विराट कोहली या रोहित शर्मा नहीं, धोनी विश्व कप में भारत के लिए सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी होंगे- एमएसके प्रसाद

एमएस धोनी
bitcoin trading

भारत टीम ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड का दौरा कर 11 हफ्ते बाद देश वापस लौट रही है। मेन इन ब्लू टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो सीरीज पर कब्जा किया तो वही न्यूजीलैंड के खिलाफ 5 एखदिवसीय मैचो की सीरीज में सबसे बड़ी सीरीज जीत दर्ज की। हालांकि, टीम इंडिया न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज जीतने में असफल रही। सीरीज के अंतिम और निर्णायक टी-20 में टीम को 4 रन से हार का सामना करना पड़ा। दोनो दौरो पर भारतीय टीम के लिए जो सबसे सकारत्मक चीज जो रही वह एमएस धोनी की फॉर्म थी। अनुभवी विकेटीकपर बल्लेबाज को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अच्छी बल्लेबाजी के लिए मैन ऑफ द सीरीज से नवाजा गया था, उसके बाद न्यूजीलैंड दौरे पर भी उन्होने अपने बल्ले से शानदार प्रदर्शन किया है।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 3 एकदिवसीय मैचो की सीरीज में धोनी ने अपने बल्ले से 193 रन मारे थे। जिसमें वह आखिरी के दो मैचो में टीम के लिए नाबाद रहकर मैच विजेता पारी खेलने में सक्षम थे। न्यूजीलैंड दौरे की बात करे तो उन्होने दूसरे एकदिवसीय मैच में 33 गेंदो में 48 रन की नाबाद पारी खेली। जिसके बाद अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज चोट के कारण अगले दो मैच नही खेल पाए। उसके बाद फाइनल एकदिवसीय मैच में वह केवल 1 रन ही बना पाए थे।

37 साल के धोनी ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टी-20 मैच में 39 और दूसरे मैच में नाबाद 20 रन का पारी खेली थी। धोनी आखिरी टी-20 मैच में जल्द आउट हो गए थे लेकिन इन दोनो दौरो पर उनकी कई अच्छी पारिया थी जिससे मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद बहुत खुश है।

प्रसाद ने कहा धोनी ने यह निर्णय ले लिया है कि वह अपने प्राकृतिक अंदाज में खेलेंगे और जिस प्रकार धोनी ने बल्लेबाजी की है धोनी उसी के लिए जाने जाते है। एमएसके प्रसाद ने आगे कहा धोनी आगे आईपीएल भी खेलेंगे जिससे उनके खेल में और सुधार आएगा।

एमएसके प्रसाद ने ईएसपीएन क्रिकइंफो से बात करते हुए कहा, ” जिस प्रकार धोनी ने पिछली दो सीरीज में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला है, उस से यह साफ संदेश मिल गया है कि वह अब अपने प्राकृतिक अंदाज के साथ खेलेंगे। यह वह धोनी है जिसके लिए वह जाने जाते है। हम बहुत खुश होंगे अगर वह ऐसी पारिया आगे भी खेलेंगे। कुछ समय पहले, शायद मैच के समय की कमी के कारण, वह शायद कम रन बना पाए। लेकिन अब जब वह लगातार खेल रहे हैं, तो आप एक बार फिर उनका स्पर्श देख सकते हैं।”

प्रसाद ने आगे कहा धोनी 2019 विश्वकप के लिए मेन इन ब्लू टीम के सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी है और वह अपनी लीडरशिप कौशलता से विराट कोहली का भी मार्गदर्शन करेंगे। वह अपनी कौशलताओ से युवा खिलाड़ियो का भी आत्मविश्वास बढाएंगे।

प्रसाद ने कहा, ” वह विश्वकप 2019 के लिए भारत के सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी होने वाले है। वह मैदान में कप्तानी में विराट कोहली का मार्गदर्शन करेंगे औऱ विकटकीपर के रूप में युवा खिलाड़ियो की फिल्डिंग पर नजर डालेंगे।”

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here