Fri. May 24th, 2024
    निर्मला सीतारमण

    राफेल डील” का मुद्दा दिन पे दिन गरमाये जा रहा है। हर दिन विपक्ष, केंद्र सरकार को “राफेल डील” के कारण घेरे में ले रही है। मगर केंद्र सरकार भी इसका पलटवार देने में पीछे नहीं है। अभी शुक्रवार को रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक रिपोर्टर से बात करते हुए कहा कि अगर राहुल गाँधी को “राफेल डील” के बारे में इतनी जानकारी चाहिए तो उस वक़्त के रक्षा मंत्री ‘एके एंटनी’ से पूछे।

    उनके मुताबिक, “अगर वे पूर्व रक्षा मंत्री ‘एके एंटनी‘ से ‘राफेल डील’ को हासिल करने की प्रक्रिया पर बातचीत करेंगे तो वे समझ जाएंगे। मगर उनका इरादा इसे समझने का नहीं है। उनका इरादा सिर्फ इस डील को लेकर लोगो को भटकाना है। तो वे जहा जहा भी जा रहे हैं, इस मुद्दे को उठाकर लोगो को भटका रहे हैं। मगर लोग उनके कहने से पथभ्रष्ट नहीं होंगे। हमने 36 राफेल खरीदने का फैसला बिना किसी वापसी के लिया है।”

    उन्होंने ये भी कहा कि जितनी पारदर्शिता रक्षा मंत्रालय में अब है उतनी उस वक़्त(कांग्रेस राज्य में) डील करते वक़्त नहीं थी। जब उनसे इस डील के बारे में और सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि ये मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में पेंडिंग है और वो अभी इसके बारे में बात नहीं कर सकती।

    उन्होंने आगे बात करते हुए कहा कि एनडीए सरकार हमेशा से इस महान रक्षा डील के बारे में सही जानकारी देती आयी है और आगे भी देती रहेगी। मध्य प्रदेश चुनाव में कांग्रेस के पास कोई चुनावी मुद्दा नहीं हैं इसलिए वे बार बार “राफेल” का मुद्दा उठा रही है।

    जब उनसे इस डील को लेकर एक और सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि ये एक राष्ट्रीय मुद्दा भी नहीं है।

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *