Tue. Mar 5th, 2024
    bhupesh baghel

    मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की राह पर चलते हुए छतीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पद सँभालते ही सबसे पहले किसानों का ऋण माफ़ करने की घोषणा की। शपथ ग्रहण के बाद अपने पहले प्रेस कांफ्रेंस में राज्य के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसानों का 6,100 करोड़ रुपये का ऋण माफ़ करने की घोषणा की इसके अतिरिक्त उन्होंने धान का समर्थन मूल्य 1700 रुपये प्रति क्विंटल से बढ़ा कर 2500 रुपये प्रति क्विंटल करने की भी घोषणा की।

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने सत्ता में आने के बाद 10 दिनों के भीतर किसानों का ऋण माफ़ करने का वादा किया था। बधेल ने कहा कि हमने अपना पहला वादा आज पूरा कर दिया।

    ये भी पढ़ें: मध्य प्रदेश: मुख्यमंत्री का पद सँभालते ही कमलनाथ ने लिए ताबड़तोड़ फैसले

    मुख्यमंत्री बघेल में 2013 में झीरम घाटी में हुए नक्सली हमले की जांच के लिए एसआईटी का गठन करने की घोषणा की। इस नक्सली हमले में कांग्रेस के बड़े नेताओं की हत्या कर दी गई थी। इस हमले में कुल 29 लोग मारे गए थे।

    उन्होंने कहा “हमारा तीसरा निर्णय झिरम घाटी से संबंधित है। नंद कुमार पटेल जैसे प्रमुख नेताओं सहित कुल 29 लोग मारे गए थे। षड्यंत्रकारियों का खुलासा नहीं किया गया है। इतिहास में राजनेताओं का ऐसा नरसंहार कभी नहीं हुआ। अपराधियों को पकड़ने के लिए, एक एसआईटी का गठन किया गया है।”

    इससे पहले मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के कुछ ही समय बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी राज्य के किसानों का 2 लाख रुपये तक का कर्ज माफ़ करने की घोषणा की थी। राहुल गाँधी ने चुनाव प्रचार के दौरान मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ दोनों राज्यों के किसानों का कर्ज माफ़ करने का वादा किया था। कांग्रेस के घोषणापत्र में भी कर्ज माफ़ी को प्रमुखता से जगह दी गई थी।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *