Thu. Feb 9th, 2023
    रविशंकर प्रसाद

    केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को कहा कि आगामी क्रिकेट विश्व कप में पाकिस्तान के बहिष्कार की मांग करने वाले लोग कुछ हद तक “उचित” हैं क्योंकि पुलवामा आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के बीच चीजें सामान्य नहीं हैं।

    तीन दशक में यह जम्मू-कश्मीर का घाटी पर सबसे बड़ा हमला था जहां 40 जवान शहीद हो गए थे। जिसके बाद यह मांग की जा रही है कि 30 मई से शुरू होने वाले विश्वकप में भारत को पाकिस्तान के खिलाफ मैच नही खेलना चाहिए।

    भारत और पाकिस्तान के बीच 16 जून को ओल्ड-ट्रैफर्ड में मैच खेलना है अगर दोनो टीम आगे क्वालिफाई करती है तो दोनो टीम नॉकआउट स्टेज में भी एक दूसरे के आमने-सामने आ सकती है।

    केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इंडिया टुडे से बात करते हुए कहा, ” मैं (क्रिकेट के मुद्दों पर) कोई टिप्पणी नहीं कर सकता, सिवाय इसके कि जो लोग इसकी मांग कर रहे हैं उनका कुछ औचित्य है। आप कई फिल्में देख सकते हैं और संगीत कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं क्योंकि चीजें पहले की तरह सामान्य नहीं हैं।”

    हालांकि, उन्होंने मैच का बहिष्कार करने के लिए कुछ नही बोला और परहेज किया और कहा कि यह स्थिति का आकलन करने और तदनुसार कॉल लेने के लिए बीसीसीआई और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद तक है।

    उन्होने कहा, “चूंकि यह एक अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट है, आईसीसी और हमारे भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को हमारे सुरक्षा प्रतिष्ठान के साथ विचार करने के बाद कॉल करना होगा।”

    उन्होंने कहा, “मैं उनकी चिंता को दूर नहीं करना चाहता। यह कहने का समय नहीं है। श्री इमरान खान के पास शहीद हुए जवानो के लिए शोक शब्द नहीं था,” उन्होंने मंगलवार को पाकिस्तान के प्रधान मंत्री के संबोधन का उल्लेख किया, जिसमें उन्होंने मांग की थी हमले में पाकिस्तान की संलिप्तता से इनकार करते हुए भारत की ओर से कार्रवाई योग्य साक्ष्य है।”

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *