सोचने पर मजबूर

    आज पूरी दुनिया जहाँ अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मना रही हिया उर महिलाओं को मिलने वाले असमान अधिकारों के ऊपर बात कर रही है तो सोनम कपूर ने अपने सोचने पर मजबूर कर देने वाले पोस्ट से समाज को आयना दिखाया है। अभिनेत्री जो आखिरी बार फिल्म ‘एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’ में दिखाई दी थी, उन्होंने समाज में चलने वाले हालातों के बारे में बात की और कुछ प्रासंगिक सवाल किये।

    सोनम ने लैंगिक असमानता के ऊपर बात की और उन मुद्दों को लेकर आई जो सबको पता हैं कि हैं मगर लोग उन्हें देहकर भी नज़ारअंदाज़ कर देते हैं। उन युवा लड़कियों को जिन्हें शिक्षा छोड़ने के लिए मजबूर किया जाता है से उन महिलाओं जिन्हें दैनिक आधार पर नाचीज़ समझा जाता हैं – सोनम ने यह सब लिखा। उन्होंने यह भी सवाल किया कि आज के दिन और उम्र में भी लैंगिक असमानता होने पर महिला दिवस क्यों होना चाहिए?

    उन्होंने कैप्शन में लिखा-“21 मिलियन ‘अवांछित’ लड़कियां हमारे देश में आर्थिक सर्वेक्षण 2018 के अनुसार पैदा हुई हैं। लैंगिक असमानता हमारी संस्कृति में इतनी गहराई से निहित है, यह देखना मुश्किल है कि यह सब कहां से शुरू हुआ। क्या यह बेटी पैदा होने से पहले था, जिसके साथ गर्भ पर भ्रूण हत्या का सवाल था? या जब वह एक किशोरी थी और उसके भाई स्कूल गए थे जबकि उसे घर रहकर घर का काम करने के लिए कहा गया था। उन महिलाओं के बारे में क्या जिन्हें अनदेखा किया गया है और वे अप्रसन्न हैं, केवल इसलिए कि वे कौन हैं? #WhyHaveWomensDay (#महिला दिवस क्यों मनाना)।”

    https://www.instagram.com/p/BuvJ0MulwIv/?utm_source=ig_web_copy_link

    अपने पहले पोस्ट के तुरंत बाद, सोनम ने एक और तस्वीर साझा की और इस बार वह पुँरनी गुलाबी तस्वीर थी। उन्होंने पूछा कि जबकि बदलाव प्रक्रिया में है और महिला अभिनेत्रियों को अब ऐसी भूमिकाएं मिल रही हैं जो उन्हें कुछ साल पहले नहीं मिली थीं, क्या यह पर्याप्त है।

    https://www.instagram.com/p/BuvM43ClO8M/?utm_source=ig_web_copy_link

    सोनम ने तब एक और तस्वीर पोस्ट की, जिसमें एक सफेद, उन महिलाओं के उदाहरण का हवाला देते हुए, जिन्होंने हर एक दिन ये साझा करते हुए इतिहास बनाया है कि उन्होंने युवा लड़कियों को अपने सपनों को हासिल करने के लिए प्रेरित किया है। उन्होंने फोटो को कैप्शन दिया-“इंद्रा नूई, मलाला युसेफ, शेरिल सैंडबर्ग, ओपरा विनफ्रे – ये कुछ ऐसी ही महिलाएं हैं, जिन्होंने रचा और आगे भी हर एक दिन इतिहास रचती रहेंगी। वे दुनिया की तमाम विषमताओं का अनुग्रह और दृढ़ संकल्प के साथ सामना करके हमें बता रही हैं कि दुनिया के हर क्षेत्र में महिलाओं के लिए एक जगह है और वह हमारे लेने के लिए हैं। युवा लड़कियों को प्रेरित करें और उन्हें वो हासिल करने में मदद करें जिनका उनका दिमाग है।”

    https://www.instagram.com/p/BuvSkEeFT0R/?utm_source=ig_web_copy_link

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *