Mon. May 27th, 2024
    मनी लॉन्डरिंग मामले की सुनवाई: प्रियंका गाँधी वाड्रा ने अपने पति रोबर्ट वाड्रा को प्रवर्तन निदेशालय के पास किया ड्रॉप

    कारोबारी और प्रियंका गाँधी वाड्रा के पति रोबर्ट वाड्रा आज मनी लॉन्डरिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश हुए हैं। उन्हें दिल्ली कोर्ट द्वारा जाँच अधिकारियो का सहयोग करने के लिए कहा गया था, जब उन्होंने पिछले हफ्ते अग्रिम जमानत की मांग की थी। उन्हें 16 फरवरी तक समय दिया गया है।

    और दिलचस्प बात ये है कि उनकी पत्नी प्रियंका जिन्होंने हाल ही में, पूर्वी यूपी के महासचिव के रूप में सक्रीय राजनीती में कदम रखा है, उन्होंने वाड्रा को सेंट्रल दिल्ली ऑफिस के जाँच एजेंसी पर छोड़ा था। भाजपा ने बार बार गाँधी को उनके पति के खिलाफ लगे इल्जामो को लेकर निशाना बनाती आई है।

    प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दायर मामले में 1.9 मिलियन पाउंड (लगभग 17.60 करोड़ रुपये) की लंदन स्थित संपत्ति शामिल है, जो कथित रूप से वाड्रा के स्वामित्व में है। एजेंसी ने कोर्ट को यह भी बताया कि वाड्रा लंदन में अन्य संपत्तियों के मालिक हैं – जिनमें लगभग 9 मिलियन पाउंड (लगभग 83.40 करोड़ रुपये) के दो घर, छह अन्य फ्लैट और अन्य संपत्ति शामिल हैं।

    भाजपा के साम्बित पात्रा ने कहा-“ऐसे दिन आ गए हैं, जब उनके पास लंदन में केवल एक ही संपत्ति थी। अब यह आठ संपत्तियां हैं। प्रत्येक की कीमत 1.89 मिलियन पाउंड है।”

    यह सब – भाजपा ने आरोप लगाया कि जब यूपीए सत्ता में थी, तब उसे वित्त पोषित किया गया था। एक ई-मेल ट्रेल का हवाला देते हुए, पात्रा ने कहा कि फण्ड उन्हें कंपनियों की एक श्रृंखला से मिला जो ‘काले धन को सफेद’ में बदल देती है

    उनके मुताबिक, “2019 का लोक सभा चुनाव, भ्रष्टाचारी और नरेंद्र मोदी सरकार की पारदर्शिता के बीच की लड़ाई होगा।”

    यह भी आरोप हैं कि वाड्रा को भूपिंदर हुड्डा के अधीन हरियाणा सरकार से संपत्ति के मामले में अनुचित एहसान मिला।

     

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *