दा इंडियन वायर » राजनीति » पंजाब निकाय चुनावों में बीजेपी को लगा झटका, कांग्रेस ने दर्ज की एतिहासिक जीत
राजनीति समाचार

पंजाब निकाय चुनावों में बीजेपी को लगा झटका, कांग्रेस ने दर्ज की एतिहासिक जीत

देशभर में पिछले ढाई महीनों से चल रहे व्यापक और उग्र हैं किसान आंदोलन के बीच पंजाब में निकाय चुनाव हुए। इन चुनावों में बीजेपी को तगड़ा झटका लगा है। कृषि कानूनों का विरोध करने वालों में सबसे ज्यादा लोग पंजाब से ही थे। और कांग्रेस व आप इस आंदोलन में किसानों को अपनी तरफ करने की पूरी कोशिश कर रही थी।

कांग्रेस ने इन चुनावों में बढ़ चढ़कर सीटें हासिल की हैं। इसे इस तरह से भी देखा जा रहा है कि पंजाब की सामान्य जनता बीजेपी से खासी नाराज है। इसका अंदेशा बहुत पहले ही लगाया जा रहा था, लेकिन अब इसके परिणाम दिखने भी शुरू हो गए हैं। स्थानीय निकायों में कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और अकाली दल के बीच कड़ी टक्कर थी। भाजपा भी मैदान में थी लेकिन कुछ खास कमाल नहीं कर पाई।

117 शहरों के निकाय चुनाव के लिए वोट हुए थे, जिनकी वोटों की गिनती की जा रही थी और शुरुआत से ही लग रहा था कि कॉंग्रेस अच्छी खासी स्थिति में आ सकती है और हुआ भी यही है। कांग्रेस ने बड़ी जीत दर्ज की है। 109 नगर परिषदों में से 63 पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की है। अकाली दल 8 और आम आदमी पार्टी 2 सीटों पर ही जीत दर्ज करा पाई है। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर पंजाब में जीत पर खुशी जताई है और बीजेपी पर भी तंज कसा है।

पंजाब कांग्रेस ने ट्विटर पर लिखा है कि पंजाब के लोगों ने बीजेपी और अकाली दल के मुंह पर करारा तमाचा लगाया है उन्होंने बीजेपी पर अन्नदाता के सम्मान से खेलने का आरोप लगाया है। ये चुनाव ऐसे समय में हुए जब पूरे देश में किसानों का गुस्सा बीजेपी पर भड़का हुआ था और पंजाब के किसान इसमें सबसे ज्यादा संख्या में शामिल हुए थे और तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे थे। ऐसे में बीजेपी का इस तरह से हारना पंजाब की जनता की बीजेपी के प्रति नाराजगी को साफ दिखा रहा है।

कपूरथला, मोहाली, होशियारपुर, अबोहर, मोगा, पठानकोट, बटाला के निगमों में 2302 वार्ड और 109 नगर परिषदों के लिए चुनाव हुए थे, जिसमें कुल 9222 उम्मीदवारों ने भाग लिया था। हालांकि पंजाब में कांग्रेस की सरकार है और निकाय चुनावों में अधिकतर जिस की सरकार होती है उसी का वर्चस्व देखा जाता है। लेकिन फिर भी एक तरीके से बीजेपी के लिए इसे एक इशारे के तौर पर देखा जा रहा है।

बठिंडा में पिछले 50 साल से ज्यादा वक्त से एक भी कांग्रेस का मेयर नहीं बना था। पहली बार अब जाकर पहला मेयर कांग्रेस का भटिंडा में बनेगा। इसके लिए पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने ट्वीट करके कांग्रेस को शुभकामनाएं दी है और कहा है कि आज इतिहास बना है। साथ ही भटिंडा के लोगों का धन्यवाद भी उन्होंने किया है। कांग्रेस ने 8 में से 6 नगर निगमों में जीत हासिल कर ली है। इस तरह देखा जा रहा है कि कांग्रेस का पक्ष पंजाब में मजबूत हो रहा है। कांग्रेस इस जीत को लेकर काफी उत्साहित है। काफी लंबे समय के बाद कांग्रेस को इतने बड़े स्तर पर जीत मिली है। कांग्रेस के तमाम बड़े नेता ट्वीट कर इस जीत पर खुशी जता रहे हैं।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!