Sat. Dec 10th, 2022
    भारतीय चीन सीमा डोकलाम

    भारत और चीन के बीच करीबन 70 दिन चला सीमा विवाद अब ख़तम हो गया है। इसके बाद भी डोकलाम को लेकर तीनों देशों के बीच दुविधा बनी हुई है। चीन ने डोकलाम पर भूटान के साथ बात करने के लिए मना कर दिया है।

    जाहिर है डोकलाम छेत्र सालों से विवादित छेत्र माना जा रहा है। जहाँ भूटान और भारत डोकलाम को एक विवादित छेत्र मानते हैं, वहीँ चीन के मुताबिक यह उसका इलाका है। इसको लेकर भारतीय सेना और चीनी सेना में कई मर्तबा झड़प भी हुई है। हाल ही में दोनों देशों के बीच डोकलाम को लेकर करीबन 70 दिनों तक तनातनी बनी हुई थी। हालाँकि बाद में दोनों देशों ने बातचीत से इसे सुलझा लिया है। भूटान विदेश मंत्रालय ने दोनों देशों के इस फैसले की सराहना की।

    इसके बाद भारत और भूटान का मानना है कि चीन और भूटान बैठकर इस समस्या का हल निकालें। लेकिन लगता है कि चीन का इरादा कुछ और ही है। हाल ही में भूटान के साथ होने वाली द्विपक्षीय बातचीत को चीन ने ठुकरा दिया है। इसके बाद देखना यही होगा कि चीन इसपर अगली प्रतिक्रिया क्या करता है। भारत ने हालाँकि साफ़ कर दिया है कि इस इलाके में कोई रोड नही बनाई जायेगी। इसके बाद चीनी सैनिक और भूटान की सेना यहाँ पर मिलकर निगरानी कर सकती है।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।