दा इंडियन वायर » भाषा » गुणवाचक विशेषण के उदाहरण, परिभाषा एवं भेद
भाषा

गुणवाचक विशेषण के उदाहरण, परिभाषा एवं भेद

गुणवाचक विशेषण

गुणवाचक विशेषण की परिभाषा

जो शब्द किसी संज्ञा या सर्वनाम का गुण, दोष, आकार-प्रकार रंग रूप गंध आदि बताते हैं, वे शब्द गुणवाचक विशेषण कहलाते है। जैसे:

गुणवाचक विशेषण के कुछ रूपों के उदाहरण इस प्रकार हैं :-

1. गुणबोधक = सुंदर, बलवान, विद्वान्, भला, उचित, अच्छा, ईमानदार, सरल, विनम्र, बुद्धिमानी, सच्चा, दानी, न्यायी, सीधा, शान्त आदि।

2. दोष बोधक = बुरा, लालची, दुष्ट, अनुचित, झूठा, क्रूर, कठोर, घमंडी, बेईमान, पापी आदि।

3. रंगबोधक = लाल, पीला, सफेद, नीला, हरा, काला, बैंगनी, सुनहरा, चमकीला, धुंधला, फीका आदि।

4. अवस्थाबोधक = लम्बा, पतला, अस्वस्थ, दुबला, मोटा, भारी, पिघला, गाढ़ा, गीला, सूखा, घना, गरीब, उद्यमी, पालतू, रोगी, स्वस्थ, कमजोर, हल्का, बूढ़ा, अमीर आदि।

5. स्वादबोधक = खट्टा, मीठा, नमकीन, कडवा, तीखा, सुगंधित आदि।

6. आकारबोधक = गोल, चौकोर, सुडौल, समान, पीला, सुंदर, नुकीला, लम्बा, चौड़ा, सीधा, तिरछा, बड़ा, छोटा, चपटा, ऊँचा, मोटा, पतला, पोला आदि।

7. स्थानबोधक = उजाड़, चौरस, भीतरी, बाहरी, उपरी, सतही, पुरबी, पछियाँ, दायाँ, बायाँ, स्थानीय, देशीय, क्षेत्रीय, असमी, पंजाबी, अमेरिकी, भारतीय, विदेशी, ग्रामीण, जापानी आदि।

8. कालबोधक = नया, पुराना, ताजा, भूत, वर्तमान, भविष्य, प्राचीन, अगला, पिछला, मौसमी, आगामी, टिकाऊ, नवीन , सायंकालीन, आधुनिक, वार्षिक, मासिक, अगला, पिछला, दोपहर, संध्या, सवेरा आदि।

9. दिशाबोधक = निचला, उपरी, उत्तरी, पूर्वी, दक्षिणी, पश्चिमी आदि।

10. स्पर्शबोधक = मुलायम, सख्त, ठंडा, गर्म, कोमल, खुरदरा आदि।

11. भावबोधक = अच्छा, बुरा, कायर, वीर, डरपोक आदि।

गुणवाचक विशेषण के उदाहरण

  • विकास एक बलवान व्यक्ति है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में जैसा कि आप देख सकते हैं बलवान शब्द का प्रयोग किया गया है, जो कि एक व्यक्तिवाचक संज्ञा है। यह शब्द हमें विकास की विशेषता बताने का काम कर रहा है।

इससे हमें पता चल रहा है कि विकास में अत्यधिक बल है। अतः यह उदाहरण गुणवाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • बैंगलोर एक स्वच्छ नगर है।

जैसा कि आप देख सकते हैं स्वच्छ शब्द का प्रयोग वाक्य में किया गया है। यह शब्द हमें बैंगलोर नगर के वातावरण के बारे में बता रहा है कि वहां का वातावरण साफ़ एवं स्वच्छ है। अतः यह उदाहरण गुणवाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • यह बहुत सुन्दर गाडी है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में जैसा कि आप देख सकते हैं सुन्दर शब्द का प्रयोग किया गया है। यह शब्द हमें गाडी कि सुन्दरता के बारे में बता रहा है। सुन्दरता गाड़ी की विशेषता है। अतः विशेषता बताने वाला शब्द गुणवाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • इस दूकान पर ताज़ा फल मिलते हैं।

जैसा कि आप ऊपर दिए गए उदाहरण में देख सकते हैं ताज़ा शब्द का इस्तेमाल फलों की विशेषता बताने के लिए किया गया है।

हम जानते हैं कि जो शब्द विशेषता बताते हैं वे विशेषण होते हैं। अतः यह उदाहरण गुणवाचक विशेषण के अंतर्गत आयेगा।

  • ताजमहल एक अत्यंत सुन्दर इमारत है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में जैसा कि आपने देखा कि सुन्दर शब्द का इस्तेमाल करके ताजमहल की सुन्दरता का बखान किया जा रहा है।

सुन्दरता ताज महल की एक विशेषता है एवं विशेषता बताने वाले शब्द विशेषण होते हैं। अतः यह उदाहरण गुणवाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • लोमड़ी बहुत लालची जानवर है।

जैसा कि आप ऊपर दिए गए उदाहरण में देख सकते हैं लालची शब्द का प्रयोग करके लोंदी के स्वभाव के बारे में बताया जा रहा है।

यह लोमड़ी का एक गुण होता है। जो शब्द गुण आदि बताते हैं वे विशेषण होते हैं। अतः यह उदाहरण गुणवाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • इस झील का पानी बहुत ठंडा है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में जैसा की आप देख सकते हैं यहां ठंडा शब्द का प्रयोग करके पानी के गुण के बारे में बताया जा रहा है।

ठंडा होना पानी का एक गुण होता है एवं जो शब्द हमें गुण के बारे में बताते हैं वे विशेषण होते हैं। अतः ये उदाहरण गुणवाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • वह बहुत डरपोक है।

जैसा की आप ऊपर दिए गए उदाहरण में देख सकते हैं यहां डरपोक शब्द का प्रयोग किया गया है। इस शब्द का प्रयोग करके एक व्यक्ति के व्यक्तित्व के बारे में बताया जा रहा है।

जो शब्द हमें किसी व्यक्तित्व बताते हैं वे विशेषण होते हैं। अतः यह उदाहरण गुणवाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • विकास का हृदय बहुत कोमल है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में जैसा कि आप देख सकते हैं यहां कोमल शब्द का प्रयोग करके हृदय की विशेषता बतायी गयी है।

जैसा की हम जानते हैं की कोमल होना हृदय का एक गुण होता है। जो शब्द हमें वस्तुओं की विशेषता बताते हैं वे विशेषण कहलाते हैं। अतः यह उदाहरण गुणवाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • उत्कर्ष एक घमंडी व्यक्ति है।

जैसा की आप ऊपर दिए गए उदाहरण में देख सकते हैं यहाँ घमंडी शब्द का करके उत्कर्ष के बारे में बताया जा रहा है की वह घमंडी है।

घमंडी होना भी व्यक्ति का एक गुण होता है एवं जो शब्द हमें ऐसी विशेषताओं के बारे में बताते हैं वे विशेषण कहलाते हैं।अतः यह उदाहरण गुणवाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • अक्षय एक डरपोक किस्म का आदमी है।

ऊपर दिए गए उदाहरण से यह निश्चित है की डरपोक शब्द का प्रयोग करके हमें अक्षय की विशेषताओं के बारे में बताया जा रहा है।

डरपोक होना कई व्यक्तियों में एक गुण होता है एवं जो शब्द हमें ऐसी विशेषताओं या गुण का बोध कराते हैं वे शब्द गुणवाचक विशेषण कहलाते हैं।

गुणवाचक विशेषण के कुछ अन्य उदाहरण

  • यह मीठा अनार है।
  • शाम को आसमान सुनहरा हो जाता है।
  • अक्षय एक डरपोक किस्म का आदमी है।
  • यह वास्तु देखने से मुलायम प्रतीत होती है।
  • आसमान सुबह एकदम नीला होता है।
  • सूर्यास्त के समय गगन नारंगी हो जाता है।
  • रोज़ संतुलित आहार लेने से उसका शरीर स्वस्थ रहता है।
  • स्वास्थ के लिए हरी सब्जियां लाभदायक होती हैं।
  • दूर से  देखने पर यह बहुत सुन्दर प्रतीत हो रहा है।
  • जिराफ़ की गर्दन बहुत लम्बी होती है।

गुणवाचक विशेषण के बारे में यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो उसे आप नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

About the author

विकास सिंह

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

8 Comments

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]