गुरूवार, फ़रवरी 27, 2020

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 : आचार संहिता उल्लंघन की 228 एफआईआर दर्ज, आप के खिलाफ फिर 13 मामले

Must Read

दिल्ली हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल: “पुलिस स्थिति संभालने में विफल, सेना को बुलाया जाए”

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज सुबह कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी हिस्से में...

आयुष्मान खुराना: “मैं एक प्रशिक्षित गायक हूं क्योंकि मैं एक ट्रेन में गाता था”

आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने खुलासा किया है कि उन्होंने अपने बॉलीवुड डेब्यू के लिए सही प्रोजेक्ट लेने के...

जाफराबाद में एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम किया, DMRC ने मेट्रो स्टेशन को किया बंद

केंद्र की ओर से जारी नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) को रद्द करने की मांग करते हुए 500 से अधिक...

दिल्ली में 8 फरवरी को विधानसभा चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से कराने में जुटे राज्य चुनाव मुख्यालय ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है। चुनाव आचार संहिता लागू होने से लेकर अब तक चुनाव मुख्यालय द्वारा जो दिन-रात काम किए जा रहे हैं, उनके दो मकसद हैं- विधानसभा चुनाव में मतदान का प्रतिशत 2019 के लोकसभा चुनाव से ऊपर पहुंचाना और राज्य चुनाव मुख्यालय की छवि को बेदाग रखना।

शांतिपूर्ण मतदान कराने की तैयारी में जुटी टीमों ने 21 जनवरी को एक ही दिन में 228 एफआईआर दर्ज करवाईं। सभी एफआईआर आदर्श चुनाव आचार संहिता उल्लंघन से संबंधित हैं। इन 228 एफआईआर से अलग 8 ऐसे मामले हैं जिनमें, डेयली इंट्री (डीडी) दर्ज कराई गई है।

दर्ज 228 एफआईआर में सबसे ज्यादा 13 आम आदमी पार्टी (आप) के खिलाफ ही हैं, जो राज्य की सत्ताधारी पार्टी भी है। जबकि 6 एफआईआर आप की धुर-विरोधी पार्टी कांग्रेस के खिलाफ भी दर्ज की गई है। दो एफआईआर भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ हैं, जबकि 215 एफआईआर गैर-राजनीतिक दलों के खिलाफ दर्ज की गई हैं।

बुधवार को कश्मीरी गेट स्थित राज्य के चुनाव मुख्यालय में आयोजित एक प्रेस-कांफ्रेस के दौरान यह जानकारी मुख्य चुनाव अधिकारी डॉ. रणबीर सिंह ने दी। मंगलवार को दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों में शस्त्र अधिनियम के तहत 210 मामले दर्ज किए गए। इनमें 231 लोगों को गिरफ्तार किया गया, जबकि एक कुंतल 31 किलोग्राम मादक पदार्थ भी जब्त किए गए।

मतदाताओं को ललचाने के कुल 12 मामले पूरी राजधानी में 21 जनवरी को दर्ज हुए। इन मामलों में कुछ ऐसे भी हैं, जिनमें अवैध चुनावी सभा-बैठकें आयोजित की गईं। गैर-कानूनी तरीके से चुनाव प्रचार प्रसार के लिए लाउडस्पीकर इस्तेमाल के भी कुछ मामले दर्ज किए गए।

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने आईएएनएस के बुधवार को बताया, “21 जनवरी को राज्य में आबकारी अधिनियम के तहत 562 मामले दर्ज हुए थे। जबकि 567 लोग गिरफ्तार किए गए। इसी तरह 289 गैर-लाइसेंसी हथियार, 337 कारतूस भी जब्त किए गए। 4504 लाइसेंसी हथियार भी जमा करवाए गए हैं। जबकि दिल्ली पुलिस अधिनियम के तहत 62599 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई।”

पत्रकार वार्ता में राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. रणबीर सिंह ने आगे कहा, “चुनाव कार्यालय और उसकी टीमों की सख्ती और दिन-रात की मेहनत का ही नतीजा है कि 21 जनवरी को एक ही दिन में दिल्ली में 1 करोड़ 15 लाख 29 हजार 920 रुपये की नकदी जब्त की जा सकी।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल: “पुलिस स्थिति संभालने में विफल, सेना को बुलाया जाए”

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज सुबह कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी हिस्से में...

आयुष्मान खुराना: “मैं एक प्रशिक्षित गायक हूं क्योंकि मैं एक ट्रेन में गाता था”

आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने खुलासा किया है कि उन्होंने अपने बॉलीवुड डेब्यू के लिए सही प्रोजेक्ट लेने के लिए 5-6 फिल्मों को अस्वीकार...

जाफराबाद में एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम किया, DMRC ने मेट्रो स्टेशन को किया बंद

केंद्र की ओर से जारी नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) को रद्द करने की मांग करते हुए 500 से अधिक लोगों, ज्यादातर महिलाओं ने शनिवार...

‘हैदराबाद में शाहीन बाग जैसे विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी’: पुलिस आयुक्त

हैदराबाद के पुलिस आयुक्त अंजनी कुमार ने शनिवार को कहा कि शहर में "शाहीन बाग़ जैसा" विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी। उनका...

निर्भया मामला: आरोपी विनय नें खुद को चोट पहुंचाने की की कोशिश, इलाज के लिए माँगा समय

2012 में दिल्ली में हुए निर्भया मामले (Nirbhaya Case) में चार आरोपियों में से एक विनय नें आज जेल की दिवार से खुद को...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -