सोमवार, जनवरी 20, 2020

पाकिस्तान विशाल तेल और गैस भंडार को ढूंढने की कगार पर है: इमरान खान

Must Read

इंटरनेट पर सर्वाधिक सर्च किए गए क्रिकेटर विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी

कप्तान विराट कोहली दिसंबर-2015 से लेकर दिसंबर-2019 तक इंटरनेट पर सबसे ज्यादा सर्च किए गए क्रिकेटर रहे हैं। उनके...

मुजफ्फरपुर आश्रय गृह : ब्रजेश ठाकुर का था राजनीति में दखल, तत्कालीन समाज कल्याण मंत्री को देना पड़ा था इस्तीफा

बिहार के बहुचर्चित मुजफ्फरपुर आश्रय गृह मामले में दिल्ली की एक अदालत ने सोमवार को अहम फैसला सुनाते हुए...

रणजी ट्रॉफी : उपेंद्र यादव के ‘दोहरे’ शतक से उत्तर प्रदेश का विशाल स्कोर

उपेंद्र यादव (नाबाद 203) के बेहतरीन दोहरे शतक के दम पर उत्तर प्रदेश ने यहां वानखेड़े स्टेडियम में खेले...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

पाकिस्तान अरब सागर में विशान तेल और गैस भंडार की खोज कर रहा है जो उनकी अर्थव्यवस्था के लिए काफी महत्वपूर्ण होगा। इमरान खान ने उम्मीद जताई कि इसकी खोज से नकदी संकट से जूझ रहे देश की सारी आर्थिक दिक्कते समाप्त हो जाएगी।

डॉन के मुताबिक इमरान खान ने कहा कि “मैं दुआ करता हूँ कि पाकिस्तान को उसका प्राकृतिक भंडार एक पर्याप्त मात्रा में मिल जाए। हमारी उम्मीदे और आशायें एक्सानमोबिलेड सहता संघ से जुड़ी हुई है। इसमें पहले ही तीन हफ्तों की देरी हो चुकी है, लेकिन कंपनी की तरफ से आये संकेतों के मुताबिक संभानाएं हैं कि हम जल्द ही जल का बहुत विशाल भंडार की खोज करने में कामयाब हो जायेंगे। अगर ऐसा होता है तो पाकिस्तान की सारी समस्याएं हल हो जाएँगी।”

अखबारों के सम्पादकों और पत्रकारों के समूह से बातचीत करते हुए इमरान खान ने ऑफशोर ड्रिलिंग प्रक्रिया की जानकारी साझा नहीं की है। साथ ही एक्सॉनमोबिल और इंटरनेशनल आयल एक्सप्लोरेशन कंपनी ने कोई आधिकारिक शब्द नहीं कहे हैं जो इस प्रक्रिया में जनवरी से शामिल है।

इटली की ईएनआई हुए अमेरिका की एक्सॉनमोबिल संयुक्त रूप से पाकिस्तान के अरब सागर में गैस के भण्डार की खोज कर रहे हैं। इस्लामिक चरमपंथियों की हिंसा के कारण एक दशक पूर्व कई पश्चिमी कंपनियां यहां से वापस लौट गयी थी। एक्सॉनमोबिल करीबन एक दशक बाद वापस पाकिस्तान लौटी है क्योंकि सर्वे के मुताबिक पाकिस्तान के जलीय इलाके में विशाल तेल भण्डार होने की संभावनाएं है।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को भरोसा है कि विशाल तेल भण्डार की खोज से पाकिस्तान की अधिकतर समस्याओं का समाधान हो जायेगा और मुल्क की प्रगति कही पर नहीं रुकेगी।

इमरान खान ने कहा कि “आर्थिक स्थिरता को बरकरार रखना सबसे बड़ी चुनौती है। मित्र देशों चीन, यूएई और सऊदी अरब, की सहायता से सरकार ने हालातों में सुधार किया है। अब आईएमएफ भी संतुष्ट है कि हम सही दिशा की तारा बढ़ रहे हैं।”

पाकिस्तान ने सऊदी अरब और यूएई से एक-एक अरब डॉलर की राशि हासिल की है। पाकिस्तानी अधिकारियों के मुताबिक आर्थिक संकट से उभरने के लिए इस्लामाबाद को आठ अरब डॉलर की रकम की जरुरत है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

इंटरनेट पर सर्वाधिक सर्च किए गए क्रिकेटर विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी

कप्तान विराट कोहली दिसंबर-2015 से लेकर दिसंबर-2019 तक इंटरनेट पर सबसे ज्यादा सर्च किए गए क्रिकेटर रहे हैं। उनके...

मुजफ्फरपुर आश्रय गृह : ब्रजेश ठाकुर का था राजनीति में दखल, तत्कालीन समाज कल्याण मंत्री को देना पड़ा था इस्तीफा

बिहार के बहुचर्चित मुजफ्फरपुर आश्रय गृह मामले में दिल्ली की एक अदालत ने सोमवार को अहम फैसला सुनाते हुए एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ)...

रणजी ट्रॉफी : उपेंद्र यादव के ‘दोहरे’ शतक से उत्तर प्रदेश का विशाल स्कोर

उपेंद्र यादव (नाबाद 203) के बेहतरीन दोहरे शतक के दम पर उत्तर प्रदेश ने यहां वानखेड़े स्टेडियम में खेले जा रहे रणजी ट्रॉफी के...

पाकिस्तान : नवाज शरीफ का नाम ईसीएल से हटाने की याचिका पर लाहौर हाईकोर्ट में सुनवाई टली

लाहौर हाईकोर्ट (एलएचसी) ने सोमवार को पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का नाम एक्जिट कंट्रोल लिस्ट (ईसीएल) से हटाने की मांग करने वाली...

भारत दौरे के बाद पाकिस्तान पहुंची अमेरिकी राजनयिक एलिस वेल्स

दक्षिण एशियाई मामलों के लिए अमेरिका की मुख्य राजनयिक एलिस वेल्स भारत और श्रीलंका का अपना दौरा पूरा करने के बाद रविवार को चार...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -