Fri. May 24th, 2024
    भाजपा ने माँगा कैलाश मानसरोवर यात्रा के दौरान चीन के नेताओं के साथ राहुल गाँधी की मुलाकात का विवरण

    राहुल गांधी पर “चीनी प्रचारक” के रूप में काम करने का आरोप लगाते हुए, भाजपा ने शुक्रवार को उनसे कैलाश मानसरोवर यात्रा के दौरान चीन के मंत्रियों और अधिकारियों के साथ अपनी बैठक का पूरा विवरण देने के लिए कहा और सवाल किया कि उन्होंने भारत सरकार को सूचित क्यों नहीं किया।

    गांधी पर भाजपा का हमला तब हुआ जब कांग्रेस अध्यक्ष ने ओडिशा में एक बैठक में कहा कि चीनी मंत्रियों ने पिछले साल अगस्त-सितंबर में यात्रा के दौरान उन्हें बताया था कि उनके देश में रोजगार सृजन कोई समस्या नहीं है।

    गांधी ने कहा-“जब मैं कैलाश गया था, तो मैं उनके कुछ मंत्रियों से मिला था और उन्होंने कहा था कि चीन में रोजगार सृजन कोई समस्या नहीं है।”

    भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि उनकी पार्टी ने गाँधी की चीनी अधिकारियों के साथ हुई मुलाकात पर सवाल उठाया था जब वे पवित्र यात्रा पर गए थे मगर कांग्रेस ने दावो को खारिज करते हुए कह दिया था कि वह निजी यात्रा पर थे।

    पात्रा ने संवाददाताओं को बताया-“कैलाश मानसरोवर यात्रा एक बहाना था। वह इन मंत्रियों से मिलने गए थे। राहुल गाँधी कोई साधारण नागरिक नहीं हैं। उन्होंने क्यों विदेश मंत्रालय को सूचना नहीं दी? भारतीय दूतावास को क्यों नहीं रखा गया? हम उनकी बातों का विवरण जानना चाहते हैं।”

    कांग्रेस अध्यक्ष लगातार चीन के बारे में बात करते रहते हैं, उन्होंने सवाल किया-“वह एक चीनी प्रचारक की तरह क्यों व्यवहार कर रहे हैं? वे चीन के बारे में बोलते रहते हैं।”

    प्रेसर में, पात्रा ने इस बात पर भी कांग्रेस पर हमला किया, जब इसके वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने विभिन्न एजेंसियों के अधिकारियों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इशारे पर काम करने के लिए तैयार होने के लिए चेतावनी दी, ताकि उनके राजनीतिक विरोधियों को निशाना बनाया जा सके। ये कदम उन्होंने हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के निवास पर शुक्रवार को सीबीआई की रेड पड़ने के बाद उठाया।

    भाजपा नेता ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस के अधिकारियों को ‘धमकियां’ जारी की और विपक्षी पार्टी की मानसिकता को दिखाया।

    “कांग्रेस का मानना है कि उसके नेता भ्रष्टाचार के हकदार हैं और उनकी जांच नहीं की जानी चाहिए,” उन्होंने कहा कि इस तरह के खतरे संविधान के प्राचार्यों के खिलाफ हैं।

    जब उनसे आरएसएस पर गांधी के हमले के बारे में सवाल किया गया, तो पात्रा ने कहा कि कांग्रेस नेता ‘आरएसएस-फ़ोबिया’ से ग्रस्त हैं और इसलिए वह आश्चर्यचकित हैं कि कही हिंदुत्व संगठन ही तो कारण नहीं है जिसकी वजह से उन्होंने अपनी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा को उत्तर प्रदेश पूर्व के लिए अपनी पार्टी का महासचिव नियुक्त किया।

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *