शुक्रवार, दिसम्बर 6, 2019

मध्य प्रदेश: योगी आदित्यनाथ के “अली बनाम बजरंगबली” बयान से खफा मुस्लिम नेताओं ने भाजपा को कहा अलविदा

Must Read

बंगाल दुष्कर्म-हत्या पीड़िता के परिजनों ने तेलंगाना पुलिस की प्रशंसा की

हैदराबाद की एक पशु चिकित्सक युवती से सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या करने के चार आरोपियों के...

हैदराबाद टी-20 : भारत ने वेस्टइंडीज को बल्लेबाजी के लिए बुलाया

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने यहां राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में शुक्रवार को खेले जा रहे पहले...

देश में 2025 तक 6.99 करोड़ हो जाएंगे मधुमेह रोगी : केंद्र सरकार

केंद्र सरकार का मानना है कि देश में मधुमेह इतनी तेजी से फैल रहा है कि आने वाले पांच...
आदर्श कुमार
आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार के दौरान दिए गए “अली बनाम बजरंगबली” बयां से खफा मध्य प्रदेश भाजपा के कई मुस्लिम नेताओं ने भगवा पार्टी को अलविदा कह दिया।

जिनलोगों ने पार्टी से इस्तीफ़ा दिया है उनके नाम है भाजपा राउनगर के उपाध्यक्ष सोनू अंसारी, महाराणा प्रताप मंडल के उपाध्यक्ष डेनिश अंसारी, मंडल उपाध्यक्ष अमन मेनन, इंदौर भाजपा के अल्पसंख्यक सेल के सदस्य अनीस खान और रियाज़ अंसारी।

पार्टी की सदस्यता से इस्तीफ़ा देने वाल्लोए इस बात से दुखी थे कि जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विकास को केन्द्रित कर चुनाव प्रचार कर रहे थे तब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने धर्म को बीच में खींच लिया।

मीडिया से बात करते हुए राज्य भाजपा अल्पसंख्यक सेल के उपाध्यक्ष नासिर शाह ने कहा “मैंने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को कई पत्र लिखे और राज्य प्रमुख राजेश सिंह ने उन्हें राय के लोगों की भगवानों और पार्टी कार्यकर्ताओं के नजरिये से अवगत कराया।”

पार्टी कार्यालय के अन्य सीनियर कार्यकर्ता इरफ़ान मंसूरी ने भी समान मत प्रकट किया। उन्होंने कहा कि पार्टी की कई कल्याणकारी योजनायें है जिससे हमें वोट मिल सकता है जैसे लाडली लक्ष्मी योजना, तीर्थ दर्शन योजना, प्रधानमंत्री आवासीय योजना।  इस योजनाओं से सभी धर्म और समुदाय के लोगों को फायदा पहुंचा है।

पार्टी छोड़ने वाले अमन मेनन का कहना है कि “हम चार साल तक कड़ी मेहनत करते हैं लेकिन ऐसी टिप्पणियां हमें समुदाय से अलग करती हैं। योगी आदित्यनाथ के बयां के बाद हम अपने समुदाय से नजरें नहीं मिला सकते तो वोट कैसे मांगे? ऐसी स्थिति में हम पार्टी का साथ और नहीं दे सकते।”

गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ ने राऊ में एक रैली के कांग्रेस नेता कमलनाथ के बयां पर पलटवार करते हुए कहा था “उन्हें अली मुबारक, हमारे पास बजरंग बली हैं।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

बंगाल दुष्कर्म-हत्या पीड़िता के परिजनों ने तेलंगाना पुलिस की प्रशंसा की

हैदराबाद की एक पशु चिकित्सक युवती से सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या करने के चार आरोपियों के...

हैदराबाद टी-20 : भारत ने वेस्टइंडीज को बल्लेबाजी के लिए बुलाया

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने यहां राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में शुक्रवार को खेले जा रहे पहले टी-20 मैच में टॉस जीतकर...

देश में 2025 तक 6.99 करोड़ हो जाएंगे मधुमेह रोगी : केंद्र सरकार

केंद्र सरकार का मानना है कि देश में मधुमेह इतनी तेजी से फैल रहा है कि आने वाले पांच वर्षो में मुधमेह रोगियों की...

हितों के टकराव के कारण पूर्व क्रिकेटरों को बोर्ड में लाना मुश्किल : सौरभ गांगुली

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री और उनके बीच विवादों की खबरों को सिरे से...

‘किसी भी बलोच को जबरन पाकिस्तानी नहीं बनाया जा सकता’: बलूचिस्तान नेशनल पार्टी (मेंगल)

पाकिस्तान में सत्तारूढ़ इमरान सरकार को नेशनल एसेंबली में अपनी सहयोगी बलोच पार्टी, बलोचिस्तान नेशनल पार्टी-मेंगल के तीखे तेवरों का सामना करना पड़ा। पार्टी...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -