Sun. Jun 23rd, 2024
    rajnath singh

    देश में दोबारा से असहिष्णुता की गूँज के बीच केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि पूरी दुनिया में भारत से ज्यादा सहिष्णुता और कहीं नहीं है।

    लखनऊ में किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज की 114 वें स्थापना दिवस समारोह में शामिल होने आये राजनाथ सिंह ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा “जिस तरह की सहिष्णुता हमारे देश में है, मुझे नहीं लगता है वैसी सहिष्णुता पूरी दुनिया में कहीं और होगी।”

    उन्होंने कहा भारत एकलौता ऐसा देश है जहाँ विभिन्न धर्म, समुदाय, भाषा के लोग रहते हैं और सभी भारत को मजबूत बनाने की दिशा में काम करते हैं। और कई सालों से एक साथ रह रहे हैं।

    ये भी पढ़ें: इमरान खान की आलोचना पर नसीरुद्दीन शाह ने लगाई फटकार, अपने मुल्क पर ध्यान दें

    राजनाथ सिंह का बयान फिल्म अभिनेता नसीरुद्दीन शाह के उस बयान के बाद आया है जिसमे उन्होंने कहा था कि उन्हें इस देश में डर लगता है।

    नसीरुद्दीन के बयान के बाद देश में नए सिरे से असहिष्णुता पर बहस शुरू हो गई। जहाँ कुछ लोगों ने नसीर के बयान का समर्थन किया वहीँ सत्ता पक्ष की तरफ से नसीरुद्दीन की काफी आलोचना की गई।

    हालाँकि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान जब नसीरुद्दीन शाह के समर्थन में आये तो देश की सभी पार्टियों ने इमरान को अपने मुल्क पर ध्यान देने की सीख दी। खुद नसीरुद्दीन शाह ने इमरान खान को फटकार लगाई।

    गृहमंत्री ने साइबर निगरानी के सवाल पर कहा कि ये बिलकुल गलत आरोप है कि सरकार लोगों की जासूसी करना चाहती है। सरकार ने कहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा की स्थिति में कुछ जांच एजेंसियां जांच कर सकती है। उन्होंने कहा कि ये आदेश 2009 में तत्कालीन यूपीए सरकार ने दिया था।

    उत्तर प्रदेश के 4 टुकड़े करने के सवाल पर कहा कि इसकी कोई संभावना दूर दूर तक नहीं है। उन्होंने कहा जनसँख्या को कभी बोझ नहीं मानना चाहिए। जनसँख्या हमारी श्रम शक्ति है और ये हम पर निर्भर है कि हम किस प्रकार इसका इस्तेमाल करते हैं।

    ये भी पढ़ें: इमरान खान के बयान पर भारतीय नेताओं की कड़ी प्रातक्रिया, अपने मुल्क पर ध्यान देने की दी नसीहत 

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *