मध्य प्रदेश: योगी आदित्यनाथ के “अली बनाम बजरंगबली” बयान से खफा मुस्लिम नेताओं ने भाजपा को कहा अलविदा

योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार के दौरान दिए गए “अली बनाम बजरंगबली” बयां से खफा मध्य प्रदेश भाजपा के कई मुस्लिम नेताओं ने भगवा पार्टी को अलविदा कह दिया।

जिनलोगों ने पार्टी से इस्तीफ़ा दिया है उनके नाम है भाजपा राउनगर के उपाध्यक्ष सोनू अंसारी, महाराणा प्रताप मंडल के उपाध्यक्ष डेनिश अंसारी, मंडल उपाध्यक्ष अमन मेनन, इंदौर भाजपा के अल्पसंख्यक सेल के सदस्य अनीस खान और रियाज़ अंसारी।

पार्टी की सदस्यता से इस्तीफ़ा देने वाल्लोए इस बात से दुखी थे कि जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विकास को केन्द्रित कर चुनाव प्रचार कर रहे थे तब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने धर्म को बीच में खींच लिया।

मीडिया से बात करते हुए राज्य भाजपा अल्पसंख्यक सेल के उपाध्यक्ष नासिर शाह ने कहा “मैंने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को कई पत्र लिखे और राज्य प्रमुख राजेश सिंह ने उन्हें राय के लोगों की भगवानों और पार्टी कार्यकर्ताओं के नजरिये से अवगत कराया।”

पार्टी कार्यालय के अन्य सीनियर कार्यकर्ता इरफ़ान मंसूरी ने भी समान मत प्रकट किया। उन्होंने कहा कि पार्टी की कई कल्याणकारी योजनायें है जिससे हमें वोट मिल सकता है जैसे लाडली लक्ष्मी योजना, तीर्थ दर्शन योजना, प्रधानमंत्री आवासीय योजना।  इस योजनाओं से सभी धर्म और समुदाय के लोगों को फायदा पहुंचा है।

पार्टी छोड़ने वाले अमन मेनन का कहना है कि “हम चार साल तक कड़ी मेहनत करते हैं लेकिन ऐसी टिप्पणियां हमें समुदाय से अलग करती हैं। योगी आदित्यनाथ के बयां के बाद हम अपने समुदाय से नजरें नहीं मिला सकते तो वोट कैसे मांगे? ऐसी स्थिति में हम पार्टी का साथ और नहीं दे सकते।”

गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ ने राऊ में एक रैली के कांग्रेस नेता कमलनाथ के बयां पर पलटवार करते हुए कहा था “उन्हें अली मुबारक, हमारे पास बजरंग बली हैं।”

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here