शुक्रवार, फ़रवरी 21, 2020

चीन के साथ मसूद अज़हर के मामले पर चर्चा की: पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी

Must Read

निर्भया मामला: आरोपी विनय नें खुद को चोट पहुंचाने की की कोशिश, इलाज के लिए माँगा समय

2012 में दिल्ली में हुए निर्भया मामले (Nirbhaya Case) में चार आरोपियों में से एक विनय नें आज जेल...

गुजरात सीएम विजय रूपानी ने डोनाल्ड ट्रम्प-मोदी रोड शो की तैयारी की की समीक्षा

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी (Vijay Rupani) ने गुरुवार को अहमदाबाद में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) और...

डोनाल्ड ट्रम्प की अहमदाबाद की 3 घंटे की यात्रा के लिए 80 करोड़ रुपये खर्च करेगी गुजरात सरकार: रिपोर्ट

समाचार एजेंसी रायटर ने बुधवार को सूचना दी कि अहमदाबाद में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) की...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने अपने सदाबहार दोस्त चीन के साथ मसूद अज़हर के मसले पर चर्चा की थी। यूएन में चीन ने चौथी दफा मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकी की सूची में शामिल होने से रोकने वीटो का इस्तेमाल किया था।

पाक विदेश मंत्री बीजिंग से गुरूवार को वापस लौटे थे। वह चीन पहली द्विपक्षीय रणनीतिक वार्ता में शामिल होने के लिए गए थे। चीनी विदेश मंत्री वांग यी से मुलाकात के बाद कहा कि “सभी मसलों पर हमने एक दूसरे को भरोसे में लिया है। कभी उन्होंने मेरा पथ प्रदर्शित किया तो कभी हमें सुनने के बाद उन्होंने अपनी नीति में परिवर्तन किया था।”

उन्होंने कहा कि “जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अज़हर के मामले पर भी चीन के साथ चर्चा हुई थी। जैसा कि आप जानते हैं, चीन ने भारी दबाव होने के बावजूद अधिक जानकारी एकत्रित करने के लिए इस प्रस्ताव पर तकनीकी रोक लगा दी थी। हमने बात की कि अमेरिका, चीन और ब्रिटेन इस मसले पर क्या विचार रखते हैं।”

शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि “दोनों पक्षों ने 1267 अलकायदा प्रतिबन्ध समिति के बाबत बातचीत की लेकिन इसके बारे में अधिक जानकारी देने से इंकार कर दिया था। पाकिस्तान इस बात से वाकिफ है कि इस मसले पर विश्व क्या चाहता हैं।”

उन्होंने कहा कि “हम जानते हैं कि दुनिया क्या चाहती है, हमें क्या करना चाहिए, हमारे हित में क्या है और हमारी योजना क्या होनी चाहिए। अज़हर के मसले को बड़े सन्दर्भ के तौर पर देखना चाहिए। इसे धनशोधन के सन्दर्भ में देखा जाना चाहिए। चीन के साथ इस मसले पर वार्ता जारी रहेगी।”

उन्होंने कहा कि “पुलवामा आतंकी हमले पर भारत द्वारा दिए डोजियर का आंकलन किया जा रहा है। हम इस पर गंभीर है और डोजियर की समीक्षा कर रहे हैं। इसके तथ्यों को हम मीडिया और विश्व के साथ साझा करेंगे।”

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने दावा किया था कि “आतंकी सरगना की सेहत बहुत ख़राब है और मौजूदा वक्त में उनका पाकिस्तान में इलाज जारी है।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

निर्भया मामला: आरोपी विनय नें खुद को चोट पहुंचाने की की कोशिश, इलाज के लिए माँगा समय

2012 में दिल्ली में हुए निर्भया मामले (Nirbhaya Case) में चार आरोपियों में से एक विनय नें आज जेल...

गुजरात सीएम विजय रूपानी ने डोनाल्ड ट्रम्प-मोदी रोड शो की तैयारी की की समीक्षा

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी (Vijay Rupani) ने गुरुवार को अहमदाबाद में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi)...

डोनाल्ड ट्रम्प की अहमदाबाद की 3 घंटे की यात्रा के लिए 80 करोड़ रुपये खर्च करेगी गुजरात सरकार: रिपोर्ट

समाचार एजेंसी रायटर ने बुधवार को सूचना दी कि अहमदाबाद में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) की आगामी यात्रा की तैयारियों पर...

डोनाल्ड ट्रम्प के दौरे की तैयारियां भारतियों की ‘गुलाम मानसिकता’ को दर्शाता है: शिवसेना

शिवसेना (Shivsena) ने सोमवार को कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) की बहुप्रतीक्षित यात्रा की चल रही तैयारी भारतीयों की "गुलाम मानसिकता"...

“अरविंद केजरीवाल को कभी आतंकवादी नहीं कहा”: प्रकाश जावड़ेकर

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने शुक्रवार को इस बात से इनकार किया कि उन्होंने कभी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal)...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -