Fri. Sep 30th, 2022
    टाइफाइड में क्या खाएं

    टाइफाइड हमारे आंत से जुड़ी एक बिमारी है। इस बिमारी के दौरान, मरीज़ों को अक्सर पेट में गैस की तक्लीफ मेहसूस होती है। इसके कारण, उनकी भूख और खाने की क्षमता, काफी हद तक कम हो जाती है।

    इसलिए, किसी भी टाइफाइड के मरीज़ को प्रोटीन देने वाले आहार को खाना ही चाहिए। ऐसे कई चीजें हमारे खांपान से जुड़ी हैं, जिन्हे टाइफाइड के मरीजों को बिल्कुल ध्यान में रखनी चाहिए।

    टाइफाइड में क्या खाएं?

    किसी भी टाइफौइड के मरीज़ को कम खाना दिया जाता है, लेकिन बार बार दिया जाता है। उनके खाने में भारी मात्रा में प्रोटीन होना चाहिए, और कम मात्रा में फाइबर और फैट्।

    1. टाइफाइड के पहले कुछ दिनों में

    टाइफाइड के पहले कुछ दिन, हमें सिर्फ अलग-अलग तरह के जूस पीने चाहिए, और फिर धीरे-धीरे केले, तरबूज़, और अंगूर जैसे फल खाने की शुरुआत करना चाहिए।

    तरल आहार में हम नारियल का पानी, जवार का पानी, ताज़े फलों के जूस, छाँच, और सूप जैसे चीज़ पी सकते हैं। पहले कुछ दिनों में हमें लिक्विड पोषण ही ग्रहण करना चाहिए।

    उसके थोड़े दिनों बाद जब हमारे खाने की क्षमता बढ़ जाती है, तो हमें उबले हुए चावल, उबले हुए अंडे, बेक्ड आलू, और बेक्ड सेब जैसी चीज़ें खाना चाहिए।

    इसके बाद हमें रोज़ अपने खानपान को ध्यान में रखते हुए, तीनों समय खाने की एक प्रक्रिया को पूरी करनी चहिए –

    2. नाश्ता

    नाश्ते में हर टाइफौइड के मरीज़ को किसी भी फल से बने जूस को पीना चाहिए, और एक स्लाइस सफेद ब्रेड खाना चाहिए।

    3. दोपहर का खाना

    दोपहर के खाने में इन मरीज़ों के लिए कच्चे सब्ज़ियों की सैलेड, बेक्ड सेब, केले, और किसी भी फल से बना जूस, अच्छा साबित होता है।

    4. टाइफाइड में रात का खाना

    रात के खाने में, टाइफौइड के मरीजों के लिए वो आहार अच्छे होते हैं जिनमें भारी मात्रा में कैलरीज़ पाए गए हैं। इसलिए इन्हें, सफेद ब्रेड, बेक्ड आलू, हरे पत्ते, और सूप जैसी चीजें खाना और पीना चाहिए।

    इन चीजों को ध्यान में रखते हुए, टॅऐफौइड के मरीजों को नाश्ते और दोपहर के खाने के बीच, और दोपहर और रात के खाने की बीच, किसी भी फल से बना जूस य नारियल पानी पीना चाहिए।

    लेकिन इन दिनों में किसी भी प्रकार का फैटी या फाइबर का खाना, इन्हें नहीं खाना चाहिए।

    दूसरे अन्य खाने की चीजें, जो टाइफौइड के रोगियों को ठीक करने में उनकी मदद कर सकती है, हैं:

    5. टाइफाइड में नींबू

    थोड़े निवाए पानी में नीम्बू का रस मिल्लकर पीना, डाइजेशन के लिए अच्छा होता है। इसमें विटामिन सी भी होता है, जो हमारे लिवर को स्वस्थ और मज़बूत बना देता है। इसे हमें खाली पेट पीना चाहिए।

    6. टमाटर का सूप

    टमाटर के सूप में बहुत सारी कैलरीज़ होती हैं, जो टाइफ़ौइड ठीक करने में हमारे शरीर की काफी मदद करती है।

    7. छाछ

    छाछ पीने से हमारा लिवर स्वस्थ हो जाता है, और खाने के डाइजेशन में भी आसानी होती है।

    8. बादाम

    बदाम से हमारे शरीर में खून का भाव बढ़ जाता है जिससे हमें चुस्ती और ताकत मिलती है। साथ ही, जो वज़न हम टाइफ़ौइड के कारण खो देते हैं, बदाम हमें उसे वापस लाने की मदद करता है।

    9. योगर्ट

    योगर्ट हमें बहुत सारा प्रोटीन प्रदान करता है जिससे हमें बैक्टीरिया से लड़ने की शक्ति और ताकत मिलती है।

    10. आलू

    दोपहर और रात के खाने में, इन मरीज़ों को, बेक्ड आलू खाने से फायदा होता है। आलू में बहुत कैलरीज़ होते हैं जो इन्हें इनका वज़न कायम रखने में मदद करता है।

    11. पानी

    टाइफौइड के मरीज़ों को, दिन में 6-8 ग्लास पानी पीना ही चाहिए। ये उनकी सेहत के लिए अच्छा होता है।

    टाइफाइड में क्या ना खाएं?

    कोई भी ऐसा चीज़ जिससे हमारे डाइजेशन पर बुरा असर पड़ता हो, उस चिज़ को हमें इस तक्लीफ के समय में नहीं खाना चाहिए।

    इसके अलावा हमें इन चीजों को भी कुछ दिनों तक नहीं खाना चाहिए:

    1. अंडे

    अंडों में बहुत ज़्यादा फैट पाया जाता है, जिसका बुरा असर, हमारे डाइजेशन पर पड़ सकता है।

    2. किसी भी प्रकार का मांस

    कम से कम दो हफ्ते के लिए, हमें किसी भी प्रकार के मांस को भी नहीं खाना चाहिए। इन्हें सही तरीके से हजम करने की शक्ति और ताकत, इन मरीजों में कुछ दिन तक नहीं दिखती है।

    3. तीखा खाना

    तीखा खाना हमारे डाइजेस्टीव सिस्टम के लिए अच्छा नहीं है, जिसके कारण, टाइफौइड के मरीज़ों को इनसे दूर ही रहना चाहिए।

    4. तला हुआ खाना

    तले हुए खाने का हमारे लिवर और डाइजेस्टिव सिस्टम पर बहुत ही बुरा असर होता है। इसलिए, किसी भी मरीज़ को ऐसा खाना नहीं खाना चाहिए।

    इन खानपान कि आदतों को ध्यान में रखना बहुत ज़रूरी है। इनके अलावा हमें इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि हम कोई भि सब्ज़ी या फल, ऐसे ही बिना धोए ना खाएँ और जितना हो सके, उबला हुआ पानी ही पिएँ।

    अगर आपको इस विषय में कोई भी सवाल या सुझाव हो, तो आप नीचे कमेन्ट कर सकते हैं।

    8 thoughts on “टाइफाइड में क्या खाएं और क्या ना खाएं?”
    1. Sar mere pat m bhot dard h mera bukhar bhi nahi utar raha 15 days ho gye mujhe davai s bhi koi kash fark nahi laga mujhe kya krna chahiy

    2. Typhoid Bukhar Chhath kara hai Kisi Ka baat nahi Sunai de raha hai Aankhen bhi nahi khul raha hai

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.