Mon. Jun 17th, 2024
    एमएस धोनी

    विराट कोहली, एमएस धोनी और दिनेश कार्तिक ने दूसरे वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय टीम को जीत दिलाकर सीरीज में 1-1 से बराबरी करवाई। भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 299 रनो का लक्ष्य दिया था, जिसमें भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने शतक लगाया, जिसके बाद इस मैच में बची-कूची असर महेंद्र सिंह धोनी और निदहास ट्रॉफी के हीरो दिनेश कार्तिक ने पूरी कर दी। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने इस मैच में अपना योगदान दिया और टीम मैच को आखिरी ओवर तक ले जाने में कामयाब रही। लेकिन टीम मास्टर्स ऑफ फिनिशर बल्लेबाज धोनी को आखिरी तक आउट नही कर पाई।

    धोनी और कार्तिक ने डेथ ओवर में रन बनाने के लिए बहुत दौड़ लगाई और भारतीय टीम को आखिरी ओवर में जीत दर्ज करवायी। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज जीतने का निर्णायक मुकाबला शुक्रवार को होगा।

    299 रनो के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम से ओपनिंग में रोहित शर्मा और शिखर धवन बल्लेबाजी करने आए। पहले विकेट के लिए इन दोनो बल्लेबाजो के बीच 47 रन की साझेदारी हुई, जिसके बाद शिखर धवन 32 रन बनाकर जेसन बेहनडरोर्फ का शिकार हो गए। रोहित ने अपनी पारी को बहुत अच्छी तरीके से आगे बढ़ाया लेकिन पहले वनडे की तरह वह इस पारी को बड़ी पारी में तबदील नही कर पाए। जब भारतीय टीम 101 के स्कोर पर थी तब रोहित शर्मा 52 गेंदो में 43 रन बनाकर मार्कस स्टोयनिस का शिकार बन बैठे।

    उसके बाद भारतीय टीम के कप्तान, ने अंबाती रायडू के साथ कुछ देर बल्लेबाजी की जिसमें यह दोनो खिलाड़ी टीम को एक मजबूत स्थिती तक लेकर गए। लेकिन भारतीय टीम का नंबर चार का खिलाड़ी क्रीज में थोड़ी और देर तक टिकने में कामयाब नही हो पाया औऱ वह मेक्सवैल का शिकार बन बैठे। जब अंबाती रायडू का विकेट गिरा तो टीम का स्कोर उस वक्त 160 रन था। मिडल-ऑर्डर में बल्लेबाजी करने आए एमएस धोनी ने भी इस मैच में अर्धशतक लगाया और टीम को जीत की ओर तक लेकर गए।

    धोनी अपना क्रीज में टिकने के लिए अपना वक्त ले रहे थे लेकिन कोहली ने उस समय अपना रुख बदल लिया था और वह जेसन बेहरेनडॉर्फ की गेंदो को मैदान के पार पहुंचा रहे थे। कोहली के कुछ जोखिम भरे शॉर्ट्स उनके लिए अच्छे साबित हुए जिससे वह एकदिवसीय करियर में अपना 39वां शतक लगाने में कामयाब हुए। अपना शतक बनाने के बाद कोहली ने 4 रन और बनाए और वह 104 रन बनाकर अपना विकेट गंवा बैठे।

    कोहली के आउट होने के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम को लगा की वह अभी भी मैच में है लेकिन उस वक्त खिलाड़ी- एमएस धोनी क्रीज पर सेट हो गए थे। कोहली के आउट होने के बाद कार्तिक क्रीज पर आए, जिसके बाद इन दोनो फिनिशर खिलाड़ियो ने टीम के लिए अच्छी क्रिकेट खेलते हुए टीम को जीत दिलवाई। यह दोनो खिलाड़ी उस वक्त भी चिंतित नही थे जब प्रति ओवर 9 रन चाहिए थे। इस बीच, धोनी ने नाथन लॉयन की गेंद में एक छक्का जड़ा और कार्तिक ने भी हवा में कुछ शानदार शॉर्ट्स खेले।

    आखिरकार, यह मेन इन ब्लू थी, जिन्होने आखिरी हंसी ली थी और इस मैच में धोनी की फिनिशिंग कुशलता है एक बार फिर सबको देखनो को मिली, जिसमें कार्तिक ने भी उन्हे दूसरे छोड़ से पूरा साथ दिया।

    ऑस्ट्रेलिया की टीम से शॉन मार्श ने लगाया था शतक-

    इससे पहले, वह शान मार्श थे जिन्होने ऑस्ट्रेलिया की तरफ से शानदार शतक लगाया था। औऱ भारतीय गेंदबाजो की जमकर पिटाई की थी। मेजबान टीम ने अपने सालामी बल्लेबाज आरोन फिंच और एलक्स कैरी का विकेट जल्द गंवा दिया था। जिसके बाद मार्श और उस्मान ख्वाजा ने टीम की पारी को आगे बढ़ाया।

    पीटर हैंडस्कोमब और मार्कस स्टोयनिस ने टीम के लिए अच्छी गेंदबाजी की वह अपनी पारी में ज्यादा रन तो नही बना पाए लेकिन दोनो ने आपस में अच्छी साझेदारी निभाई। ग्लैन मैक्सवेल ने भी टीम के लिए आखिरी ओवरो में बहुत रन जोड़े थे और उन्होने 37 गेंदो में 48 रन बनाए थे। मार्श और मैक्सवेल ने मिलकर आखिरी के 11 ओवरो में टीम के लिए 94 रन जोड़े। भारतीय टीम से भुवनेश्वर कुमार ने अच्छी गेंदबाजी की और अपने नाम चार विकेट किए। आस्ट्रेलियाई टीम ने 50 ओवर के अंत तक 9 विकेट के नुकसान में 298 रन बना लिए थे।

    भारतीय टीम से फिनिशर बल्लेबाज एमएस धोनी ने 54 गेंदो में 55 रनन बनाए तो वही कार्तिक नें 14 गेंदो में 25 रन बनाए। दोनो खिलाड़ी मैच के आखिरी तक नाबाद रहे।

    भारत की इस जीत के बाद कुछ इस प्रकार के ट्वीट देखने को मिले-

     

     

    https://twitter.com/shaun_tait32/status/1085133549387145216

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *