Sun. Jul 21st, 2024
    रिलायंस जिओ

    मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज़ जल्द ही देश के दो सबसे बड़े केबल नेटवर्क व ब्रॉडबैंड सुविधा प्रदाता डेन नेटवर्क और हेथवे केबल का अधिग्रहण कर सकती है। इसी के साथ रिलायंस देश में केबल नेटवर्क और ब्रॉडबैंड नेटवर्क के क्षेत्र में भी अपनी तगड़ी पैठ बना लेगा।

    इससे जुड़े सूत्रों के अनुसार रिलायंस जल्द ही इन दोनों ही कंपनियों की 25 फीसदी से अधिक हिस्सेदारी खरीद सकती है, इसी के साथ रिलायंस इन कंपनियों के बोर्ड में भी दाखिल हो जाएगी, जिसके बाद इन कंपनियों से संबन्धित किसी भी तरह के फैसले पर अपना प्रभाव बरकरार रख सकेगी।

    इन कंपनी के साथ रिलायंस के जुडने के बाद से संभव है कि ये दोनों ही कंपनियां तमाम तरह के ऑफरों को अपने ग्राहकों के सामने पेश करें।

    इस डील की घोषणा अगले कुछ ही दिन में की जा सकती है। हालाँकि इन दोनों ही कंपनियों ने इस संबंध में स्टॉक मार्केट को पहले ही सूचित कर दिया है।

    हेथवे केबल का स्वामित्व रहेजा ग्रुप के पास है, जबकि डेन नेटवर्क के मालिक समीर मंचन्दा है। रिलायंस द्वारा हिस्से में खरीद की खबरों के साथ ही इन दोनों ही कंपनियों के शेयरों में मजबूती देखने को मिली है। इसी के साथ हेथवे के शेयर 6.04 प्रतिशत बढ़ गए हैं, जबकि के शेयरों ने भी 10.84 प्रतिशत की छलांग भरी है।

    सूत्रों का मानना है कि यह डील हो जाने के बाद डेन और हेथवे दोनों ही नए सिरे से शेयरों को जारी करेंगे।

    रिलायंस इस डील को लेकर पिछले 2 महीनों से सक्रिय थी, जिसके चलते पहले से ही इस डील के पुख्ता होने को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं।

    मालूम हो कि इस डील के साथ ही जियो को काफी फायदा होने के आसार हैं। हेथवे और डेन दोनों के ही पास 72 लाख से भी अधिक की मात्रा में सक्रिय उपभोक्ता हैं। ऐसे में इस डील के साथ ही जियो को उपभोक्ताओं का एक पहले से ही स्थापित बाज़ार मिल सकेगा।

    रिलायंस के एक अधिकारी नें बताया कि डेन नेटवर्क जहाँ उत्तर प्रदेश और पूर्वी भारत में मजबूत है, वहीँ हैथवे केबल मध्य भारत और आसपास के इलाकों में मजबूत है। ऐसे में रिलायंस के लिए पुरे भारत पर पैठ बनाना ज्यादा मुश्किल नहीं होने वाला है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *