सोमवार, अक्टूबर 14, 2019

पतंजलि त्रिफला चूर्ण के फायदे, लाभ, प्राइस

Must Read

एनएसए का पाकिस्तान को संदेश : युद्ध कभी फायदेमंद नहीं होता

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि कोई...

जम्मू एवं कश्मीर में आतंक को पाकिस्तान से आर्थिक मदद : एनआईए

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद...

जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद को पाकिस्तान कर रहा आर्थिक मदद : एनआईए (संशोधित)

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस) राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद...
पंकज सिंह चौहान
पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

त्रिफला चूर्ण अनेक आयुर्वेदिक औषधियों में से एक है जिसका उपयोग अनेक रोगों के उपचार में किया जाता है। त्रिफला चूर्ण को लोग कई बिमारियों के इलाज के लिए लेते हैं। यदि आपको कोई बिमारी नहीं है, फिर भी आप त्रिफला चूर्ण ले सकते हैं।

पतंजलि त्रिफला चूर्ण बाजार में अन्य त्रिफला चूर्णों में से एक है। पतंजलि का त्रिफला चूर्ण भी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है।

इस लेख में हम पतंजलि त्रिफला चूर्ण के फायदे और इससे जुड़ी अन्य जानकारी आपको देंगे।

पतंजलि त्रिफला चूर्ण के फायदे

  • पतंजलि त्रिफला चूर्ण रक्तचाप नियंत्रित करे

पतंजलि त्रिफला चूर्ण एंटी-स्पैस्मोडिक गुणो से परिपूर्ण होता है जो रक्तचाप के स्तर को सामान्य बनाता है और ब्लड प्रेशर बढनें से शरीर की रक्षा करता है।

त्रिफला चूर्ण के सेवन से रक्तचाप की दर को मजबूत बनाया जा सकता है जिससे हृदयघात जैसे घातक रोग से बचने में सहायता मिलती है।

इसके लिए डॉक्टर से परामर्श लेने के बाद नियमित रूप से इसका इस्तेमाल करें।

  • पतंजलि त्रिफला चूर्ण पाचन संबंधी क्रियाओं के लिए

पतंजलि का त्रिफला चूर्ण पाचन सम्बन्धी समस्याओं के लिए एक अचूक औषधि है।

त्रिफला चूर्ण पाचन संबंधी क्रियाओं को सुचारु रूप से चलाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है तथा दस्त, कब्ज एवं अन्य पाचन संबंधी समस्याओं से निजात दिलाता है।

सोने से पहले या सुबह ख़ाली पेट नियमित रूप से एक चम्मच पतंजलि त्रिफला चूर्ण का सेवन करना अत्यंत लाभदायक होता है जोकि गैस की बीमारी को दूर करता है।

यदि आपको कब्ज की बीमारी है तो आपको रोज रात में दो चम्मच त्रिफला चूर्ण का गर्म पानी के साथ सेवन करना चाहिए।

  • पतंजलि त्रिफला चूर्ण बालों के लिए

पतंजलि का त्रिफला चूर्ण बालों की समस्याओं के लिए भी फायदेमंद है। यदि आपके बाल तेज़ी से झड़ रहे हैं तो त्रिफला चूर्ण आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है।

त्रिफला चूर्ण को पानी में मिलायें। इस को आप पी भी सकते हैं और बालों की जड़ों में लगा भी सकते हैं।

दोनों से ही आपके बाल झड़ने की समस्या से राहत मिलेगी।

कई लोग इस चूर्ण को शैम्पू में भी मिला कर बालों में लगाते हैं।

  • पतंजलि त्रिफला चूर्ण सांस की बदबू दूर करे

यदि आपको साँस की बदबू की समस्या है तो पतंजलि त्रिफला चूर्ण का सेवन आपको लाभ पहुँचा सकता है। इसके लिए आपको आधा चम्मच त्रिफला चूर्ण और शहद एक साथ लेना होगा।

इसके अतिरिक्त आप गर्म पानी में 1 चम्मच पतंजलि त्रिफला चूर्ण और एक चम्मच नमक मिलाकर क़ुल्ला भी कर सकते हैं। यह दोनों ही साँस की बदबू को दूर करते हैं।

आप रोजाना सुबह ब्रश करने के बाद त्रिफला चूर्ण का सेवन करें।

  • पतंजलि त्रिफला चूर्ण मधुमेह में उपयोगी

त्रिफला चूर्ण के सेवन से मधुमेह से छुटकारा पाया जा सकता है। इसके लिए आप रोजाना नियमित रूप से पतंजलि के त्रिफला चूर्ण का इस्तेमाल करें।

त्रिफला चूर्ण कोशिकाओं द्वारा इंसुलिन की खपत के स्तर को मजबूत बनाता है जिससे हमें अतिरिक्त इंसुलिन शॉट्स लेने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

आयुर्वेद के डॉक्टर भी इस बिमारी में त्रिफला चूर्ण की सलाह देते हैं।

पतंजलि त्रिफला चूर्ण के नुकसान

सीधे तौर पर तो पतंजलि त्रिफला चूर्ण के कोई नुकसान नहीं हैं, लेकिन यदि इसका सेवन सलाह के बिना या ज्यादा मात्रा में किया जाए, तो इसके कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

पतंजलि त्रिफला चूर्ण के कुछ नुकसान निम्न हैं:

  • पतंजलि त्रिफला चूर्ण से वजन घट सकता है

जो लोग त्रिफला चूर्ण का सेवन पेट साफ करने जैसी चीज़ों के लिए करते हैं और वे मोटे नहीं हैं तो उनके लिए त्रिफला चूर्ण का सेवन निराशाजनक हो सकता है क्योंकि यह तेज़ी से वज़न को घटाता है।

त्रिफला चूर्ण पेट की सफ़ाई करता है जिससे कि हानिकारक तत्व नष्ट हो जाते हैं।

इस प्रक्रिया में यह आपका वजन घटाता है किन्तु यदि आपका वजन पहले से ही कम है तो आपको त्रिफला चूर्ण के सेवन को तुरंत बंद कर देना चाहिए।

पतंजलि त्रिफला चूर्ण के सेवन करने वाले लोगों से भी ऐसी शिकायतें आ चुकी हैं।

  • पतंजलि त्रिफला चूर्ण के नुकसान नींद में

अधिक मात्रा में या असमय पतंजलि त्रिफला चूर्ण का इस्तेमाल किया गया, तो इससे आपकी नींद में खलल पड़ सकती है।

त्रिफला चूर्ण के अत्यधिक सेवन से लोगों को अक्सर अनिद्रा की शिकायत हो जाती है। यह स्वाभाविक सी बात है कि जब हम किसी समस्या के निवारण के लिए किसी वस्तु पर निर्भर हो जाते हैं तो हमारा शरीर उस वस्तु का आदी हो जाता है। और धीरे धीरे उस वस्तु का असर लगभग खत्म ही हो जाता है।

इस प्रकार उसके दुष्प्रभाव कुछ समय बाद सामने आना शुरू हो जाते हैं और व्यक्ति नयी नयी समस्याओं से घिर जाता है।

पतंजलि त्रिफला चूर्ण का प्राइस मूल्य

पतंजलि त्रिफला चूर्ण को कई मात्रा में बेचती है। आप 50 ग्राम, 100 ग्राम, 200 ग्राम आदि के डब्बे में त्रिफला चूर्ण खरीद सकते हैं।

पतंजलि त्रिफला चूर्ण की कीमत 125 रूपए से शुरू होती है, और यदि आपको बड़ी मात्रा में चाहिए, तो आपको 300 रूपए से ज्यादा खर्च करने पड़ेंगे।

पतंजलि त्रिफला चूर्ण से सम्बंधित किसी भी सवाल या सुझाव को आप नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

- Advertisement -

16 टिप्पणी

  1. mera naam amul hai. main bahut patla hoon. mera vajan sirf 54 kilo hai. main vajan badhana chahta hoon. iske liye kya mujhe patanjli trifla churn khana chahiye?

    yadi haan, to iska sevan kaise karna hai. aap mujhe 8876214619 par phone kar sakte hain.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

एनएसए का पाकिस्तान को संदेश : युद्ध कभी फायदेमंद नहीं होता

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि कोई...

जम्मू एवं कश्मीर में आतंक को पाकिस्तान से आर्थिक मदद : एनआईए

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद को पाकिस्तान द्वारा सीधे आर्थिक...

जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद को पाकिस्तान कर रहा आर्थिक मदद : एनआईए (संशोधित)

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस) राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद को पाकिस्तान द्वारा सीधे आर्थिक...

बीसीसीआई प्रमुख की जिम्मेदारी संभालना बहुत बड़ी चुनौती : गांगुली

मुंबई, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का अगला अध्यक्ष बनने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।...

भारतीय फुटबाल की टैलेंट फैक्टरी है चेन्नइयन एफसी (फीचर)

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। चेन्नइयन एफसी के खिलाड़ी किसी भी हाल में बीते सीजन को याद नहीं करना चाहेंगे। वे डिफेंडिंग चैम्पियंस थे,...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -