दा इंडियन वायर » समाचार » महाराष्ट्र में फिर बढ़ रहा कोरोना, यूपी में सरकार एलर्ट
राजनीति समाचार स्वास्थ्य

महाराष्ट्र में फिर बढ़ रहा कोरोना, यूपी में सरकार एलर्ट

एक तरफ देश भर से जहां कोरोना को लेकर राहत भरी ख़बरें आ रही थीं, वहीं अब महाराष्ट्र और केरल में स्थिति सामान्य नहीं दिख रही। देश के कुछ राज्यों में लगातार कोरोना के केस बढ़ते जा रहे हैं। महाराष्ट्र और केरल इनमें सबसे ऊपर हैं। महाराष्ट्र में कोरोना की केस बढ़ने से हड़कंप मचा चुका है। सी एम उद्धव ठाकरे ने इसके चलते 8 दिन का अल्टीमेटम दिया है और वहां जल्द ही नाईट कर्फ्यू भी लगने वाला है। यदि परिस्थितियां सामान्य नहीं होती हैं तो संपूर्ण लॉकडाउन भी लगाया जा सकता है।

कुछ इलाकों में फरवरी के आखिरी दिनों तक के लिए स्कूल व कॉलेज पूरी तरह से बंद कर दिए गए हैं। बहुत से राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है और रात में 11:00 बजे से लेकर सुबह 6:00 बजे तक किसी भी तरह की आवाजाही पर रोक है। आपातकालीन सेवाओं के अलावा और किसी भी चीज के लिए बाहर आने जाने पर पाबंदी है। कोरोना वायरस के मामले महाराष्ट्र में लगातार तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। इसको देखते हुए बहुत सी इमारतों को भी सील किया गया है।

लोगों से एहतियात बरतने को कहा गया है। साथ ही ऐसे कार्यक्रमों, जिनमें भीड़ भाड़ हो सकती थी, उन सभी पर पाबंदी लगा दी गई है। उद्धव ठाकरे का कहना है कि यदि लोग मास्क नहीं पहनते और नियमों का पालन नहीं करते तो राज्य में कुछ समय के लिए संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जा सकता है। हालांकि महाराष्ट्र के कुछ इलाकों में संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जा चुका है।

इस तरह से बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार की चिंता बढ़ी हुई है। इसके अलावा पड़ोसी राज्यों को भी खौफ में जीना पड़ रहा है। मुंबई में एक दिन में 921 कोरोना के नए मामले सामने आए हैं। वही 11,446 लोगों ने कोरोना के कारण दम तोड़ दिया है। मुंबई मंडल में भी 1,678 नए कोरोना के मामले सामने आए हैं।

बढ़ते संक्रमण के चलते उत्तर प्रदेश में भी सरकार ने अलर्ट जारी कर दिया है। सरकार को अंदेशा है कि होली के त्यौहार के आसपास संक्रमण बढ़ने की संभावना हो सकती है। बहुत से राज्यों में कोरोना की दूसरी लहर देखे जाने के कारण उत्तर प्रदेश में भी अब अलर्ट जारी कर दिया गया है। यहां यदि कोई दूसरे राज्य से आता है, विशेषकर महाराष्ट्र, केरल व मध्य प्रदेश जैसे राज्यों से तो उस पर सरकार कड़ी नजर रखेगी। जो लोग हवाई जहाज या ट्रेन से राज्य में प्रवेश करेंगे उनके लिए अलग से दिशा निर्देश जारी किए जाएंगे।

संक्रमित शहरों से आने वाले लोगों को सेल्फ क्वारंटाइन होने की हिदायत दी गई है। देश में कोरोना के वेक्सीनेशन की प्रक्रिया जोरों पर है। 60 वर्ष के ऊपर के लोगों को अब टीकाकरण की शुरुआत की जाएगी। हालांकि ये टीका मुक्त होगा या नहीं इस पर संशय बरकरार है। उम्मीद की जा रही है कि पहले समूह को टीका मुफ्त लगाया जाएगा। उसके बाद दूसरे टीके के लिए लोगों को भुगतान करना होगा। देश भर में स्वास्थ्य कर्मियों को लगने वाले पहले चरण के टीकाकरण की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। किंतु कोरोना की दूसरी लहर को देखते हुए लोगों को अभी भी एहतियात बरतने की जरूरत है।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!