सोमवार, जनवरी 27, 2020

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : अब संथाल, कोयलांचल में बिछेगी सियासी बिसात

Must Read

ताइवान में कोरोनावायरस संबंधी मामले बढ़कर 4 हुए

ताइपे, 27 जनवरी (आईएएनएस)| ताइवान की एक और महिला के कोरोनोवायरस (Corona Virus) से संक्रमित होने की पुष्टि हुई...

अरविंद केजरीवाल के निर्वाचन क्षेत्र के 11 उम्मीदवारों की याचिका पर सुनवाई को हाईकोर्ट सहमत

नई दिल्ली, 27 जनवरी (आईएएनएस)| दिल्ली हाईकोर्ट नई दिल्ली विधानसभा के लिए नामांकन करने से रोके गए 11 उम्मीदवारों...

आरएसएस का पहला सैनिक स्कूल उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में

लखनऊ, 27 जनवरी (आईएएनएस)| राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) द्वारा संचालित पहला सैनिक स्कूल उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में इस...

झारखंड विधानसभा चुनाव के तीन चरणों का मतदान समाप्त हो जाने के बाद अब दो चरणों का मतदान शेष है। शेष दो चरणों के चुनाव में अधिकांश सीटें संथाल परगना और कोयलांचल क्षेत्र की हैं। ऐसे में तय है कि झारखंड की पूरी राजनीतिक बिसात उन्हीं क्षेत्रों में बिछेगी।

इसके साथ ही सभी दलों के स्टार प्रचारक भी संथाल और कोयलांचल में शिफ्ट हो जाएंगे। चौथे चरण का मतदान जहां 16 दिसंबर को 15 सीटों पर होना है, वहीं अंतिम और पाचवें चरण का मतदान 20 दिसंबर को 16 सीटों पर होना है। चौथे चरण के मतदान में शेष दो दिन बचे हैं। यही कारण है कि भाजपा, कांग्रेस, झामुमो सहित सभी दलों के नेता शुक्रवार को इन इलाकों में पहुंच चुके हैं। सभी दलों के स्टार प्रचारकों के कार्यक्रम भी इन क्षेत्रों में तय हो गए हैं।

भाजपा के एक नेता ने बताया कि पार्टी के राष्ट्रीय स्टार प्रचारक प्रत्येक चरण के मतदान में यहां पहुंच रहे हैं। ऐसे में तय है कि इन दो चरणों के लिए भी उनके कार्यक्रम तय हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को धनबाद में एक चुनावी सभा को संबोधित कर चुके हैं, जबकि उनका अगला कार्यक्रम 15 दिसंबर को दुमका और 17 दिसंबर को बरहेट में चुनावी सभा को संबोधित करने का है।

इसके अलावा चौथे चरण के प्रचार के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी देवघर, गिरिडीह, बाघमारा में चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष ज़े पी़ नड्डा भी इस चरण के प्रचार के लिए जोर लगाएंगे।

इधर, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को राजमहल और महगामा में चुनावी सभा को संबोधित कर लौटे हैं। कांग्रेस के एक नेता का दावा है कि राहुल गांधी भी इन शेष सीटों के लिए होने वाले मतदान के लिए प्रचार करने यहां पहुंचेंगे। उन्होंने कहा कि इसके अलावा कांग्रेस के अन्य नेता भी यहां पहुंचने वाले हैं।

इस बीच अन्य क्षेत्रीय दलों के प्रमुख नेता भी इन क्षेत्रों में शिफ्ट हो चुके हैं। शुक्रवार को कई प्रमुख नेता इस क्षेत्र में पहुंच चुके हैं।

संथाल परगना को झामुमो का गढ़ माना जाता है। इस चुनाव में उसमें सेंध लगाने की कोशिश भाजपा लगातार करती रही है। राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने अपने कार्यकाल के दौरान न सिर्फ संथाल का सबसे ज्यादा दौरा किया, बल्कि कई मंचों से इस क्षेत्र के पिछड़ेपन के लिए झामुमो और झामुमो प्रमुख शिबू सोरेन परिवार को जिम्मेदार बताया।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

ताइवान में कोरोनावायरस संबंधी मामले बढ़कर 4 हुए

ताइपे, 27 जनवरी (आईएएनएस)| ताइवान की एक और महिला के कोरोनोवायरस (Corona Virus) से संक्रमित होने की पुष्टि हुई...

अरविंद केजरीवाल के निर्वाचन क्षेत्र के 11 उम्मीदवारों की याचिका पर सुनवाई को हाईकोर्ट सहमत

नई दिल्ली, 27 जनवरी (आईएएनएस)| दिल्ली हाईकोर्ट नई दिल्ली विधानसभा के लिए नामांकन करने से रोके गए 11 उम्मीदवारों की याचिका पर सुनवाई को...

आरएसएस का पहला सैनिक स्कूल उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में

लखनऊ, 27 जनवरी (आईएएनएस)| राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) द्वारा संचालित पहला सैनिक स्कूल उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में इस साल अप्रैल में शुरू होगा।...

उत्तर प्रदेश: कानपुर पुलिस ने थाने में कराई प्रेमी युगल की शादी

कानपुर, 27 जनवरी (आईएएनएस)| कानपुर के जूही पुलिस स्टेशन के अंदर रविवार को एक प्रेमी युगल की शादी कराई गई है। इस दौरान शादी...

कांग्रेस ने अदनान सामी को पद्मश्री देने पर सवाल उठाया

नई दिल्ली, 27 जनवरी (आईएएनएस)| कांग्रेस ने गायक अदनान सामी को पद्म पुरस्कार देने के केंद्र सरकार के फैसले पर सवाल उठाया है। कांग्रेस...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -