Tue. Jul 23rd, 2024
    रिलायंस जिओ

    बीते कई दिनों से कयास लगाए जा रहे थे कि रिलायंस जल्द ही हैथवे ब्रॉडबैंड व डेन केबल नेटवर्क में हिस्सेदारी को लेकर करार कर सकता है। अब यह बात आधिकारिक तौर पर सामने आ गयी है।

    भारत के सबसे दौलतमंद शख्स मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज़ अपने मोबाइल नेटवर्क क्षेत्र में परचम फहराने के बाद अब ब्रॉडबैंड व केबल टीवी के नए क्षेत्र में प्रवेश करने जा रही है। इसके लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज़ ने भारत की अग्रणी ब्रॉडबैंड सुविधा प्रदाता हैथवे केबल व देश में केबल टीवी के क्षेत्र में व्यापक रूप से फैली डेन के साथ करार कर लिया है।

    सेबी से अनुमति लेते हुए अब इस करार के तहत रिलायंस पहला निवेश करीब 2,045 करोड़ का करेगी वहीं दूसरे निवेश के तहत वह 245 करोड़ रुपये के साथ ही डेन केबल नेटवर्क में 66 प्रतिशत की हिस्सेदारी खरीद लेगी।

    अपनी इस योजना के तहत अब रिलायंस अपनी ब्रॉडबैंड सुविधा ‘जियो फाइबर‘ के जरिये 1,100 शहरों के करीब 5 करोड़ घरों में पैठ बनाएगी।

    अनुमान लगाया जा रहा है कि रिलायंस इस बार भी अपनी सस्ते प्लान को बाज़ार में उतारने की रणनीति पर काम करेगी। इसी तरह से रिलायंस ने जियो को बाज़ार में स्थापित किया था।

    रिलायंस के इस कदम से ग्राहकों का खुश होना लाज़मी है, वहीं दूसरी ओर स्थानीय केबल ऑपरेटरॉन को यह डर है कि रिलायंस उन्हे इस व्यवसाय से न उखाड़ फेंके।

    इससे पहले रिलायंस के लिए अच्छी खबर तब आई, जब कंपनी नें दूसरी तिमाही में मुनाफ़ा दर्ज किया। इसके साथ ही यह भी खबर आई थी कि रिलायंस जिओ के ग्राहकों की संख्या 25 करोड़ पहुँच गयी है।

    इसी के साथ अब उम्मीद लगाई जा रही है कि तमाम ऐसे ब्रॉडबैंड सुविधा प्रदाता जो अभी तक थोड़े महँगे प्लान अपने ग्राहकों को परोस रहे थे, अब वे भी अपने दामों को कम करने पर मजबूर हो जाएंगे।

    मालूम हो कि हैथवे और डेन के दोनों के ही पास 72 लाख उपभोक्ता हैं। एक ओर डेन जहाँ 200 शहरों में सक्रिय है वहीं हैथवे 350 शहरों में अपनी सुविधाएं दे रहा है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *