शनिवार, दिसम्बर 14, 2019

मसूद अज़हर के खिलाफ यूरोपीय संघ में जर्मनी लाएगा प्रस्ताव

Must Read

शाओमी ने पेटेंट में मोटोरोला रेजर जैसा फोल्डेबल फोन दिखाया

चाइना की स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी शाओमी ने मोटो रेजर की तरह बीच से फोल्ड होने वाले एक स्मार्टफोन...

खराब सड़कों के लिए सिर्फ राज्य सरकार दोषी नहीं : केरल मंत्री जी. सुधाकरन

केरल के मंत्री जी. सुधाकरन ने कहा है कि सड़कों की खराब हालत से जुड़े मुद्दों पर राज्य सरकार...

रिफ्रेश होने के लिए ब्रेक पर गए सैम बिलिंग्स

दक्षिण अफ्रीका के साथ होने वाली वनडे सीरीज के लिए नजरअंदाज किए जाने के बाद इंग्लिश बल्लेबाज सैम बिलिंग्स...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

यूरोपीय संघ में मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकी सूची में शामिल करने की पहल जर्मनी ने की है। हाल ही में चीन ने चौथी दफा संयुक्त राष्ट्रपत में मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकी घोषित करने में अड़ंगा लगाया था।

ANI के सूत्रों के मुताबिक जर्मनी इस बाबत ईयू के कई सदस्यों के साथ संपर्क में हैं।

28 सदस्यीय यूरोपीय संघ के सभी सदस्य इस प्रस्ताव का समर्थन कर रहे हैं। फ्रांस ने जैश ए मोहम्मद के संस्थापक और सरगना मसूद अज़हर की अपने देश में स्थित संपत्ति को जब्त करने का निर्णय लिया है। फ्रांस ने कहा कि वह मसूद अज़हर को यूरोपीय यूनियन की सूची में शामिल करने पर भी विचार कर रहा है, जिसमे आतंकवाद में संलिप्त संदिग्धों का नाम शामिल होता है।

फ्रांस नें कहा है कि पुलवामा में 14 फरवरी 2019 को एक आतंकवादी घटना हुई, जिसकी जिम्मेदारी पाकिस्तान में स्थित जैस-ए-मोहम्मद नें ली थी। यह संस्था संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित एक अंतराष्ट्रीय आतंकवादी संस्था है। फ्रांस आतंकवाद के खिलाफ भारत की लड़ाई में हमेशा भारत के साथ रहा है और रहेगा।

फ्रांस नें यह फैसला किया है कि वह राष्ट्रीय स्तर पर मसूद स्तर की संपती को जब्त करके उसके खिलाफ एक्शन लेगा। आतंरिक मंत्रालय और सम्बंधित सरकारी संस्थाओं नें यह फैसला लिया है।हम यह भी कोशिश करेंगे कि हम अन्य यूरोपीय देशों के साथ मिलकर मसूद अजहर को यूरोपीय देशों की आतंकवादी सूचि में उसका नाम जोड़ें।

मसूद अज़हर ने भारत में कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली थी। इस हमले में 40 सीआरपीएफ के जवानों की मृत्यु हुई थी। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में बुधवार देर रात को चीन ने वीटो का इस्तेमाल कर मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी की फेरहिस्त में शामिल होने से बचा लिया था।

यह चौथी दफा है जब चीन ने तकनीकी आधार पर प्रस्ताव को खारिज कर दिया हैं। इस मसौदे को यूएन के अन्य स्थायी सदस्यों ने प्रस्तावित किया था। इसमें अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस शामिल थे।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

शाओमी ने पेटेंट में मोटोरोला रेजर जैसा फोल्डेबल फोन दिखाया

चाइना की स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी शाओमी ने मोटो रेजर की तरह बीच से फोल्ड होने वाले एक स्मार्टफोन...

खराब सड़कों के लिए सिर्फ राज्य सरकार दोषी नहीं : केरल मंत्री जी. सुधाकरन

केरल के मंत्री जी. सुधाकरन ने कहा है कि सड़कों की खराब हालत से जुड़े मुद्दों पर राज्य सरकार को दोषी ठहराना उचित नहीं...

रिफ्रेश होने के लिए ब्रेक पर गए सैम बिलिंग्स

दक्षिण अफ्रीका के साथ होने वाली वनडे सीरीज के लिए नजरअंदाज किए जाने के बाद इंग्लिश बल्लेबाज सैम बिलिंग्स रिफ्रेश होने के लिए ब्रेक...

अपने 50 फीसदी सामान खुद ही पहुंचा रही अमेजन

दिग्गज कंपनी अमेजन अब वैश्विक स्तर पर अपने स्वयं के 50 फीसदी पैकेजों को विशेष रूप से शहरी क्षेत्रों में खुद ही पहुंचा रहा...

अगले जेम्स बॉन्ड बन सकते हैं इद्रिस : ज्यूडी डेंच

अभिनेत्री ज्यूडी डेंच का मानना है कि 'कैट्स' के सह कलाकार इद्रिस एल्बा शायद अगले जेम्स बॉन्ड बन सकते हैं। 'द ग्राहम नोर्टन शो'...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -