बुधवार, अक्टूबर 16, 2019

प्रधानमंत्री किसान स्कीम से अबतक हुए 2.18 करोड़ किसान लाभान्वित

Must Read

महिला फुटबाल : भारत ने जीता सैफ अंडर-15 महिला चैंपियनशिप खिताब

थिम्पू (भूटान), 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारतीय महिला फुटबाल टीम ने यहां बांग्लादेश को पेनल्टी शूटआउट में 5-3 से हराकर...

भाजपा नेता निरहुआ ने पुष्पेंद्र एनकांउटर की सीबीआई जांच कराने की मांग

लखनऊ, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। भाजपा नेता व भोजपुरी फिल्म अभिनेता दिनेश लाल यादव निरहुआ ने पुष्पेंद्र यादव एनकाउंटर मामले...

मप्र में हवाएं सिहरन पैदा कर रहीं

भोपाल, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल सहित राज्य के कई हिस्सों में बुधवार की सुबह से...
विकास सिंह
विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

प्रधानमंत्री किसान योजना स्कीम पर हाल ही में एक आधिकारिक स्टेटमेंट जारी की गयी है जिसके इस स्कीम के शुरू होने से अब तक के समय में कुल 2.18 करोड़ किसान लाभान्वित हो चुके हैं। इस स्कीम में कुल 4366 रूपए खर्च किये जा चुके हैं।

पूरी रिपोर्ट :

गुरूवार को जारी की गयी रिपोर्ट के अनुसार गुजरात, आंध्र प्रदेश और उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में इस स्कीम को लागू किया जा चूका है। यूपी में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 फरवरी को योजना शुरू की थी वहां अब तक 2,000 से 74.7 लाख किसानों को पहली किस्त का भुगतान किया है, एपी ने 32.2 लाख किसानों को वितरित किया है और गुजरात ने अब तक 25.6 लाख किसानों को लाभ पहुंचाया है।

ऊपर दी गयी रिपोर्ट में आप इस स्कीम के परिणाम देख सकते हैं यहाँ दिखाया गया है की राज्यों में कितने किसान लाभान्वित हुए है और कुल कितना वित्त खर्च किया गया है।

प्रधानमंत्री स्कीम की जानकारी :

यूनियन बजट में घोषित की गयी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में ग्रामीण अर्थव्यवस्था और किसानों को तरजीह दी है। किसानों के लिए सीधी राहत की घोषणा करते हुए सरकार ने 2 हेक्टेयर जमीन वाले किसानों को सालाना 6 हजार रुपये की मदद दिए जाने का एलान किया है। किसानों को यह रकम सीधे उनके खाते में दी जाएगी।

हालांकि सरकार ने अपनी घोषणा में कहा की ऐसे किसान जो भूतपूर्व या वर्तमान में संवैधानिक पद धारक हों, वर्तमान या पूर्व मंत्री, मेयर या जिला पंचायत अध्यक्ष, केंद्र या राज्य सरकार में अधिकारी एवं 10 हजार से अधिक पेंशन पाने वाले किसानों हैं, इन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। इसके अतिरिक्त पेशेवर डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, आर्किटेक्ट, जो कहीं खेती भी करता हो उसे इस लाभ का हकदार नहीं माना जाएगा।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

महिला फुटबाल : भारत ने जीता सैफ अंडर-15 महिला चैंपियनशिप खिताब

थिम्पू (भूटान), 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारतीय महिला फुटबाल टीम ने यहां बांग्लादेश को पेनल्टी शूटआउट में 5-3 से हराकर...

भाजपा नेता निरहुआ ने पुष्पेंद्र एनकांउटर की सीबीआई जांच कराने की मांग

लखनऊ, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। भाजपा नेता व भोजपुरी फिल्म अभिनेता दिनेश लाल यादव निरहुआ ने पुष्पेंद्र यादव एनकाउंटर मामले की जांच सीबीआई से कराने...

मप्र में हवाएं सिहरन पैदा कर रहीं

भोपाल, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल सहित राज्य के कई हिस्सों में बुधवार की सुबह से आंशिक बादल छाए हुए हैं...

उप्र में धूप खिली, मौसम शुष्क रहने के असार

लखनऊ , 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश की राजधानी व आस-पास के क्षेत्रों में चटक धूप खिली हुई है। मौसम विभाग के अनुसार, राज्य...

देश में 18 फीसदी बढ़ी गायों की आबादी : 20वीं पशुणना

नई दिल्ली, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। देशभर में गायों की आबादी में 2012 के बाद तकरीबन 18 फीसदी की वृद्धि हुई है। पशुगणना की हालिया...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -