अजिंक्य रहाणे और विजय शंकर भी विश्वकप की योजना का हिस्सा- एमएसके प्रसाद

अजिंक्य रहाणे

भारतीय टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने बताया है कि ऋषभ पंत के साथ-सथ विजय शंकर और अजिंक्य रहाणे भी 2019 विश्वकप के लिए टीम की योजनाओ का हिस्सा है। इंग्लैंड और वेल्स में होने वाले विश्वकप के लिए सभी टीम को 23 अप्रैल से पहले 15 सदस्यीय टीम चुननी है।

पंत, जो पहले ही टेस्ट क्रिकेट में अपनी कौशलता से सबको प्रभावित कर गए है वह एमएस धोनी के सन्यांस के बाद स्टंप के पीछे उनकी जगह लेने को पहले से तैयार है। पंत ने अभी तक जितने भी टेस्ट मैच खेले है, उन टेस्ट मैचो में से उन्होने दो शतक विदेश में जड़े है और हाल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खत्म हुई सीरीज में उन्होने ऑस्ट्रेलिया में रिकॉर्ड भी बनाया था। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि, उनके दोनो शतक विदेशी परिस्थिति में सामने आए है- इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया।

वही विजय शंकर की बात करे तो वह अपनी गेंदबाजी से अभी तक ज्यादा प्रभावित नही कर पाए है लेकिन वह बल्लेबाज से बहुत शानदार नजर आए है। हाल में, उन्होने तीसरे टी-20 में नंबर-3 पर बल्लेबाजी करने के लिए उतारा गया था और वह जब-जब उन्हें न्यूजीलैंड के खिलाफ बल्लेबाजी करने का मौका मिला है, वह बल्ले से शानदार रहे है।

रविवार को निर्णायक टी-20 मैच में जहा भारत को 4 रन से हार का सामना करना पड़ा था, शंकर ने 28 गेंमदो में 43 रन की पारी खेली थी औऱ अपनी बड़े शार्ट्स खेलने की क्षमता दिखाई थी।

प्रसाद ने क्रिकइंफो से बात करते हुए कहा, ” उन्हे अब तक जितने भी मौके मिले है, विजय शंकर ने उस स्तर पर अपनी कौशलता को सही से दिखाया है। हमने उन्हें पिछले दो साल से इंडिया-ए की टीम को संवारते देखा है। लेकिन हम अभी भी देख रहे है इस टीम की किस गतिकी में फिट होते है।”

प्रसाद ने आगे सूचित किया अजिंक्य रहाणे, जिन्होने भारत के लिए आखिरी एकदिवसीय मैच मैच दक्षिण-अफ्रीका के खिलाफ पिछले साल फरवरी में खेला था, वह विश्वकप में टीम के लिए तीसरे ओपनर हो सकते है।

लिस्ट-ए क्रिकेट में रहाणें एक शानदार फार्म में नजर आए है, उन्होने वहा 11 इनिंग में 74.62 की औसत से 597 रन मारे है। उन्होने इस दौरान दो शतक और तीन अर्धशतक लगाए है।

प्रसाद ने कहा, ” घरेलू क्रिकेट में रहाणे फॉर्म में है। इसलिए वह विश्वकप के लिए टीम की योजनाओ का हिस्सा है।”

प्रसाद ने एक बार फिर युवा विकेटकीपर बल्लेबाज पंत को 2019 विश्वकप की टीम का हिस्सा बनाने की बात की।

उन्होने कहा, ” बिना संदेह की पंत विश्वकप का हिस्सा है। लेकिन यह एक स्वस्थ सरदर्द है। पिछले एक साल में सभी प्रारूप में जो पंत की जो प्रगति हुई है वह शानदार रही है। लेकिन एक बात जो हम सोच रहे है कि वह यह है कि उन्हे थोड़ा और परिपक्व होने की जरूरत है और थोड़ अनुभव की भी जरूरत है। यही एक कारण है कि उन्हें हमने पहले इंडिया-ए की सरीज खेलने का मौका दिया था।”

भारत को दक्षिण-अफ्रीका के खिलाफ 5 जून को साउथम्पटन के द रोज बाउल में विश्व कप अभियान शुरू करना है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here