Sun. Apr 14th, 2024
    praksah jha pariksha

    फिल्म निर्माता प्रकाश झा, जिनकी अगली फिल्म का नाम ‘परीक्षा’ है, कहती है कि दुर्भाग्य से, शिक्षा पर भारतीय चुनावों में कभी ध्यान नहीं जाता।

    पारीक्षा एक रिक्शा चालक के बारे में है जो हर सुबह संपन्न घरों से बच्चों को एक प्रसिद्ध निजी अंग्रेजी स्कूल में ले जाता है, और सपने देखता है कि क्या वह कभी भी अपने बच्चे को वह अवसर दे सकता है। वह इस खोज में एक खतरनाक रास्ते पर निकल जाता है।

    जो खुद पॉलिटिक्स में रहा है, क्या उन्हें लगता है कि साक्षरता और शिक्षा के विषय की ओर इस चुनाव के मौसम में पर्याप्त ध्यान दिया गया है।

    झा ने आईएएनएस को बताया कि, “दुर्भाग्य से, शिक्षा के विषय पर चुनावों के दौरान कभी ध्यान नहीं दिया गया।”

    वर्तमान में उनकी फिल्म में, आदिल हुसैन, प्रियंका बोस, संजय सूरी और शुभम झा प्रमुख भूमिका में हैं।

    फिल्म का विषय शहरी-ग्रामीण विभाजन को उजागर करता है।

    लेकिन झा ने कहा कि, “शहरी-ग्रामीण अंतर से ज्यादा, यह उपलब्धि और अनुपलब्धि के बारे में है। इस बारे में भी कि आज कैसे वंचितों ने अच्छी शिक्षा के मूल्य को समझना शुरू कर दिया है जो उन्हें अवसर प्रदान करेगा और उन्हें उस नारकीय जीवन से बाहर निकालेगा जिसे वे जीने के लिए मजबूर हैं।”

    pariksha prakash jha
    स्रोत: ट्विटर

    ‘परीक्षा’ जैसी कहानी की तुलना इरफान खान-स्टारर “हिंदी मीडियम” की से की जा सकती है, जिसकी पहले से ही एक अगली कड़ी बन रही है।

    हालांकि, झा ने बताया कि “हिंदी मीडियम” अलग इरादों और मापदंडों के साथ बनाई गई थी।

    उन्होंने कहा की, “परीक्षा” सपने और आकांक्षाओं के बारे में है और एक पिता अपने बच्चे के सपने को साकार करने के लिए खतरनाक रास्ता अपनाता है। एक ऐसा रास्ता जो सब कुछ नष्ट कर सकता है।”

    इसके साथ ही प्रकाश झा, अनुराग कश्यप की फिल्म ‘सांड की आँख’ में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

    यह भी पढ़ें: अंधाधुन बॉक्स ऑफिस चीन: 373.50 करोड़ की शानदार कमाई करने के साथ ‘बाजीराव मस्तानी’ और ‘उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक’ को छोड़ा पीछे

    By साक्षी सिंह

    Writer, Theatre Artist and Bellydancer

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *